रैम्प पर उतरीं ग्रामीण प्रतिभाएं, जानिए क्या है इनकी ड्रेसों में सबसे हटकर

15 दिवसीय प्रशिक्षण के बाद किया आधुनिक ड्रेसों का प्रदर्शन

By: vivek gupta

Published: 24 Jul 2018, 02:40 PM IST

टीकमगढ़ ..अचानक बजा साउंड और रंग बिरंगी रोशनियों के बीच जब मॉडल कैटवॉक करती हुई रैम्प पर नजर आई तो हर कोई देखकर अचंभित रह गया, क्योंकि यह कोई पेशेवर मॉडल नहीं बल्कि तेजस्वनी महिला सशक्तिकरण से जुड़ी महिलाएं एवं युवतियां थीं,जो 15 दिवसीय यूनीफार्म एवं फैशन डिजायनिंग कोर्स के समापन पर अपने द्वारा बनाई ड्रेसों का इस शो के माध्यम से प्रदर्शन कर रही थीं। इन ग्रामीण प्रतिभाओं का मनोबल बढ़ाने के लिए जिले के कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल भी मौजूद रहे और उन्होंने इनका प्रोत्साहन किया।


इस संबंध में जिला कार्यक्रम प्रबंधक तेजस्वनी सुशील वर्मा ने बताया कि टीकमगढ़ जिला एक ऐसा जिला रहा है जहां पर्दा प्रथा का हमेशा ही प्रचलन रहा है। ग्रामीण महिलाएं घर से निकलने में हिचकती रही हैं, लेकिन तेजस्वनी कार्यक्रम अंतर्गत जुड़ी महिलाओं की सामाजिक स्थिति में काफी बदलाव आया है।

अब वह न केवल घर से निकली हैं बल्कि मुंबई, सूरत, पुणे, उदयपुर, पुष्कर, दिल्ली, इंदौर जैसे शहरों और कई राज्यों का दौरा भी कर चुकी हैं।

Model catwalking Fashion designing course Rural women ramps

उन्होंने बताया कि तेजस्वनी ग्रामीण महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम अंतर्गत गठित स्वसहायता समूहों की महिलाओं को आधुनिक फैशन डिजायनिंग एवं यूनिफार्म निर्माण का 9 से 23 अक्टूबर तक 15 दिवसीय प्रशिक्षण नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नालॉजी भोपाल की फेकल्टी अरविन्द नामदेव एवं साक्षी पंथी के माध्यम से दिया गया।

कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल ने कहा कि हमारे जिले के सुदूर क्षेत्रों के गावों में रहने वाली महिलाओं द्वारा किया गया यह प्रयास काफी सार्थक है। उन्होंने साबित कर दिया कि गांव की महिलाएं भी किसी से कम नहीं है।

डीपीएम वर्मा द्वारा महिलाओं द्वारा तैयार किए गए कपड़ों को रखने और उनके विक्रय के लिए एक दुकान देने की मांग कलेक्टर के समक्ष रखी गई जिस पर उन्होंने जगह का चुनाव कर जानकारी देने की बात कही। जिस आधार पर अलाटमेंट दे दिया जाएगा।


इन्होंने किया कैटवॉक: इस कार्यक्रम के दौरान बनाए गए परिधानों का प्रदर्शन करना था। जिसके लिए यह पूरा कंसेप्ट तैयार किया गया और समूह की महिलाएं और युवतियां इसके लिए तैयार हो गई और आज आयोजित इस कार्यक्रम में

श्रुति दुबे, महेश राजा बुंदेला, सोनम बुंदेला, वर्षा, विनीता नामदेव, क्रांति अहिरवार, मंजू, चंदा, वसुंधरा, रागिनी बुन्देला, पूजा सेंगर, शिल्पी परिहार सहित करीब 40 महिलाओं एवं युवतियों ने यहां कैटवॉक कर आधुनिक परिधानों का प्रदर्शन किया।

इस 15 दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान युवतियों एवं महिलाओं ने प्लाजो, अनार कली कुर्ता सहित आधुनिक परिधानों को बनाना सीखा है।

vivek gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned