बेकाबू हुई सीइओ की जवान, दे डाली रोजगार सहायक को गालियां, देखे वीडियो

Anil Kumar Rawat

Updated: 19 Sep 2019, 08:58:43 PM (IST)

Tikamgarh, Tikamgarh, Madhya Pradesh, India

टीकमगढ़. अधिकारियों का अपने मातहत कर्मचारियों के साथ अभद्रता करना कोई नई बात नहीं हैं। ताजा मामला जतारा जनपद सीइओ का सामने आया हैं। सीइओ द्वारा जनपद की मस्तापुर पंचायत के रोजगार सहायक को सार्वजनिक रूप से न केवल डांट-फटकार लगाई गई हैं, बल्कि गालियां देकर उससे बेज्जित भी किया गया हैं। सार्वजनिक रूप से हुई इस बेज्जिती से डिप्रेशन में आया रोजगार सहायक जिला अस्पताल में अपना उपचार करा रहा हैं। सीइओ द्वारा दी जा रही गालियों का एक वीडियो भी वायरल हुआ हैं।


जिला अस्पताल में भर्ती जतारा जनपद की ग्राम पंचायत मस्तापुर के रोजगार सहायक राकेश कुमार लोधी ने बताया कि 12 सितम्बर को मोहनगढ़ सेक्टर में जनपद सीइओ शैलेन्द्र सिंह ने मीटिंग ली थी। इस मीटिंग में उनके द्वारा सबसे पहले मुझे बुलाया गया और गाली-गलौज करके डांट-फटकार लगाई गई। राकेश कुमार लोधी का कहना हैं कि उसके पास प्रधानमंत्री आवास की चार पंजियां थी, जो पूर्ण थी। इसके बाद भी उनके द्वारा मेरी सार्वजनिक रूप से बेज्जिती कर मेरे खिलाफ एफआइआर कराने एवं नौकरी से हटाने देने की धमकियां दी गई।

 

इसलिए हैं नाराज: रोजगार सहायक का आरोप हैं कि सीइओ उससे जनपद में पदस्थ पीसीओ ओमप्रकाश दांगी के कारण नाराज हैं। राकेश ने बताया कि जनवरी में कर्ज माफी के समय उसकी माता-पिता के नाम कर्ज माफी की सूची में आया था। उस समय पीसीओ दांगी ही कर्ज माफी का काम देख रहे थे। इसके लिए पीसीओ ने उससे 10 हजार रुपए की मांग की थी। लेकिन रुपए न होने की बात कह, उससे 500 रुपए दिए थे, तथा शेष रुपए कर्जमाफी के बाद देने की बात कही थी। राकेश का कहना हैं कि इसके बाद पीसीओ दांगी को रुपए न देने के कारण वह लगातार नाराज चल रहे थे। इसी नाराजगी के चलते उनके द्वारा ग्राम मस्तापुर की प्रधानमंत्री आवास की 70 हितग्राहियों की सूची में से मात्र 7 को पात्र बता करा दिया था। शेष हितग्राहियों को पात्र करने के लिए 3 हजार रुपए प्रति हितग्राही के हिसाब से मांगे जा रहे थे। रोजगार सहायक लोधी का कहना हैं कि पीसीओ की मिलीभगत के कारण ही सीइओ शैलेन्द्र सिंह उससे नाराज हैं।


दो से है भर्ती: सीइओ द्वारा सार्वजनिक रूप से की गई गाली-गलौज के कारण परेशान रोजगार सहायक दो दिनों से जिला अस्पताल में भर्ती हैं। उसका कहना हैं कि अधिकारी यदि इस प्रकार से सार्वजनिक रूप से गाली-गलौज कर सकते हैं, तो वह किसी भी मामले में उसे झूठा फंसा कर उसकी नौकरी को खतरे में डाल सकते हैं। इसी दबाव के कारण वह परेशान बना हुआ हैं। यह मामला सामने आने के बाद जनपद जतारा के सीइओ ऐसी किसी भी प्रकार की घटना होने से इंकार कर रहे हैं। वहीं इस मामले में रोजगार सहायक ने कलेक्टर को आवेदन देकर शिकायत की हैं।

 

वीडियो वायरल: जतारा जनपद सीइओ द्वारा की गई अभद्रता का वीडियो भी वायरल हुआ हैं। इसमें वह रोजगार सहायक के प्रति अपशब्दों का प्रयोग करते हुए साफ दिखाई दे रहे हैं। वहीं इसमें सीइओ के पास ही टेबिल पर पीसीओ ओमप्रकाश दांगी भी बैठे हुए हैं। वह भी रोजगार सहायक को डांटते दिखाई दे रहे हैं। इस मामले में कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन से बात नहीं हो सकी हैं।


कहते हैं अधिकारी: नहीं ऐसी कोई बात नहीं हैं। योजनाओं की प्रगति के लिए ऐसी बैठकें होती रहती हैं। सभी परिवार की तरह हैं। गाली-गजौज जैसी कोई बात नहीं हैं।- शैलेन्द्र सिंह, सीइओ, जनपद पंचायत, जतारा।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned