निवाडी का अपना हुआ पोर्टल ५२वें जिले के रूप में शामिल निवाडी

ओरछा के पर्यटन के साथ नए जिले की मिलेगी पूरी जानकारी

By: vivek gupta

Published: 14 Oct 2019, 12:04 PM IST

टीकमगढ़..प्रदेेश के नक्शे में ५२वें जिले के रूप में शामिल हुए निवाडी जिले का पोर्टल अस्तित्व में आ गया है। जिसमें प्रदेश के सबसे छोटे जिले निवाडी के पर्यटन,गठन और संस्कृति की पूरी जानकारी देखी जा सकती है। जिला सूचना केन्द्र के द्वारा बनाए गए पोर्टल की खास बात है कि इसे केन्द्र के वन इंडिया प्रोग्राम की तर्ज पर बनाए जाने से बहुभाषी होने के साथ स्क्रीन रीडऱ से जोडा गया है। टीकमगढ़ से अलग होने के एक वर्ष बाद निवाडी में भले ही अन्य सुविधांए बहाल न हो पाई हों लेकिन इंटरनेट पर अपने पोर्टल के साथ नए जिले का अस्तित्व नजर आ रहा है ।

अभी तक टीकमगढ के ही पोर्टल पर निवाडी के साथ ओरछा और पृथ्वीपुर को देखा जा सकता था। लेकिन निवाडी का पोर्टल शुरू होने से ओरछा के पर्यटन के साथ श्रीरामराजा मंदिर का फोटो निवाडी जिले की शान बढा रहा है।


महात्मा गांधी की जयंती के साथ हुआ लांच
१ अक्टूबर २०१८ को अस्तित्व में आए निवाडी जिले का पोर्टल भी एक वर्ष बाद २ अक्टूबर २०१९ को शुरू किया गया है। जिला सूचना केन्द्र के सहायक प्रंबधक अविनाश पाठक ने बताया कि नए जिले निवाडी के पर्यटन,नोटिफिकेशन और जिले की जानकारी के लिए पोर्टल बनाया गया है।

११७० वर्ग किमी वाले जिले की १२७ ग्राम पंचायतो की जानकारी के साथ पृथ्वीपुर,निवाडी और ओरछा की जानकारी समाहित की गई है। इसमें मुख्य रूप से ओरछा और गढकुडार के पर्यटन को शामिल किया गया है। इस नई व्यवस्था में न केवल जिले का भौगोलिक ज्ञान होगा,बल्कि उस जिले में किस तरह का व्यापार है,किस तरह का पर्यटन है । बेवसाइट को लेकर सबसे अहम बात है कि इसे दृष्टिबाधित यूजर्स भी पढ़ सकेगें,इसके साथ ही जैसा देश वैसी भाषा की तर्ज पर सभी भाषाओ में पढ़ा जा सकेगा।

जिला सूचना केन्द्र के सहायक प्रंबधक पाठक ने बताया कि जिले में कौन सा उद्योग किस हाल में है और किस तरह की संभावनाएं क्षेत्र में है। पाठक का कहना था कि जिले का पूरा डाटा और जानकारी बेवसाइट पर अपलोड़ की गई है।


ओरछा का पर्यटन रहेगा खास
जिला सूचना केन्द्र के सहायक प्रंबधक पाठक ने बताया कि निवाडी में ओरछा के पर्यटन को खास तवज्जो दी गई है। ओरछा के होटल,राजा महल और श्रीरामराजा मंदिर से जुडी अहम जानकारियां अपलोड की गई है। 

बेवसाइट में दर्ज जानकारी स्क्रीन रीडऱ की आवश्यकता पर आवाज के फोम में आकर पूरी जानकारी पढ़कर सुना देगा। जानकारियों का संग्रह इस तरह किया गया है कि आम यूजर्स के साथ ही दिव्यांगो को भी उनकी क्षमता के अनुसार जानकारी उपलब्ध हो सकेगी। इसकेे साथ ही जिस प्रदेश में होगें वहां कि भाषा में पोर्टल को समझ सकेगें। निवाडी का अपना पोर्टल होने से अब जनसुनवाई,आपकी सरकार सहित अन्य जनता से जुडी गतिविधियो में निगरानी में तेजी आ सकती है।

vivek gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned