scriptOpen work and officials poll in front of MNREGA central team | मनरेगा की केन्द्रीय टीम के सामने खुली काम और अधिकारियों की पोल | Patrika News

मनरेगा की केन्द्रीय टीम के सामने खुली काम और अधिकारियों की पोल

केन्द्रीय टीम ने देखी मनरेगा की जमीनी हकीकत, जिला पंचायत सीइओ बोले- परकुलेशन टैंक में पानी नहीं रूकता, टीम बोली-बारिश में तो रहेगा

टीकमगढ़

Updated: September 14, 2022 08:25:32 pm

टीकमगढ़. केन्द्रीय मंत्री वीरेन्द्र कुमार की शिकायत के बाद मंगलवार को दूसरी बार केन्द्रीय जांच दल मनरेगा के कामों की जांच करने जिले में पहुंचा। यहां पर कामों का निरीक्षण कर टीम के सदस्य नाराज दिखाई दिए। आलम यह था कि पानी को सहेजने के लिए बनाए गए परकुलेशन टैंक मेें बारिश के समय मे भी पानी नहीं था और जिला पंचायत सीइओ इसमें पानी जमा न होने की सफाई दे रहे थे।

Open work and officials poll in front of MNREGA central team
Open work and officials poll in front of MNREGA central team


पिछले दो सालों में मनरेगा में जमकर हुए भ्रष्टाचार को लेकर केन्द्रीय मंत्री वीरेन्द्र कुमार ने केन्द्रीय स्तर पर इसकी शिकायत की थी। इस शिकायत पर मंगलवार को मनरेगा के कामों की जांच करने के लिए दूसरी बार चार सदस्यीय केन्द्रीय दल टीकमगढ़ पहुंचा। इस टीम की आवाभगत के लिए अधिकारियों ने इन्हें जिले के सबसे महंगे होटल में ठहरवाया था। सुबह से टीम पलेरा के गांव कछियागुड़ा एवं उपरारा के कामों का निरीक्षण करने के लिए निकली। इसके पूर्व होटल पहुंचे केन्द्रीय मंत्री वीरेन्द्र कुमार के प्रतिनिधि विवेक चतुर्वेदी एवं अनुराग वर्मा ने टीम के सदस्यों से मुलाकात की और जिला पंचायत द्वारा नियम विरूद्ध तरीके से किए गए कामों की तमाम शिकायतें टीम को सौंपी।


बारिश में खाली था टैंक
ग्राम पंचायत कछियागुड़ा पहुंची टीम ने सबसे यहां पर खजरी खिरक से स्कूल तक बनाई गई 1300 मीटर की सुदूर सड़क का निरीक्षण किया। यह सड़क 7.9 मीटर चौड़ी और 17 सेमी मोटर की बननी थी। इस पर टीम ने फीटा डालकर सड़क का नाप कराया तो कम चौड़ी निकली। वह इसकी खुदाई कराकर मोटाई भी नापी। इस सड़क पर योजना का कोई बोर्ड नहीं था। इसके बाद टीम बारिश के जल को संग्रहित कर भूमिगत जलस्तर बढ़ाने के लिए बनवाए गए परकुलेशन टैंक का निरीक्षण करने पहुंची। यह टैंक गांव के चंदेलकालीन तालाब से लगे पहाड़ को काटकर बनाया जा रहा था। ऐसे में यह भी समझ में नहीं आ रहा था कि जब यहां पर चंदेल कालीन तालाब है तो इस परकुलेशन टैंक की क्या आवश्यकता।

100 मीटर लंबाइ्र्र की बधान का बनने वाला यह टैंक महज 10 मीटर भी लंबा नहीं था। 4.9 लाख की लागत के इस टैंक की 1.25 लाख रुपए राशि व्यय होना दिखाया गया था। वहीं साफ दिख रहा था कि इसकी खुदाई मशीनों से कराई गई है। इस बारिश के मौसम में भी टैंक में एक बूंद पानी नहीं था। टैंक में पानी न होने पर मनरेगा के ज्वाइंट डायरेक्टर अमरेन्द्र प्रताप सिंह ने इसका कारण पूंछा तो जिला पंचायत पंचायत सीइओ एसके मालवीय बोले कि परकुलेशन टैंक में पानी जमा नहीं होता है। इस पर अमरेन्द्र प्रताप सिंह हंसते हुए बोले कि बारिश के एक-दो माह में तो पानी रहेगा कि नहीं। नहीं तो इसका औचित्य ही क्या। इस पर जिला पंचायत सीइओ उनके सामने से हट गए।


कैसे सोशल ऑडिट
परकुलेशन टैंक का निरीक्षण करने के बाद मनरेगा के सोशल ऑडिट के कार्यक्रम आधिकारी रंजू तुलसी ने एप पर पंचायत में 2017 में किए गए पौधारोपण का निरीक्षण कराने को कहा तो जनपद सीइओ एसआर मीणा बोले कि वहां पर पेड़ नहीं थे तो उस काम को निरस्त कर दिया गया है। इस पर अमरेन्द्र सिंह ने कहा कि यह काम अभी जारी बताया जा रहा है। इस पर मनरेगा के जिला कार्यक्रम अधिकारी रजत तिवारी ने सोशल ऑडिट प्रभारी कपिल जैन की तरफ देखते हुए कहा कि सोशल ऑडिट में इस काम को निरस्त कर रिकव्हरी के निर्देश दिए गए है। इस पर टीम ने कहा कि कहां है सोशल ऑडिट।

मजदूर के पास नहीं कार्ड
कामों के निरीक्षण के बाद टीम पंचायत भवन पहुंची। यहां पर मजदूरों से बात की जानी थी। टीम के सदस्यों ने जब उपस्थित मजदूरों से कार्ड के बारे में पूंछा तो किसी के पास जॉब कार्ड नहीं था। वहीं अगली पंक्ति में बैठे लोग ही गांव में बराबर मजदूरी मिलने, मजदूरी की राशि बैंक में पहुंचने की बात कह रहे थे। ऐसे में साफ हो रहा था कि यहां पर लोगों को समझा-बुझाकर बैठाया गया है।


पहले निरीक्षण में एक दर्जन पर हुई थी कार्रवाई
विदित हो कि इसके पूर्व पिछले साल सितंबर माह में जिले में दो सदस्यीय केन्द्रीय टीम ने निरीक्षण किया था। इस निरीक्षण में आधा दर्जन ग्राम पंचायतों की जांच में जमकर गड़बडिय़ां पाई गई थी और टीम ने जतारा जनपद सीइओ सहित एक दर्जन अधिकारियों एवं कर्मचारियों से रिकव्हरी करने एवं दोषियों के खिलाफ एफआईआर तक कराने के निर्देश दिए थे। इस बार भी यहीं स्थिति बनी हुई है।


17 तक रहेगी टीम
विदित हो कि इस बार टीम चार दिन तक जिले में रहेगी। इस दौरान जिले की हर जनपद पंचायत की कुछ चुनिंदा पंचायतों का निरीक्षण किया जाएगा। बताया जा रहा है कि जिन पंचायतों में सबसे अधिक काम हुए है, उनका निरीक्षण किया जाएगा। इस टीम में नरेगा के ज्वाइंट डायरेक्टर नरेगा अमरेन्द्र प्रताप सिंह, असिस्टेंट डायरेक्ट हिमांशी, कार्य के कार्यक्रम अधिकारी किरन सी एवं सोशल ऑडिट के कार्यक्रम अधिकारी रंजू तुलसी शामिल है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

'आज भी TMC के 21 विधायक संपर्क में, बस इंतजार करिए', मिथुन चक्रवर्ती ने दोहराया अपना दावाखाना वहीं पड़ा था, डॉक्युमेंट्स और सामान भी वहीं थे , लेकिन... रिसॉर्ट के स्टाफ ने बताया कैसे गायब हुई अपने कमरे से अंकिताVideo: महबूबा मुफ्ती ने किया Pakistan PM का समर्थन, जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर दिया ये बयान'PFI पर कार्रवाई करने में इतना वक्त क्यों लगा?', प्रियंका चतुर्वेदी ने कश्मीर को लेकर PM मोदी पर साधा निशाना2 खिलाड़ी जिनका करियर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बीच सीरीज में हुआ खत्म, रोहित शर्मा नहीं देंगे मौका!चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग हुए हाउस अरेस्ट! बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी के Tweet से मचा हड़कंपयुवाओं को लश्कर-ए-तैयबा और ISIS में शामिल होने को उकसा रहा था PFI, ग्लोबल फंडिंग के सबूतअंकिता हत्याकांड : जांच के लिए गठित की गई SIT, CM ने कहा- "चाहे कोई भी हो, अपराधियों को नहीं बख्शा जाएगा"
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.