शॉर्ट सर्किट से लग रही भूसा और जगलों में आग

अंचल में खेत खलिहान में भूसा, जंगल सहित अन्य जगह पर आग का तांडव देखा जा रहा है। बुधवार की दोपहर आसपास के क्षेत्रों में आग की घटनाएं सामने आई है।

By: akhilesh lodhi

Published: 04 Apr 2019, 08:00 AM IST

टीकमगढ़/बल्देवगढ़.्ग्रामीण अंचल में खेत खलिहान में भूसा, जंगल सहित अन्य जगह पर आग का तांडव देखा जा रहा है। बुधवार की दोपहर आसपास के क्षेत्रों में आग की घटनाएं सामने आई है। कही भूसें में तो कही पर जंगल में आग देखी गई। क्षेत्र में आग की घटनाओं ने किसानों को परेशानियों में डाल दिया है। आग की घटनाओं की सूचना मिलते ही फायर बिग्रेड सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचते ही आग की घटनाओं पर काबू पाया गया।
गर्मी का मौसम शुुरू होने के साथ ही जिलेभर में आगजनी की घटनाएं बढ़ गई है। पिछले 10 दिनों में आगजनी की एक दर्जन से अधिक घटनाएं सामने आ चुकी है। अधिकांश मामलों में देखा गया कि खेत खलिहान एवं जगलों में लगी आग जब तक आग बुझ पाती है। जब तक अधिकांश सामग्री जलकर नष्ट हो चुकी होती है। लेकिन इसका दोषी अधिकांश जगह विद्युत विभाग को ठहराया जा रहा है। बुधवार की दोपहर मलगुंवा रोड मौने का खेरा के पास तांतू अहिरवार के खेत में रखे भूसा में बिजली के फ ाल्ट से निकली चिंगारी से आग लग गई। ग्रामीण कुछ हदतक समझ पाते जबतक पूरा भूसा जलकर राख हो गया। गनीमत यह रही कि समय रहते आग पर काबू पाया गया, नहीं तो पास के खेतो में खड़ी फ सलों को नुकसान हो सकता था। वहीं छारकी, देवीनगर के पास के जंगल में अचानक आग भड़क उठी।

आग इतनी भयाभय होकर फैलती गई जो करीब 100मीटर के ऐरिया में लगे पेड़ों एवं झाडियंा जल गई। हालांकि बड़े पेड़ों को कम नुकसान बताया जा रहा है। सूचना मिलते ही मौके पर खरगापुर और बल्देवगढ़ की फ ायर बिग्रेड पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। हालांकि वन विभाग के जंगल में आग लगी रही। दमकल वाहनों ने आग पर काबू पा लिया और वन विभाग के जिम्मेदार अंजान बने हुए है। आग के मामलें मे रेंजर सुचिता मिशराम से बात की तो वह मामले से अनभिज्ञ नजर आई और कहा अगर जंगल में आग जली तो दिखवाते है।

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned