scriptEven after complaints, the officials of PHE are not coming to repair | ग्राम पंचायतों की लापरवाही से पेयजल संकट, ग्रामीणों की बड़ी समस्या | Patrika News

ग्राम पंचायतों की लापरवाही से पेयजल संकट, ग्रामीणों की बड़ी समस्या

जिले में प्रशासन द्वारा विभिन्न प्रकार से पेयजल व्यवस्थाएं की गई है। उसके बाबजूद भी पेजयल संकट गहराने लगा है। दर्जनों गांवों में हैंडपंप खराब और मुख्यमंत्री योजनाएं बंद पड़ी हुई है।

टीकमगढ़

Published: April 26, 2022 09:04:43 pm


टीकमगढ़. जिले में प्रशासन द्वारा विभिन्न प्रकार से पेयजल व्यवस्थाएं की गई है। उसके बाबजूद भी पेजयल संकट गहराने लगा है। दर्जनों गांवों में हैंडपंप खराब और मुख्यमंत्री योजनाएं बंद पड़ी हुई है। इसमें ग्राम पंचायतों की लापरवाही बताई जा रही है। पेयजल व्यवस्थाएं सुचारु रुप से संचालित कराने के लिए प्रशासन द्वारा कंट्रोल रुम भी बनाए गए। सीएम हेल्पलाइन पर शिकायतें की गई। लेकिन मामले में कोई शिकायतें नहीं की गई है। जिसके कारण ग्रामीणों को पेयजल संकटों का सामना करना पड़ रहा है।
टीकमगढ़ जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत बौरी में मुख्यमंत्री नलजल योजना से पानी की टंकियों को चालू किया गया था। लेकिन ग्राम पंचायत के जिम्मेदारों की निष्क्रीयता के कारण आज बंद पड़ी है। गांव में पेयजल की सरकार व्यवस्थाएं ग्राम पंचायत ने ध्वस्त कर दी है। जिसके कारण ग्रामीणों ने अपने कुओं से पाइप लाइनों को डालकर पेयजल की पूर्ति कर रहे है। इसके साथ ही खरो, बनयानी, इमलाना, दरी, मस्तापुर और कौडियां ग्राम पंचायत में भी योजनाएं बंंद पड़ी है। जिसके कारण वहां के लोगों को कुंओं का सहारा लेना पड़ रहा है।
१8१ पर भी पेयजल के लिए की शिकायतें
जतारा जपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम पंचायत बम्हौरी खास में पेयजल संकट गहरा गया है। हैंडपंप खराब होने के कारण लोगों को पेयजल संकट से गुजरना पड़ रहा है। सुग्रीम अहिरवार, संतोष अहिरवार, नारायण दास, अनीता, जामबत्ती, विद्या ने बताया कि एएफ डी मोहल्ला में 1 माह से हैंडपंप खराब पड़ा। पहले पीएचई के क्षेत्रीय अधिकारी से शिकायत की गई थी। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। उसके बाद सीएम हेल्पलाइन 181 पर शिकायत की गई। उसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। फिर कंट्रोल रुम में फोन किया गया। उसके बाद भी कार्रवाई नहीं की गई है। जिसके कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
एक साल से चालू नहीं हो पाई पेयजल की योजना
मस्तापुर गांव के दिग्यविजय सिंह लोधी, विशाल अहिरवार, जितेंद्र कलार, आकाश वंशकार, राममिलन सेन, विजय लोधी, हाकम लोधी ,बालाराम कुम्हार, चिमन केवट, सतेन्द्र जैन, महेंद्र लोधी ने बताया कि ग्राम पंचायत में हजारों की जनसंख्या है। जहां पर कुछ ही हैंडपंप सही है और खराब पड़े है। पेयजल पूर्ति के लिए एक साल से योजना कार्य कर रही है। लेकिन सफलता नहीं पा पाई है। जिसके कारण गांव के लोगों को रात ४ बजे से पेयजल के लिए हैंडपंपों और कुंओं पर आना पड़ रहा है।

 Even after complaints, the officials of PHE are not coming to repair the hand pump, the control has become a showpiece
Even after complaints, the officials of PHE are not coming to repair the hand pump, the control has become a showpiece

गुखरई और मलगुवां के हाल बेहाल
बल्देवगढ़ क्षेत्र के गुखरई, इमलाना, गुखरई, बनयानी, गौरा के साथ सिजौरा गांव में पेयजल समस्या उत्पन्न हो गई है। सिजौरा में मुख्यमंत्री योजना के तहत पानी की टंकी और घर-घर नल कनेक्शन दिए गए थे। लेकिन आधे गांव से कम लोगों को ही पेयजल उपलब्ध हो पा रहा है। सिजौरा निवासी धूराम लोधी और मनोज अहिरवार का कहना था कि एक साल से पेयजल व्यवस्था खस्ताहाल पड़ी है। शिकायतें भी की गई, लेकिन सुधार के नाम पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।
इन गांवो में ग्राम पंचायत की लापरवाही से बंद पड़ी योजनाएं
जिले की ग्राम पंचायत बौरी, दरी, राधेपुर, अजनौर, समर्रा, कुडीला, पथरगुवां, मनपसार, सिजौरा, कडराई, लखेरी, खरों, राजनगर, बनयानी, गुना, गौरा के साथ कई ग्राम पंचायतों की मुख्यमंत्री नलजल योजनाएं बंद पड़ी है। वह चालू थी, लेकिन ग्राम पंचायत की लापरवाही से बंद हो गई है। उन्हें चालू कराने के लिए क्षेत्रीय अधिकारियों से लेकर कलेक्टर और सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत कर चुके है। लेकिन मामले को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।
इनका कहना
अभी में फील्ड पर हूं। पीएचई की योजनाओं को ग्राम पंचायतों को सौंप दिया है। उनकी देखरेख में पेयजल व्यवस्थाएं संचालित की जा रही है। जहां की व्यवस्थाएं खराब है, ग्राम पंचायत जानकारी दे। उसके बाद व्यवस्थाओं का सुधार किया जाएगा। जिन जिन योजनाओं में सरपंचों और सचिवों की लापरवाही हो रही उनकी सूची तैयार करके कार्रवाई के लिए कलेक्टर को सौंपी जाएगी।
एसपी सिंह प्रभारी ईई पीएचई टीकमगढ़ निवाड़ी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: अयोग्यता नोटिस के खिलाफ शिंदे गुट पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, सोमवार को होगी सुनवाईMaharashtra Political Crisis: एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने पर दिया बड़ा बयान, कहीं यह बातBypoll Result 2022: उपचुनाव में मिली जीत पर सामने आई PM मोदी की प्रतिक्रिया, आजमगढ़ व रामपुर की जीत को बताया ऐतिहासिकRanji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबKarnataka: नाले में वाहन गिरने से 9 मजदूरों की दर्दनाक मौत, सीएम ने की 5 लाख मुआवजे की घोषणाअगरतला उपचुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेताओं पर हमला, राहुल गांधी बोले- BJP के गुड़ों को न्याय के कठघरे में खड़ा करना चाहिए'होता है, चलता है, ऐसे ही चलेगा' की मानसिकता से निकलकर 'करना है, करना ही है और समय पर करना है' का संकल्प रखता है भारतः PM मोदीSangrur By Election Result 2022: मजह 3 महीने में ही ढह गया भगवंत मान का किला, किन वजहों से मिली हार?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.