पंचायत के मुखिया ने सरकारी बोर और कुआं पर कर लिया कब्जा, जनता को छोड़ दिया प्यासा

पंचायत के मुखिया ने सरकारी बोर और कुआं पर कर लिया कब्जा, जनता को छोड़ दिया प्यासा

Akhilesh Lodhi | Publish: Jun, 15 2019 08:00:00 AM (IST) Tikamgarh, Tikamgarh, Madhya Pradesh, India

जनपद पंचायत दरगुवां ग्राम पंचायत में पेयजल की बिकराल समस्या बनी हुई है। यहां पर अधिक पानी देने वाले सरकारी बोर और कुआं तो है।

टीकमगढ़.जनपद पंचायत दरगुवां ग्राम पंचायत में पेयजल की बिकराल समस्या बनी हुई है। यहां पर अधिक पानी देने वाले सरकारी बोर और कुआं तो है। लेकिन उस पर सरपंच और सचिव का कब्जा जमाए हुए है। वह उसका पानी अपने घरेलू कार्यो में ही उपयोग कर रहे है। वहीं पंचायत के कंचनपुरा मोहल्ले में पानी नहीं होने के कारण वहां के लोगों ने क्षेत्रीय विधायक से लेकर पीएचई विभाग से शिकायत की गई। इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई।
ग्रामीणों ने पंचनामा में बताया कि दरगुवा ग्राम पंचायत का तालाब के साथ निजी बोर और कुआं सूख गए है। हैंडपंपों ने भी जबाब देना शुरू कर दिया है। पेयजल की पूर्ति के लिए ग्रामीण सुबह ४ बजे से बर्तन लेकर खड़े हो जाते है। इसके बाद भी दोपहर तक उन्हे पेयजल नहीं मिल पाता है। ग्राम पंचायत में नलजल योजना के तहत पाइप लाइन को भी बिछाया गया है। लेकिन सरपंच और सचिव ने नल लाइन में पानी सप्लाई न करके सरकारी और बोर और कुआं पर कब्जा कर लिया है। जिसके कारण ग्राम पंचायत के लोग पेयजल के लिए तरस रहे है।
सरकारी बोर और कुआं पर कब्जा
ग्रामीणों ने पंचनामा में कहा कि शासन द्वारा दरगुवां ग्राम पंचायत में पेयजल पूर्ति के लिए सरकारी कुआं और बोर का खनन किया गया था। इसके साथ ही घर-घर पानी पहुंचाने के लिए पाइन बिछाई गई थी। पीएचई विभाग और जनपद पंचायत के जिम्मेदार अधिकारियों की देखरेख के अभाव में सरपंच और सचिव ने कुआं और बोर पर कब्जा कर लिया है। ग्रामीणों ने विधायक से लेकर जनपद पंचायत और पीएचई विभाग से शिकायत की गई है। लेकिन मामले को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।


पानी की मांग को लेकर ग्रामीणों ने दिया ज्ञापन
पेयजल की मांग को लेकर ग्रामीण पंच मीरा, पप्पू रैकवार, रघुवर रैकबार, परमलाल, धर्मसिंह, सुरेंद्र लोधी, कैलाश प्रसाद, मातादीन, हरपाल राय, खिलन लोधी, रघुवीर लोधी, धनीराम बंशकार, राकेश लोधी, कमल, प्रमोद, ग्यासी, राकेश विश्वकर्मा, बब्लू कपिल, मनीराम, गज्जू रैकवार, विहारी लाल, मुकेश रजक सहित सैकड़ों लोगों ने शिकायत की है।
इनका कहना
ग्रामीणों को पेयजल दिलाना विभाग का कार्य है। इसकी जिम्मेदारी पीएचई विभाग की है। मामले को लेकर विभाग से टीम को भेजा जाएगा।अगर सरपंच और सचिव द्वारा पेयजल यंत्रों पर कब्जा किए है जो जांच कर कार्रवाई की जाएगी।
जितेंद्र मिश्रा ईई पीएचई विभाग टीकमगढ़।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned