मशीनों से हो रहा काम, शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं

कोरोना संक्रमणकाल में महानगरों से लौटे मजदूरों को काम दिलाने के लिए जहां प्रशासन तमाम प्रयास कर रहा है और मनरेगा में काम खोले जा रहे है

By: anil rawat

Updated: 02 Jul 2020, 11:31 AM IST

टीकमगढ़. कोरोना संक्रमणकाल में महानगरों से लौटे मजदूरों को काम दिलाने के लिए जहां प्रशासन तमाम प्रयास कर रहा है और मनरेगा में काम खोले जा रहे है, वहीं पंचायत में पदस्थ अमले की लापरवाही के चलते मजदूरों की जगह मशीनों से काम कराया जा रहा है। विदित हो कि तमाम शिकायतों के बाद भी ऐसे मामलों में कार्रवाई न होने से पंचायत के अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर भी प्रश्र खड़े हो रहे है।


विदित हो कि पिछले एक पखवाड़े में बल्देवगढ़ ब्लॉक में मनरेगा में मशीनों से काम होने के दो मामले में सामने आए है। एक मामला ग्राम पंचायत गुना का सामने आया था। 21 जून को ग्रामीणों द्वारा की गई शिकायत के बाद खरगापुर थाना पुलिस ने मौके पर पहुंच कर एक मशीन को यहां से जब्त किया था। जेसीबी मशीन द्वारा यहां पर तालाब का निर्माण किया जा रहा था। वहीं दूसरा मामला ग्राम पंचायत इमलाना का सामने आया था। इमलाना के सरपंच ने खुद जनपद सीइओ को आवेदन देकर मशीनों से तालाब का निर्माण कराने की शिकायत की थी। लेकिन इन दोनों मामलों में कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

 

छोड़ दी मशीन
पुलिस द्वारा जब्त की गई मशीन को 21 जून को ही छोड़ दिया गया था। पुलिस ने इस मशीन को जब्त कर पंचायत विभाग को मामले की जांच करने को कहा था, लेकिन पंचायत विभाग द्वारा ग्राम गुना में यह काम वाटरशेड का बताकर मशीन को छोडऩे के निर्देश दिए थे। जबकि सूत्रों की माने तो वर्तमान में यहां पर वाटरशेड का कोई काम नहीं चल रहा है। बताया जा रहा है कि इस पंचायत में किसी बड़े नेता द्वारा काम कराया जा रहा है। ऐसे में अधिकारी यहां पर कार्रवाई करने से बच रहे है।


शून्य किए मस्टर
वहीं इमलाना पंचायत में मशीनों से खोदे जा रहे खेत तालाब की शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं हुई है। इमलाना के सरपंच लक्ष्मण लोधी का कहना है कि यहां पर खेत तालाब योजना में जेसीबी मशीन से काम किया जा रहा था। जबकि उसी दिन मस्टर में मजदूर दिखाए जा रहे थे। सरपंच का कहना है कि इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई है। एपीओ साहब का कहना है कि उस दिन की मजदूरी के मस्टर शून्य कर दिए गए है। इस संबंध में बल्देवगढ़ जनपद सीइओ पीके मिश्रा से बात करनी चाही तो उन्होंने फोन नहीं उठाया।

anil rawat Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned