प्रायवेट नर्सिंग होम में ऑपरेशन कर रही थी सरकारी डॉक्टर, प्रशासन फिर कड़ा रूख अपनाने के मूड में

प्रायवेट नर्सिंग होम में ऑपरेशन कर रही थी सरकारी डॉक्टर, प्रशासन फिर कड़ा रूख अपनाने के मूड में

Anil Kumar Rawat | Publish: Sep, 09 2018 12:34:25 PM (IST) Tikamgarh, Madhya Pradesh, India

प्रशासन के लाख प्रयास के बाद भी जिला अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर प्रायवेट नर्सिंग होम में जाकर काम करने से बाज नही आ रहे है

टीकमगढ़. प्रशासन के लाख प्रयास के बाद भी जिला अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर प्रायवेट नर्सिंग होम में जाकर काम करने से बाज नही आ रहे है। बीती रात भी स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एक प्रायवेट नर्सिंग होम में छापामारी कर यहां पर ऑपरेशन कर रही एक महिला चिकित्सक को पकड़ा है। स्वास्थ्य विभाग ने महिला चिकित्सक के साथ ही नर्सिंग होम को भी नोटिस जारी करने की बात कहीं है।
बीती रात कलेक्टर को सूचना मिली थी कि सिविल लाईन स्थित न्यू सेवा नर्सिंग होम में जिला चिकित्सालय में पदस्थ महिला चिकित्सक डॉ लता लक्ष्मी द्वारा अपनी सेवाएं दी जा रही है। सूचना मिलने पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ वर्षा राय एवं सिविल सर्जन डॉ सीबी आर्या ने अपनी टीम के साथ न्यू सेवा नर्सिंग होम पर छापामारी की। नर्सिंग होम पर छापामारी होते हुए यहां के स्टॉफ में हड़बड़ी मच गई। इससे पहले की कोई कुछ समझ पाता, टीम सीधे ऑपरेशन थियेटर में जा पहुंची।

कर रही थी ऑपरेशन: सीएमएचओ डॉ वर्षा राय ने बताया कि रात्रि 9.30 बजे के लगभग हुई इस कार्रवाई में जिला अस्पताल में पदस्थ डॉ लता लक्ष्मी आपरेशन करते पाई गई थी। टीम ने उनकी मौके की फोटो लेने के साथ ही अन्य कार्रवाई की और वापस आ गई। टीम के अन्य सदस्य देर रात तक नर्सिंग होम संचालकों एवं कर्मचारियों के बयान लेते रहे। वहीं इस कार्रवाई के बाद पहुंची मीडिया को यहां पर मौजूद अधिकारी कुछ भी कहने से बचते रहे।
जारी किया जाएगा नोटिस: इस कार्रवाई के बाद सीएमएचओ डॉ राय का कहना है कि प्रायवेट नर्सिंग होम में ऑपरेशन कर रही डॉ लता लक्ष्मी को नोटिस जारी किया जाएगा। इसके साथ ही नर्सिंग होम संचालक को भी नोटिस जारी किया जाएगा। उनका कहना था कि नोटिस के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।
कलेक्टर ने जारी किए थे निर्देश: विदित हो कि जिला चिकित्सालय में पदस्थ अनेक डॉक्टरों द्वारा नगर के कई प्रायवेट नर्सिंग होम में अपनी सेवाएं दी जाती है। इसका प्रभाव जिला चिकित्सालय की व्यवस्थाओं पर पड़ता है। इसे देखते हुए कलेक्टर ने स्पष्ट निर्देश दिए थे कि कोई भी डॉक्टर प्रायवेट नर्सिंग होम में सेवाएं नही देगा। इसके साथ ही कलेक्टर ने यह भी निर्देश जारी किए थे, कि जो भी इस प्रकार की सूचना देगा और सूचना सही पाए जाने पर उसे ईनाम दिया जाएगा। लेकिन इसके बाद भी डॉक्टर प्रायवेट नर्सिंग होम में सेवाएं देने से बाज नही आ रहे है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned