मंदिर से  अष्टधातु की मूर्तियों सहित सामान चोरी

थाना मोहनगढ़ अंतर्गत ग्राम खाकरोन में दरम्यानी रात्रि एक प्राचीन मंदिर में अज्ञात चोरों ने धावा बोलकर अष्टधातु की तीन मूर्तियां, सामान एवं नगदी चोरी कर ली।

By: Widush Mishra

Published: 13 Aug 2016, 08:24 PM IST



टीकमगढ़। थाना मोहनगढ़ अंतर्गत ग्राम खाकरोन में दरम्यानी रात्रि एक प्राचीन मंदिर में अज्ञात चोरों ने धावा बोलकर अष्टधातु की तीन मूर्तियां, सामान एवं नगदी चोरी कर ली। घटना के दौरान मंदिर केपुजारी अपने कक्ष में सो रहा था। रात्रि 3 बजे के लगभग पुजारी जब सोकर उठा तो उसे घटना की जानकारी लगी। मामले की जानकारी लगते ही एसडीओपी जतारा सहित मोहनगढ़ थाना पुलिस की टीम ने घटनास्थल का जायजा लिया। 

्रग्राम खाकरोन में भगवान रामराजा सरकार का एक प्राचीन मंदिर है। यहां भगवान राम, लक्ष्मण, सीता जी की प्रतिमा धातू की चौकी में विराजमान हैं। इस मंदिर में 13 वर्ष से लालाराम शर्मा पुजारी के तौर पर मंदिर की पूजा अर्चना कर रहे हैं। शुक्रवार की रात्रि पुजारी लालाराम शर्मा मंदिर में अपनेकक्ष में सो गए। रात्रि 3 बजे के लगभग पुजारी की नींद खुली तो वह उठकर बाहर इस दौरान उन्हें मंदिर की कुंडी टूटी मिली। 

उन्हें शक हुआ तो उन्होंने मंदिर के अंदर जाकर देखा तो वहां चौकी सहित भगवान राम, लक्ष्मण एवं सीताजी की मूर्तियां गायब थी। पास में ही रखे पूजा के सामान में पुजारी द्वारा रखे गए 8 00 रूपए भी अज्ञात चोर चोरी कर ले गए। चोर केवल भगवान के मुकुट छोड़ गए। मंदिर में हुई इस चोरी की जानकारी पुजारी ने स्थानीय लोगों को दी। सुबह इस मामले की जानकारी थाना मोहनगढ़ पुलिस को दी गई। 

जानकारी लगते ही मोहनगढ़ थाना प्रभारी एमआर वगेन पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। दोपहर में एसडीओपी पृथ्वीपुर राकेश पेड्रो एवं टीकमगढ़ से पहुंची एफएसएल टीम ने घटनास्थल का जायजा लिया। उधर मंदिर के पुजारी ने बताया कि बीते 20 दिवस पूर्व मंदिर से देवी जी की पीतल की मूर्ति भी चोरी हो गई थी। परंतु इस मामले की पुलिस में सूचना दर्ज नहीं कराई गई थी। चोरी गए सामान की कुल कीमत 90 हजार के आसपास बताई गई है। थाना प्रभारी मोहनगढ़ एमआर वगेन ने बताया कि घटना में चोरी का प्रकरण दर्ज कर अज्ञात चोरों की तलाश की जा रही है। 
Widush Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned