नहीं खुला सोनोग्राफी कक्ष,महिलाओं को जाना पड़ा वापस

vivek gupta

Publish: Jun, 14 2018 12:32:20 PM (IST)

Tikamgarh, Madhya Pradesh, India
नहीं खुला सोनोग्राफी कक्ष,महिलाओं को जाना पड़ा वापस

डॉक्टर ने लिया अवकाश, सीएमएचओ बोली होगी कार्रवाई

टीकमगढ़.जिला अस्पताल में बुधवार को सोनोग्राफी कराने आई महिलाओं को बैंरंग वापस जाना पड़ा। कभी मशीन खराब होने तो कभी डॉक्टर के न मिलने से परेशान महिलाएं सरकार को कोसती नजर आई।

जिला अस्पताल में एक बार फिर सोनाग्राफी को लेकर बबाल मचा हुआ है। संबंधित डॉक्टर को नोटिस दिए जाने के बाद मामले से ध्यान भटकाने के लिए जहां सिविल सर्जन के खिलाफ डॉक्टरों को लामबंद किया गया था।

वहीं अब सोनोलॉजिस्ट डॉ. एस के भदौरा के द्वारा अवकाश पर जाने से व्यवस्थाएं बिगड़ गई है। हालाकिं डॉक्टर के अवकाश को गलत करार देते हुए सीएमएचओ ने कार्रवाई करते हुए अन्य डॉक्टर की व्यवस्था किए जाने की बात कही है।

कई बार लगा चुकी है चक्कर
कायाकल्प के तहत पुरस्कार पा चुके जिला अस्पताल में सुविधाओं की आस लेकर दूर दराज से आने वाले मरीजों को कई बार निराशा हाथ लगती है। जिला अस्पताल में प्रसूताओं सहित अन्य मरीजों को सुविधा देने के लिए सोनोग्राफी मशीन लगाई गई है। लेकिन अस्पताल में यह सुविधा खुश नसीबों को ही हासिल हो पाई है।

प्रत्येक बुधवार को समय निर्धारित करने के बावजूद कभी भीड़ अधिक होने तो कभी अन्य कारणों से विषम परिस्थितयों में महिलाओं को आना पड़ता है। बुधवार को सुकवाहा गांव से आई अर्चना यादव, बेनीबाई अहिरवार,सोनम, रचना अहिरवार ने बताया कि वह पिछले बुधवार को भी सोनोग्राफी के लिए आई थी।

 

लेकिन उस समय भी उनकी सोनोग्राफी नहीं की गई। आर्थिंक तंगी के चलते निजी तौर पर वह यह सुविधा नहीं ले पा रही है। महिलाओं का कहना था कि सुबह 8 बजे अस्पताल आ गई थी।

लेकिन दो घंटे इंतजार करने के बाद मालूम हुआ कि डॉक्टर नहीं आ रहे है। वहीं लखौरा से आई भारती यादव का कहना था कि बेहद जरूरी होने के कारण उन्होंने प्राईवेट तौर पर जांच कराई है। जिसकी राशि लेेने के लिए वह इंतजार कर रही है।
अधिकारी बोले होगी कार्रवाई
जिला अस्पताल में सोनोग्राफी करने वाले डॉक्टर सुनील भदौरा के द्वारा एक माह के अवकाश को लेकर आवेदन दिया गया है। खास बात है कि दो दिन पहले ही डॉक्टरों के द्वारा मेडिकल संगठनों के बैनर तले सिविल सर्जन पर कार्रवाई की मांग को लेकर स्वास्थ्य मंत्री के नाम शिकायत की गई थी।

जिसके पीछे काम न करने वाले कर्मचारियों को अस्पताल प्रबंधन के द्वारा नोटिस देना बताया जा रहा था। लेकिन मामले में स्वास्थ्य विभाग के साथ ही कलेक्टर के द्वारा कोई तवज्जों न दिए जाने से दूसरी तरीके से दबाव बनाना माना जा रहा है।

सिविल सर्जन डॉ.आर एस दंडोतियां का कहना था कि उनके पास डॉक्टर भदौरा के द्वारा अवकाश को लेकर कोई आवेदन नहीं दिया गया है। मामले को लेकर उन्होंने कार्रवाई के लिए सीएमएचओ को पत्र लिखा है। जिसमें सोनोग्राफी के लिए अन्य डॉक्टर की व्यवस्था की मांग भी की गई है।


कहते है अधिकारी
डॉक्टर भदौरा के द्वारा पुत्र के विवाह के लिए अवकाश चाहा गया है। जिसके लिए उनसे संबंधित दस्तावेज मंागे गए है। अचानक अवकाश पर जाने को लेकर कार्रवाई के लिए कलेक्टर को प्रतिवेदन भेजा जा रहा है। सोनोग्राफी के लिए निजी स्तर पर डॉक्टरों से बात की जा रही है।
डॉ.वर्षा राय सीएमएचओ टीकमगढ़

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned