पहले दिन नही हुआ कलेक्टर के आदेश का पालन,चिलचिलाती धूप में स्कूल पंहुचे बच्चे

कलेक्टरो के आदेश जारी होने के दो दिन बाद भी निजी स्कूल हमेशा की तरह आदेश का पालन करते नजर नही आ रहे है।

By: vivek gupta

Published: 04 Apr 2019, 12:00 AM IST

टीकमगढ़..मौसम में आए बदलाव के कारण इस बार समय से पहले ही भीषण गर्मी का अहसास होने लगा है। तापमान में लगातार वृद्वि होने के कारण टीकमगढ़ और निवाडी कलेक्टर ने सरकारी और निजी स्कूलो का समय सुबह ७ बजे का करने के साथ ही नर्सरी,प्राइमरी और मिडिल स्कूल के लिए अलग अलग समय निर्धारित किया है। निवाडी कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने जहां दो दिन पहले आदेश जारी किए थे,वहीं टीकमगढ़ कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन के द्वारा सोमवार को आदेश जारी किए थे। कलेक्टरो के आदेश जारी होने के दो दिन बाद भी निजी स्कूल हमेशा की तरह आदेश का पालन करते नजर नही आ रहे है। मंगलवार को पत्रिका ने पड़ताल की तो पाया कि नर्सरी से यूकेजी तक सुबह 7 बजे से 10 बजे तक स्कूल का संचालन करने के आदेश देने के बाद मंगलवार को नर्सरी के बच्चे दोपहर १२ के बाद ही स्कूल से घर निकले।

इसके साथ ही कक्षा १ से ८ तक सुबह 7 से 12 बजे तक संचालित करने की जगह दोपहर २ बजे स्कूलो की छुट्टी की गई। कक्षा ९ से 12वीं तक सुबह 7 से 12.30 तक किया जाना था,लेकिन चिलचिलाती धूप में दोपहर २ बजे बच्चे साईकिल से घर जाते देखे गए। दोनो जिलो में कलेक्टर का यह आदेश १ अप्रैल से ३० अप्रैल तक प्रभावी रहना है,लेकिन दो दिन से निजी स्कूलो के द्वारा आदेश का मजाक बनाया जा रहा है।

कहते है अधिकारी-
सभी स्कूलो को निर्देश दिए गए है,यदि आदेश का पालन नही किया जा रहा तो कार्रवाई की जाएगी।
एस पी पांडे प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी टीकमगढ़

 

जिला शिक्षाधिकारी ने किया औचक निरीक्षण
निवाड़ी जिला शिक्षा अधिकारी यू एन मिश्रा ने बुधवार को अचानक ओरछा संकुल के करीब आधा दर्जन से अधिक प्राथमिक और माध्यमिक शालाओं का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान स्कुलों में छात्रों और शिक्षकों की उपस्थित देखी गई। निवाडी जिला शिक्षाधिकारी ने बुधवार को प्राथमिक, माध्यमिक शाला प्रतापपुरा, प्राथमिक शाला जिजौरा, प्राथमिक, माध्यमिक शाला सीतापुर, माध्यमिक शाला बसोबा, प्राथमिक , माध्यमिक शाला कुम्हर्रा का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान जिला शिक्षाधिकारी ने माध्यमिक शाला प्रभारी प्रधान अध्यापक रामशरण तिवारी को छात्र संख्या बढ़ाने के लिए अभिभाविकों से सम्पर्क करने के निर्देश दिए। कुम्हर्रा माध्यमिक शाला के प्रधान अध्यापक को कर्मचारी की उपस्थिति में सही जानकारी अंकित करने के साथ ही कर्मचारियों के अवकाश आवेदनों का रिकार्ड व्यवस्थित रखने की बात कही। इसके साथ ही निरीक्षण के दौरान संस्था प्रमुखों को लापरवाह कर्मचारियों पर कार्रवाई करने की बात कही।

vivek gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned