जांच करने गए अधिकारियों को नही दिखी स्कूल में अव्यवस्थाएं

जांच करने गए अधिकारियों को नही दिखी स्कूल में अव्यवस्थाएं

Anil Kumar Rawat | Publish: May, 18 2018 11:16:22 AM (IST) Tikamgarh, Madhya Pradesh, India

शाला में भूसा भरे होने की शिकायत की थी

टीकमगढ़. संकुल के ग्राम डूंडा टौरा में महिनों ने बंद पड़ी प्राथमिक शाला और उसमें भरे भूसे की शिकायत के बाद जांच को आए अधिकारियों को यहां पर कोई अव्यवस्थाए नजर नही आई। जांच अधिकारी और प्राथमिक शाला के प्रधानाध्यापक की गुडविल के चलते जंाच में की गई लापरवाही से ग्रामीण नाराज बने हुए है। उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों से इस मामले की फिर से जांच कराने की मांग की है।
विदित हो कि ग्राम डूंडाटौरा की प्राथमिक शाला महिनों से बंद पड़ी हुई है। शासन के निर्देश के बाद भी गर्मियों में यह शाला नही खुल रही है और बच्चों को मध्यान्ह भोजन भी नही दिया जा रहा है। आलम यह है कि शाला में लोगों ने भूसा भर दिया है। इसकी शिकायत ग्रामीणों द्वारा अधिकारियों से की गई थी। इस पर बीआरसी मनोज व्यास ने इसकी जंाच के आदेश दिए थे।
बीएसी की जांच पर सवाल: बीएसी शालिगराम अहिरवार को जांच मिलने के बाद गुरूवार को वह शाला पहुंचे। लोगों का कहना है कि इसकी संस्था प्रमुख भगवानदास अहिरवार से गुडविल होने के कारण जांच को रफादफा कर दिया गया है। उन्होंने जांच प्रतिवेदन में शाला में प्रतिदिन मध्यान्ह भोजन वितरण होने एवं प्रतिदिन शाला खुलने की बात कहीं है। इसके साथ ही उनके द्वारा कुछ अपने लोगों से पंचनामा पर हस्ताक्षर करा लिए गए है। इसके साथ ही उकने द्वारा अपने प्रतिवेदन में शाला में भूसा भरा होने की कोई बात नही कहीं गई है। इससे लोगों ने जांच पर सवाल उठाते हुए वरिष्ठ अधिकारियों से इस मामले की जांच कराने की मांग की है।

छीना जा रहा गरीबों का निवाला: इस मामले में ग्रामीणों का कहना है कि कुछ लोगों की मिलीभगत से गरीब बच्चों का निवाला छीना जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि इस चिलचिलाती दोपहरी में वही बच्चें मध्यान्ह भोजन को आते है, जिनके घरों पर कोई व्यवस्था नही होती है। यदि प्रतिदिन शाला खोली जाए तो बमुश्किल 25 से 30 बच्चें ही मध्यान्ह भोजन को आएंगे। लेकिन यह लोग इन गरीबों को भी दो रोटी देना नही चाहते है।
कहते है अधिकारी: मैं जब निरीक्षण करने पहुंचा तो 10 बच्चें उपस्थित थे। संस्था में शिक्षक भी थे। कुछ लोगों ने मध्यान्ह भोजन कभी-कभी बंटने की शिकायत की है। विद्यालय में भूसा भरे होने की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी जाएगी।- शालिगराम अहिवार, बीएसी, टीकमगढ़।
शाला में मध्यान्ह भोजन वितरण न होने की शिकायत पर बीएसी को जांच करने के आदेश दिए गए है। सभी से 1 से 15 मई तक की जांच करने को कहा है। अभी प्रतिवेदन मेरे पास नही आया है। यदि जांच सही तरीके से नही की गई है, तो दोबारा जांच कराई जाएगी। मध्यान्ह भोजन में कोई लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी।- मनोज व्यास, बीआरसी, टीकमगढ़।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned