राशन दुकानों पर बायोमैट्रिक मशीनें हुईं खराब, हितग्राहियों को नहीं मिल रहा राशन

राशन दुकानों पर बायोमैट्रिक मशीनें हुईं खराब, हितग्राहियों को नहीं मिल रहा राशन

Akhilesh Lodhi | Publish: Sep, 16 2018 12:47:44 PM (IST) Tikamgarh, Madhya Pradesh, India

जिले में शासकीय उचित मूल्य राशन की दुकानों की पीओएस बायोमैटिक मशीनें खराब पड़ी हुई है

टीकमगढ़.जिले में शासकीय उचित मूल्य राशन की दुकानों की पीओएस बायोमैटिक मशीनें खराब पड़ी हुई है। जिसके कारण उपभोक्ता को सस्ता राशन नहीं मिल पा रहा है। वहीं कम्पनी के पास बायोमैट्रिक मशीनें नहीं होने के चलते उपभोक्ताओं और सेल्समेनों की चिंता बढ़ गई है। इसके साथ ही जिले में मशीनों को सुधारने के लिए दो इंजीनियर रखे गए है। जो अपना अपना कार्य जल्दी नहीं कर पा रहे है। मशीनों को जल्द भिजवानें के लिए विभाग ने कई बार पत्र के माध्यम से मांग की है। लेकिन अभी तक मशीनें मुख्यालय तक नहीं पहुंच पाई है।
जिले में 484 राशन की दुकानें है। जहां 130 से अधिक बायोमेट्रिक मशीनें खराब पड़ी हुई है। बांकी राशन की दुकानों पर प्रशासन के निर्देश पर राशन वितरण हो रहा है। मशीनों को सुधारने के लिए भोपाल भेजा गया है। मशीनों की तकनीकि खराब होने के कारण दुकानें बंद पड़ी हुई है। यही कारण है कि हितग्राहियों को समय पर राशन नहीं मिल पाता है। शासन की योजना के तहत अंत्योदय और प्राथमिकता श्रेणी के परिवारों को हर माह एक रुपए भाव से गेंहू एवं चावल का वितरण किया जाता है। जिसके कारण शासकीय उचित मूल्य राशन की दुकानों से हितग्राही को सस्ता राशन नहीं मिल पा रहा है। उपभोक्ताओं को बाजार से महंगें दामों में खरीदना पड़ रहा है। कई राशन की दुकानों पर बायोमैट्रिक मशीनें खराब हो जाने से हितग्राहियों को राशन देना बंद कर दिया गया है।
यह बनी रहती है समस्या
पूरे जिले में कनेक्टिविटी और मशीनें खराब होने की समस्या बनी हुई है। राशन दुकानों में पीओसी बायोमेट्रिक मशीन के माध्यम से राशन वितरण की व्यवस्था जब से लागू हुई है। तब से कनेक्टिविटी नहीं मिलन, तो कभी डिसप्ले खराब होने या प्रिंटर खराब होने की समस्या बनी रहती है। बायोमैट्रिक मशीनें सुधारने के लिए जिले में केवल दो ही इंजीनियर है। जो समय पर पूरा काम नहीं कर पा रहे है।
130 से अधिक दुकानों के हितग्राही है परेशान
130 राशन की दुकानों पर चलते-चलते बायोमैटिक मशीनें खराब हो गई है। जहां राशन वितरण की प्रक्रिया ठप्प पड़ी हुई है। सेल्समेन मशीनों के सुधार के लिए खाद आपूर्ति विभाग कार्यालय पहुंचता है। इससे हितग्राहियों का राशन हीे नहीं मिल पाता है। बर्तमान में जिले की राशन दुकानों की पीओएस मशीनें खराब होने की ओर विभाग के अधिकारियों का ध्यान नहीं है। हालंाकि इस संबंध में खाद्य आपूर्ति अधिकारी का कहना है कि डीएसके कम्पनी से लगातार संम्र्पक कर पीआएस मशीनें सुधार कार्य करने के निर्देशित किया जा रहा है। जमा की गई मशीनों का सुधार कार्य करवाकर वापस बुलाई जा रही है। जैसे ही मशीन विभाग को प्राप्त होगी जल्द ही विक्रताओंं को वापस कर दी जाएगी। वर्तमान में भोपाल में बायोमैटिक मशीनों को प्रदाय नहीं किया जा रहा है। नई मशीनें नहीं मिलने के कारण उपभोक्ताओंं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।


विभाग के निर्देशन में होता है राशन का वितरण
जिले में 130 से अधिक शासकीय उचित मूल्य की दुकानों की मशीनें खराब होने के कारण विभाग और क्षेत्र के संबंधित विभाग के निर्देशन में दुकानों को संचालित किया जाता है। 15 तारीख के बाद इन दुकानों पर विशेष निगरानी के साथ राशन का वितरण किया जाता है।
22 राशन की दुकानों का हुआ आवंटन
जिले के सभी छह विकासखण्डों के गांवों में 22 शासकीय उचित मूल्य की दुकानों का आंवटन किया गया है। जिसमें टीकमगढ़ के राधापुर, ऊमरी, करमारमई, बल्देवगढ़, पलेरा, जतारा, पृथ्वीपुर और निवाड़ी क्षेत्र की ग्राम पंचायतों में नई को दुकानों को खोला गया है। वहां शासन के निर्देश पर राशन का वितरण किया जा रहा है।
कम्पनी के पास नहीं है मशीनें
पर्ची पर राशन देना शासन ने प्रतिबंध कर दिया है। लेकिन जिले में आए दिन दो से चार बायोमैट्रिक मशीनें खराब हो रही है। सेल्स मेनों द्वारा एक दिन छोड़ दूसरें दिन विभाग में मशीनों का सुधार करने के लिए जमा की जा रही है। विभाग द्वारा उन मशीनों के सुधार के लिए भोपाल जमा की जा रही है। मशीनें सही नहीं होने के कारण दूसरी मशीनों की मांग की जा रही है। कम्पनी के पास मशीनें नहीं है। जिसके कारण मशीनें विभाग को नहीं दी जा रही है।
फैक्ट फायल
जिले में कुल दुकानें-484
जिले में कुल खराब मशीनें-130
इनका कहना
जिले में हर सप्ताह एक दो मशीनें खराब हो रही है। मशीनों का सुधार कार्य दो इंजीनियरों द्वारा किया जा रहा है। ज्यादा खराब मशीनों को भोपाल भेजा गया है। लेकिन वहां से आने में देरी हो रही है। मशीनों को वापस बुलवाने के लिए पत्र भेजा गया है। जल्द ही उपभोक्ताओं को राशन वितरण किया जा एगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned