यह कैसा स्वास्थ्य केन्द्र, मरीजों को नही मिल रही दवाएं

स्वास्थ्य केन्द्र में पर्चा बनवाओं, डॉक्टर को दिखाओं और बिना दवाओं के घर जाओं

By: anil rawat

Published: 01 Jul 2019, 05:00 AM IST

टीकमगढ़(जतारा). शासन स्वास्थ्य सेवाओं में बेहतरी के लिए कितने भी प्रयास क्यों न कर रहा हो, लेकिन अधिकारियों एवं कर्मचारियों की लापरवाही के कारण लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नही मिल पा रहा हैं। आलम यह हैं कि पिछले एक पखवाड़े से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंच रहे मरीजों के केवल पर्चे बन रहे हैं और डॉक्टर उन्हें देख रहे हैं, लेकिन उन्हें दवाएं नही मिल रही हैं। दवाओं के लिए उन्हें मेडीकल पर जाना पड़ रहा हैं। मरीजों की इस समस्या की ओर विभाग आंखे मूंदे हुए हैं।


इन दिनों सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भगवान भरोसे चल रहा हैं। यहां पर आने वाले मरीजों को केवल पर्चा बनवाने एवं डॉक्टरों को दिखाने की सुविधा ही मिल रही हैं। लेकिन मरीजों को यहां पर सामान्य दवाएं भी उपलब्ध नही हो रही हैं। यह समस्या यहां की स्टोर कीपर के लगतार छुट्टी पर रहने के कारण हो रही हैं। आलम यह हैं कि स्टोर कीपर के छुट्टी पर होने से मरीजों को हो रही इस असुविधा पर विभाग ध्यान भी नही दे रहा हैं। जबकि स्टोर कीपर के छुट्टी पर होने के कारण विभाग को किसी दूसरे को चार्ज देना चाहिए था। लेकिन अधिकारी हैं कि उनका इस पर ध्यान ही नही हैं।

 

इन दवाओं की कमी: विदित हो कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में सामान्य मरीजों के लिए भी दवाएं उपलब्ध नही हैं। यहां पर आने वाले मरीजों को डीएनएस, आरएल, डी 5 बॉटल के साथ ही दर्द का मलहम, इंसुलिन की सिरिंज, खुजली का मलहम, पेट दर्द का सीरप, गर्भवति महिलाओं के टॉनिक, बच्चों का गैस का कैप्सूल एवं डिलेवरी बेल्ट के साथ ही अन्य दवाओं की कमी बनी हुई हैं। यहां पर कई दिनों से मरीजों को रेबीज के इंजेक्शन भी नही मिल रहे हैं। ऐसे में गरीब तबके के मरीजों को खासी परेशानियां हो रही हैं।


मिली थी 2 ट्रक एक्सपायरी दवाएं: सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में चल रही यह लापरवाही दो वर्ष पूर्व भी सामने आई थी। एक ओर मरीज दवाओं के लिए परेशान हो रहे हैं, तो दूसरी ओर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में दो वर्ष पूर्व लगभग दो ट्रक एक्सपायरी दवाएं मिली थी। यह दवाएं आज भी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के कमरों में सील रखी हैं, और इसकी जांच नही हो सकी हैं। इस मामले के बाद भी विभाग की लापरवाही कम नही हो रही हैं।

कहते हैं अधिकारी: मरीजों को बेहतर सुविधाएं देने के लिए आवश्यक प्रयास किए जाएंगे। आवश्यक दवाओं के साथ ही इमरजेंसी की सुविधाओं को बेहतर किया जाएगा। फार्मासिस्ट मेटरनिटी लीव पर थीं, ज्वाइन करने के बाद वह बगैर बताए चली गई हैं। इससे यह असुविधा हुई हैं। इसके लिए उन्हें नोटिस जारी किया जाएगा। उनकी अनुपस्थिति को लेकर वरिष्ठ कार्यालय को भी जानकारी भेजी गई हैं।- विजय जैन, बीएमओ, जतारा।

anil rawat Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned