परमिट के बाद भी छोड़ी 11 हजार केवी लाइन, एक निजी कर्मचारी की मौत

थाना क्षेत्र के बैरवार गांव में 11 हजार केवी लाइन का सुधार किया जा रहा था। उसी दौरान बगैर सूचना पर सब स्टेशन से बिजली चालू कर दी।

By: akhilesh lodhi

Published: 15 Apr 2021, 09:36 PM IST

टीकमगढ़/जतारा.थाना क्षेत्र के बैरवार गांव में 11 हजार केवी लाइन का सुधार किया जा रहा था। उसी दौरान बगैर सूचना पर सब स्टेशन से बिजली चालू कर दी। जंहा 36 वर्षीय दिलीप जोशी बिजली कर्मचारी बुरी तरह झुलस गया। घटना के बाद घायल को स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। प्राथमिक उपचार के बाद पीडि़त को मेडिकल कॉलेज रिफर कर दिया । जंहा उपचार के दौरान पीडि़त की मौत हो गई।
बिजली कंपनी जतारा डिवीजन में निजी तौर पर कार्य करने वाले बिजली कर्मचारी दिलीप पुत्र अच्छेलाल जोशी 36 वर्ष ग्राम बैरवार में 11हजार केवी की लाइन पर काम कर रहा था । वह प्राइवेट कर्मचारी के तौर पर काम करता था। वह लाइन सुधार का परमिट भी लिए था। लेकिन स्टेशन के कर्मचारी ने लाइन को चालू कर दिया। जिससे कर्मचारी को करंट लग गया और वह बुरी तरह झुलस गया। लोगों की मद्द से तत्काल जतारा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लाया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने जिला अस्पताल के लिए रिफर कर दिया। लेकिन हालत गंभीर होने पर कर्मचारी को जिला स्वास्थ्य केंद्र से मेडिकल कॉलेज के लिए रिफर किया गया। जिसकी मेडिकल कॉलेज में उपचार के दौरान मौत हो गई।

विद्युत मंडल के निजी कर्मचारी दिलीप जोशी के परिजनों ने विभागीय कर्मचारियों पर लापरवाही करने का आरोप लगाया है और उनका कहना है कि जब परमिट लेकर बिजली का कार्य किया जा रहा था तो अचानक कैसे बिजली चालू कर दी गई है। इसकी जांच होना चाहिए और लापरवाही करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ अपराधिक मामला भी दर्ज होना चाहिए। ऐसी ही घटना क्षेत्र में एक बार नहीं कई घटनाए हो चुकी है ।
इनका कहना
एमपीईबी के दिलीप जोशी द्वारा मुहारा लाइन का परमिट लिया गया था। वहां बिजली कार्य किया जा रहा था। लेकिन जो घटना घटित हुई है, वह सगरवारा लाइन से हवाई करंट आने के कारण घटित हुई है।
नितिन बाथम सहायक बिजली कम्पनी जतारा।

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned