scriptsawan somvar spacial | प्रतापेश्वर महादेव: महाराज प्रताप सिंह के प्रार्थना से उठी थी पिंडी | Patrika News

प्रतापेश्वर महादेव: महाराज प्रताप सिंह के प्रार्थना से उठी थी पिंडी

लोगों की आस्था का केन्द्र है महेन्द्र सागर तालाब की बधान पर स्थित प्रतापेश्वर मंदिर

टीकमगढ़

Published: August 01, 2022 08:46:06 pm

टीकमगढ़.
तालाब की बधान पर विराजे प्रतापेश्वर भगवान शिव लोगों की आस्था का प्रमुख केन्द्र है। सावन के माह में जहां नित्य प्रति यहां पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है, वहीं शिवरात्रि का पर्व भी यहां पर पारंपरिक तरीके से मनाया जाता है। इस मंदिर में विराजमान शिवलिंग लोगों अपने आप में अनूठा है। बेजोड़ पत्थर पर बना यह शिवलिंग स्फटिक की तरह दिखाई देता है।

sawan somvar spacial
sawan somvar spacial
तालदरवाजा स्थित महेन्द्र सागर तालाब जहां शहर की जलापूर्ति का मुख्य श्रोत है, वहीं इस तालाब की बधान पर बना राजशाही दौर का शिव मंदिर लोगों की आस्था का केन्द्र है। बताया जाता है कि इस मंदिर का निर्माण राजशाही दौरा में महाराज प्रतापसिंह जू देव द्वारा कराया गया था। मंदिर के पुजारी ओपी सिरधर बताते है कि तालाब का निर्माण होने पर महाराज प्रताप सिंह ने इस मंदिर का निर्माण कराया था। वह बताते है कि यह मंदिर 1887 में बना था। मंदिर का निर्माण होने के बाद शिवलिंग को पहले अन्नवास, जलवास आदि कराया गया।
लेकिन जब स्थापना की बारी आई तो पिंडी हिली भी नहीं। वह बताते है कि जब राजा को जानकारी हुई तो उन्होंने ने ही यहां पहुंच कर भगवान से विनती की और इसके बाद स्थापना हो सकी। तालाब की बधान पर निर्मित यह छोटा सा सुंदर मंदिर अपने खूबसूरती के लिए भी पहचाना जाता है। मंदिर के ऊपर आच्छादित पीपल की छाया और सामने विशाल तालाब से इसकी सुंदरता कई गुना बड़ जाती है। विशेष चकीले पत्थर के लिए पहचाने जाने वाले इस मंदिर के विषय में इतिहासकार पंडित हरिशविष्णु अवस्थी बताते है कि यह ग्रेनाइट पत्थर से निर्मित शिवलिंग है। उनका कहना है कि उस समय यहीं पर इसका निर्माण कराया गया था।

शिवरात्रि का विशेष महात्व
मंदिर के पुजारी बताते है कि यहां पर शिवरात्रि का तीन दिवसीय पर्व मनाया जाता है। सावन में हर दिन भगवान का आकर्षक श्रंगार किया जाता है। वह बताते है कि शिवरात्रि को लेकर ऐसी मान्यता है कि विवाह योग्य युवतियों के यहां पर मंडप के दिन भगवान को तेेल चढ़ाने पर उनके विवाह में किसी प्रकार की अड़चन नहीं आती है। ऐसे में शिवरात्रि पर यहां पर कई लोग पहुंचते है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार ने 8वीं बार ली सीएम पद की शपथ, तेजस्वी बने डिप्टी CM, कैबिनेट विस्तार बाद मेंशपथ ग्रहण से पहले नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद यादव से की बातचीत, जानिए क्या बोले राजद सुप्रीमोबीजेपी का 'इतिहास' है, जिस राज्य में बढ़ाया कद उस राज्य में सहयोगी दल ने किया किनाराड्रग केस में फंसे अकाली नेता बिक्रम मजीठिया को बड़ी राहत , पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट से मिली जमानतफिनलैंड, स्वीडन NATO में शामिल, US President जो बाइडन ने किए इंस्ट्रूमेंट ऑफ रेटिफिकेशन पर हस्ताक्षर: अब क्या करेगा रूस?कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को पड़ा दिल का दौरा, दिल्ली के एम्स में कराया गया भर्तीनीतीश के NDA छोड़ने के बाद पी चिदंबरम ने बीजेपी पर किया हमला, ट्वीट करके कही ये 6 बातेंदिल्ली में हर दिन 6 रेप, इस साल के पहले 6 महीने में दर्ज हुए 1,100 से अधिक मामले
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.