scriptRegistration date extended till 10th March | आज भी पंजीयन कराने के लिए परेशान हो रहे किसान, समस्या का नहीं हो रहा समाधान | Patrika News

आज भी पंजीयन कराने के लिए परेशान हो रहे किसान, समस्या का नहीं हो रहा समाधान

जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए पंजीयन ५ फरवरी से शुरु किए गए थे। अंतिम तारीख ५ मार्च तय की गई थी। लेकिन पोर्टल और सॉफ्टवेयर खराबी के कारण कागजी प्रक्रिया कठिन होने हो गई थी।

टीकमगढ़

Updated: March 05, 2022 08:42:27 pm

टीकमगढ़. जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए पंजीयन ५ फरवरी से शुरु किए गए थे। अंतिम तारीख ५ मार्च तय की गई थी। लेकिन पोर्टल और सॉफ्टवेयर खराबी के कारण कागजी प्रक्रिया कठिन होने हो गई थी। जिसके कारण हजारों किसान पंजीयन केंद्रों पर चक्कर काट रहे थे। उस वजह से पिछले वर्ष की तुलना में पंजीयन ५ मार्च तक आधे ही हो पाए है। इस समस्या को लेकर शासन ने पंजीयन की तारीख ५ मार्च से बढ़ाकर १० मार्च कर दी है। लोक सेवा केंद्र पर किसानों की संख्या अधिक दिखाई है। शनिवार तक ३7 हजार के करीब पंजीयनों की संख्या पहुंच गई है। पिछले वर्ष पंजीयनों की संख्या ६० हजार से अधिक थी।
समर्थन मूल्य के लिए पंजीयन कराने में किसानों की समस्याएं कम नहीं हो रही है। पहले नए सॉफ्टवेयर में ओटीपी नहीं आ रही थी। अब पॉर्टल पर गिरदावरी कॉलम में फसलें और खसरा दिखाई नहीं दे रहा है। एक महीनों में २०० पंजीयन केंद्रों पर टीकमगढ़ जिले के ३7 हजार किसानों ने पंजीयन करा पाया है। अब पंजीयन के लिए ५ दिन बढ़ाकर १० मार्च कर दिया है। जिससे किसान पंजीयन करा पाएगें। किसान श्याम यादव, मोहित यादव, राकेश कुशवाहा, भूपेंद्र अहिरवार ने बताया कि पंजीयन कराने के लिए गए थे। जिसमें फ्रिंगर तो लग गए है। लेकिन जमीन के दस्तावेज नहीं ले रहा है। किसानों का कहना था कि नए सॉफ्टवेयर में ओटीपी की समस्याएं बनी है। अब गिरदावरी कॉलम में किसानों की नई फसलों क ा रकबा दिखाई नहीं दे रहा है। जिसके कारण किसानों का पंजीयन कार्य प्रभावित हो रहा है।
यह है कारण
इस साल ऑनलाइन फसल गिरदावरी हुई। लेकिन पहले गिरदावरी समय पर नहीं हुई। जब गिरदावरी हुई तो एनआइसी के पोर्टल पर फसलों का मिलान नहीं हुआ। पोर्टल भी धीमी गति से चला। बैंक खाता में आधार लिंक नहीं हो पाया। ओटीपी आधार लिंक के साथ पंजीयन करते समय संबंधित किसान के मोबाइल पर ओटीपी आ रही है। लेकिन आधार मोबाइल से नहीं होने से परेशानियां आ रही है।

Registration date extended till 10th March
Registration date extended till 10th March

पिछले वर्ष ६० बनाए गए थे पंजीयन केंद्र, इस वर्ष २०० बनाए
किसानों का कहना था कि पिछले वर्ष जिले में ६० पंजीयन केंद्र थे। उन केंद्रों के माध्यम से पंजीयक किसानों की संख्या ६० हजार पार कर गई थी। लेकिन इस वर्ष सीएससी केंद्र, एमपी ऑनलाइन केंद्र, तहसील, ग्राम पंचायत, सोसाइटियां के साथ अन्य केंद्रों को बनाया गया है। जिसमें सरकारी केंद्र 7० और अन्य मिलाकर २०० केंद्र बनए गए है। उसके बाद आधे पंजीयन हो पाए है। यही स्थिति निवाड़ी जिले में बनी हुई है। कियोस्क केंद्रों पर ५० रुपए का शुल्क तय किया है। लेकिन गिरदावरी और नवीन सॉफ्टवेयर अपडेट नहीं

होने के कारण समस्याएं बनी है।
यह है आ रही पंजीयन कराने में समस्या
नया सॉफ्टवेयर पुराने पंजीयनों को नहीं ले रहा और नए पंजीयन कराने पर ओटीपी नहीं दे रहा है। उसके बाद खाद विभाग ने ऑनलाइन शिकायत की। फिर सुधार करके फिंगर प्रिंट लगवाएं गए फिर पंजीयन करना शुरु कर दिया। अब पॉर्टल धीमा चल रहा है। गिरदावरी एप पर फसलें और खसरा दिखाई नहीं दे रहा है। जहां किसानों को दिन-दिन भर इंतजार करना पड़ रहा है।
बाजार में बेचनी पड़ सकता है अनाज
केंद्रों पर सर्वर की समस्या और किसानों की परेशानी को देखते हुए पंजीयन की तारीख को ५ मार्च से १० मार्च तक बढ़ा दी गई है। पांच दिनों में इतनी बढ़ी संख्या में किसानों के पंजीयन पूरे हो पाना मुश्किल दिखाई दे रहा है। दोह, कुडीला, रमपुरा लारौन, किशनपुरा के साथ अन्य गांव के किसानों का कहना था कि २० दिनों से चक्कर लगा रहे है। फिं्रगर प्रिंट लगने के बाद दस्तावेज नहीं ले रहा है। १० मार्च तक और प्रयास करेंगे। अगर पंजीयन नहीं होते है तो मजबूरन मंडियों में अनाज को बेचना पड़ेगा।
इनका कहना
निवाडी जिले में पिछले वर्ष १२५०० पंजीयन थे। इस वर्ष 7५०० पंजीयन हो गए है। पंजीयनों को बढ़ाने के लिए १० तरीक बढ़ा दी है। किसानों द्वारा केेंद्रों पर पंजीयन कराए जा रहे है।
अमित कुमार कनिष्ठ खाद अधिकारी निवाड

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

कोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टहरियाणा: हरिद्वार में अस्थियां विसर्जित कर जयपुर लौट रहे 17 लोग हादसे के शिकार, पांच की मौत, 10 से ज्यादा घायलConstable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का सायाWeather Update: उत्तर भारत में भीषण गर्मी, इन राज्यों में आंधी और बारिश की अलर्टLucknow: क्या बदलने वाला है प्रदेश की राजधानी का नाम? CM योगी के ट्वीट से मिले संकेतजमैका के दौरे पर गए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने क्यों की सलवार-कुर्ता की चर्चा, जानिए इस टूर में और क्या-क्या हुआबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनगेहूं के निर्यात पर बैन पर भारत के समर्थन में आया चीन, G7 देशों को दिया करारा जवाब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.