नवयुगल ने पौधा देकर उसके रोपण का वचन लिया,दिया संदेश

नवयुगल ने पौधा देकर उसके रोपण का वचन लिया,दिया संदेश

By: vivek gupta

Published: 25 Apr 2018, 02:12 PM IST

टीकमगढ़.किसी के विवाह में बाराती बनकर जाने पर एक ओर जहां मस्ती का आलम होता है,तो रिवाज के अनुसार बाराती को कुछ उपहार भी दिया जाता है,लेकिन जब यह उपहार पौध् के रूप में दिया जाए तो निश्चित ही एकबारगी बाराती चौंक सकता है। ऐसा ही कुछ जिले के पृथ्वीपुर में दुबे परिवार ने अपने यहां हुए विवाह समारोह में किया।

 

जहां विवाह में आने वालों को रूपयों की जगह पौधा देकर उसके रोपण का वचन लिया। जिले के साथ ही पूरा बुंदेलखंड एक बार फिर सूखे के दौर से गुजर रहा है। इस दौर में लोगों को पर्यावरण को लेकर जागरूक करने और अपनी शादी को पर्यावरण के नाम करने की मंशा से सह अनूठा काम किया गया।जिले सहित पूरे अंचल में पेयजल का संकट और तापमान में दिन में हो रही लगातार बढोत्तरी से जनता बेहाल है । ऐसे में लोगो को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने और प्रकृति के संरक्षण को लेकर अधिक से अधिक पेड लगाने के लिए प्रेरित करने के लिए जिले के पृथ्वीपुर निवासी दुबे परिवार ने एक अनोखी मुहिम चलाई ।

पृथ्वीपुर के वार्ड नंबर एक निवासी प्रकाशचंद्र द्विवेदी के भतीजे अमित द्विवेदी का विवाह नगर की ही अकिंता रिछारिया के साथ 17 अप्रैल को हुआ । पेशे से कोंचिंग का संचालन करने वाले अमित समाजसेवा से जुड़कर पर्यावरण के लिए भी काम करते है। उनकी इच्छा थी कि जीवनसंगिनी के साथ सात फेरे लेने के अहम पडाव भी पर्यावरण से जोडा जाए। अपने मन की बात उन्होंने अपनी जीवनसंगिनी होने जा रही अकिंता को बताई। नवयुगल ने निर्णय लिया कि शादी में शामिल होने वाले मेहमानों को गिफ्ट में एक पौधा देकर उसको रोपित कर प्रकृति के संतुलन की अपील की जाएगी।

जिसके बाद अमित ने समाजसेवी संस्था से संंपर्क कर 200 पौधे मंगवाए। विवाह की वरमाला होने के साथ जब दोनो एक दूसरे के हो गए तो सबसे पहले अमित ने अंकिता को और फिर दुल्हन बनी अंकिता ने अपने दूल्हे अमित को पौधा देकर उनके संरक्षण का संकल्प लिया।
मेहमानों को दिए पौधे
दुबे परिवार ने शादी में वधु पक्ष के लोगो से सिर्फ एक पौधा ही लिया,उनको भी एक-एक पौधा दिया । साथ ही बारातियो और शादी में शामिल होने आए मेहमानों को भी उपहार में एक-एक पौधा देकर उसे अपने घर और खेत मे रोपित करने की अपील की। जिससे यहाँ का पर्यावरण संतुलित हो सके और प्रकृति को हराभरा बनाया जा सके। उनकी इस पहल का समर्थन करते हुए अमित के इस प्रयास की प्रंशसा की है। लोगो का कहना है कि शादी में जहाँ वर पक्ष सोने चांदी के गहने के साथ दोपहिया और चार पहिया वाहन उपहार में लेते है। ऐसे में अमित ने अपनी शादी में एक पौधा लेकर और मेहमानों को भी एक -एक पौधा देकर मिसाल पेश की है ।

vivek gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned