scriptRs 41 lakh fraudulently withdrawn from SBI's machine | SBI की मेन ब्रांच की कैश डिपॉजिट मशीन में छेड़छाड़, 41 लाख रुपए फर्जी तरीके से निकाले | Patrika News

SBI की मेन ब्रांच की कैश डिपॉजिट मशीन में छेड़छाड़, 41 लाख रुपए फर्जी तरीके से निकाले

- मशीन सुधारने के बहाने इंजीनियर ने किया फर्जीवाड़ा
- राज्य आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ ने की कार्रवाई
- स्टेट बैंक के चार कर्मचारियों सहित 9 पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज

टीकमगढ़

Published: April 29, 2022 01:29:52 pm

टीकमगढ़। स्टेट बैंक की मेन ब्रांच टीकमगढ़ की कैश डिपॉजिट मशीन (सीडीएम) में छेड़छाड़ कर ढाई साल में 41 लाख रुपए फर्जी तरीके से निकाल लिए गए। लेजर से मिलान किए जाने पर इस फर्जीवाड़ा का खुलासा हुआ। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चार कर्मचारियों और इसके मास्टरमाइंड इंजीनियर के 5 करीबियों पर राज्य आर्थिक अपराध अनुसंधान प्रकोष्ठ (इओडब्लू)ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

sbi_fraud.jpg

इस फर्जीवाड़े का मास्टरमाइंड पन्ना निवासी इंजीनियर सीताराम तिवारी निकला। जो सीडीएम मशीन को सुधारने के बहाने यह खेल कर रहा था। ईओडब्ल्यू सागर की निरीक्षक उमा नवल आर्य ने बताया कि टीकमगढ़ की स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में लगी सीडीएम मशीन सुधारने का काम सीताराम तिवारी के पास था। जिसने बैंक के कर्मचारियों की मिलीभगत से 41 लाख 19 हजार रुपए की धोखाधड़ी की। सीताराम तिवारी मशीन चेकिंग के लिए बैंक से 100, 500 एवं 1000 रुपए के नोट के पैकेट लेता था।

वह मशीन को सुपरवाइजरी मोड से कन्जयूमर मोड में ले जाकर अपने एटीएम कार्ड की मदद से रिश्तेदारों के खाते में ट्रांसफर कर देता था। बाद में मशीन को फिर से सुपरवाइजरी मोड में करने के साथ ही ट्रांजेक्शन की काउंटर स्लिप जीरो कर देता था। ऐसे में बैलेंस का पता नहीं चलता था।

ढाई साल में 260 ट्रांजेक्शन हुए
ईओडब्ल्यू की जांच में सामने आया है बैंक में यह धोखाधड़ी ढाई साल नोटबंदी से पहले तक चलती रही। आरोपियों ने 12 जून 2014 से 21 अक्टूबर 2016 तक कुल 260 ट्रांजेक्शन कर 41.19 लाख रुपए का गबन किया। बैंक के लेजर के मिलान में इतनी बड़ी राशि का अंतर मिला तो वरिष्ठ अधिकारियों ने इसकी जांच ईओडब्ल्यू को सौंपी।

इन पर हुआ मामला दर्ज
ईओडब्ल्यू ने इंजीनियर सीताराम तिवारी को मुख्य आरोपी बनाया है। उसके साथ उसके रिश्तेदार अरुण कुमार पांडे, ब्रजकिशोर पांडे, जितेंद्र तिवारी तीनों निवासी पन्ना, रीतेश खरे निवासी चित्रांश कॉलोनी टीकमगढ़ को नामजद किया है। वहीं, बैंक कर्मचारी ओमप्रकाश सक्सेना मऊ रोड टीकमगढ़, शीलचंद्र वर्मा निवासी इंद्रपुरी टीकमगढ़, अनिल बाजपेयी निवासी ग्वालियर एवं बाबूलाल निवासी आगरा के खिलाफ धारा 420 सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Delhi Shopping Festival: सीएम अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान, रोजगार और व्यापार को लेकर अगले साल होगा महोत्सवMaharashtr: नासिक में 'सूफी बाबा' ख्वाजा सैय्यद चिश्ती की हत्या, सिर में मारी गई गोली, अफगानिस्तान से था नाताKaali Poster Controversy: कानाडा के म्यूजियम ने हिंदू आस्था को ठेस पहुंचाने पर मांगी माफी, नहीं दिखाई जाएगी फिल्म2024 के आम चुनाव से पहले आधार कार्ड से लिंक होगी मतदाता सूची, फार्म- 6बी भरकर करना होगा जमासीएम बनने के बाद जब पहली बार घर पहुंचे एकनाथ शिंदे, पत्नी ने खुद ढोल बजाकर किया स्वागत, वायरल हुआ VIDEOकोलकाता में मुस्लिम युवाओं ने पेश की नजीर, पुराने शिव मंदिर का किया पुनर्निर्माण, क्राउड फंडिंग कर जुटाया पैसाDomestic cylinder price: घरेलू गैस सिलेंडर महंगा, कमर्शियल सिलेंडर के दाम घटेदिल्ली सरकार का बड़ा फैसला! फूड डिलीवरी से लेकर कैब सर्विस तक, हर काम में इस्तेमाल होंगे केवल Electric Vehicles
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.