मासूम बच्ची का शव मिला खेत में, पिता एवं उसके दोस्त को पुलिस ने लिया हिरासत में

मौत को लेकर लगाए गए तमाम कयास

By: vivek gupta

Published: 24 Jul 2018, 03:11 PM IST

टीकमगढ़ .चंदेरा थाना क्षेत्र के जेवर चौकी अंतर्गत सिंधपुर एवं उपरारा के बीच सोमवार सुबह एक साढ़े तीन वर्षीय बालिका का शव मिला। बालिका के शव मिलने से लेकर उसके शव की शिनाख्ती के बाद उसकी मौत को लेकर तमाम कयास लगाए गए। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल की जांच की। बालिका अपने पिता एवं पिता के मित्र के साथ रानीपुर के बाजार में जाने के लिए रविवार की शाम 5 बजे घर से निकली थी। रविवार तड़के बालिका का पिता शराब के नशे में धुत घर पहुंच गया परंतु उसके साथ बच्ची नहीं थी। बच्ची के उसके साथ में न होने को लेकर बच्ची का पिता एवं उसका मित्र तमाम बहाने बनाते रहे और सुबह 8.30 बजे के लगभग बच्ची का शव चंदेरा से 15 किमी दूर एक खेत में मिला। पुलिस के अनुसार प्रथम दृष्टया यह एक्सीडेंट का मामला है। शराब के नशे में यह दुर्घटना हुई है।

क्या है मामला: पूरी कहानी पर नजर डालें तो हरकनपुरा गांव निवासी धर्मेन्द्र अहिरवार अपने दोस्त एवं पड़ोसी दीपचंद अहिरवार के साथ रानीपुर के बाजार में सामान खरीदने के लिए निकल रहे थे। धर्मेन्द्र की पत्नि किरण अहिरवार के अनुसार उस समय दीपचंद शराब के नशे में था। धर्मेन्द्र जाने के लिए अपनी बाइक निकालने लगा तो किरण ने उसे रोका परंतु धर्मेन्द्र नहीं माना। इस दौरान दीपचंद ने धर्मेन्द्र की पुत्री परी को साथ ले जाने की बात कही। उसने कहा कि बच्ची को भी साथ ले लो उसे कुछ खिला देंगे और कुछ दिला देंगे। महिला किरण के अनुसार इन लोगों ने रानीपुर में भी शराब पी और रात तक वापस नहीं आए। परेशान किरण ने पड़ोस सहित सभी जगह जानकारी की परंतु कुछ पता नहीं चला।

 

सुबह वापस आए पिता और दोस्त: धर्मेन्द्र की पत्नि किरण के अनुसार रविवार सुबह 5 बजे धर्मेन्द्र घर वापस आया तो किरण ने बच्ची के संबंध में पूछा। तो धर्मेन्द्र ने कहा कि वह दीपचंद्र के घर है। किरण ने दीपचंद के घर जाकर पूछा तो उसने कहा कि झांसी जिले के देवरीसिंहपुरा गांव में छोड़ आए हैं क्योंकि बारिश हो रही थी। अभी सुबह जाकर ले आएंगे।सुबह 8.30 बजे मिली मौत की सूचना: उधर सुबह 8.30 बजे के लगभग हरकनपुरा गांव से आधा किमी दूर हनुमान मंदिर के पास एक खेत में बच्ची का शव मिला। जब लोगों से परिजनों को जानकारी लगी तो परिजन वहां पहुंचे और परी के रूप में उसकी शिनाख्त हुई।

जानकारी लगते ही एसडीओपी एससी बोहित, थाना प्रभारी चंदेरा नरेन्द्र सिंह एवं जेवर चौकी प्रभारी भरत लाल तिवारी सहित पुलिस बल मौके पर पहुंचा और घटनास्थल की जांच। दोपहर में बालिका के शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए शव को टीकमगढ़ जिला अस्पताल भेजा गया। जहां डॉ. कमलेश गुप्ता, डॉ. यशस्वी खरे एवं डॉ. परवीन खान की पैनल द्वारा शव का पोस्टमार्टम किया गया।

 

मौत के कारणों पर लगे कयास: पिता के साथ शाम को अपने घर से निकली मासूम परी की इस तरह मौत और एकांत में शव मिलने की घटना के बाद दुष्कर्म, हत्या सहित अन्य कयास लगाए जाते रहे।

पुलिस भी मामले की जांच में संजीदा नजर आई और पिता धर्मेन्द्र अहिरवार एवं उसके दोस्त दीपचंद को हिरासत में लेकर उनका मेडीकल आदि कराया गया। प्रथम दृष्टया पुलिस इस मामले को सड़क दुर्घटना मानकर चल रही है। जो अत्यधिक शराब पीने के कारण हुई है।
क्या कहते हैं अधिकारी: प्रथम दृष्टया यह मामला दुर्घटना है।

तीन डॉक्टरों की पैनल ने बालिका के शव का पोस्टमार्टम किया है। शार्ट पीएम रिपोर्ट में लैंगिक हमले के कोई निशान नहीं पाए गए हैं। पिता एवं उसके दोस्त ने तीन बार शराब पी थी।

शराब के नशे में ही यह दुर्घटना हुई है। जिससे बच्ची की मौत हुई है। फिलहाल पूछताछ के लिए बालिका के पिता एवं उसके दोस्त को हिरासत में रखा गया है उनका मेडीकल भी कराया गया है। जल्द ही मामले में कायमी की जाएगी।- एसके जैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, टीकमगढ़

vivek gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned