श्रीराम जन्मोत्सव परिवार की प्रभातफेरी स्थगित

संक्रमण को देखते हुए लिए निर्णय, लोगों से सावधान रहने की अपील

By: anil rawat

Published: 19 Mar 2020, 01:01 PM IST

टीकमगढ़. 14 साल बाद पहली बार श्रीराम जन्मोत्सव परिवार ने अपनी प्रभातफेरी स्थगित की है। कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर परिवार ने यह कदम उठाया है। श्रीराम नवमीं के लिए प्रारंभ हुई प्रभातफेरी को बुधवार को कुण्डेश्वर जाने के बाद अब आगे के लिए विराम लगा दिया गया है।


कोरोना वायरस को लेकर हर कहीं लोग सतर्कता दिखाने के साथ ही शासन-प्रशासन का सहयोग करते दिखाई दे रहे है। ऐसा ही निर्णय श्रीराम जन्मोत्सव परिवार ने लिया है। मंगलवार से शुरू हुई प्रभातफेरी प्रथम दिन ओरछा पहुंची थी इसके बाद बुधवार को कुण्डेश्वर पहुंच कर भगवान भोले को आमंत्रण-पत्र सौंपा। इसके बाद नजरबाग मंदिर पहुंच कर प्रभातफेरी को आगे के लिए बंद कर दिया गया है।

 

इसके साथ ही लोगों से भी कोरोना से बचने के लिए सतर्क ओर सावधान रहने की अपील की है। श्रीराम जन्मोत्सव परिवार ने 2 अप्रैल को श्रीराम नवमीं पर भगवान के जन्म एवं शोभायात्रा का कार्यक्रम यथावत रखा है। वहीं आगे की स्थिति देखते हुए परिवार इसके बारे में भी निर्णय ले सकता है।


ओरछा में मांस बिक्री पर प्रतिबंध: वहीं ओरछा नगर परिषद ने मास मछली के विक्रय पर प्रतिबंध लगा दिया है। धार्मिक नगरी को देखते हुए नगर प्रशासन ने इस पर पूर्णत: प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया है। नगर परिषद सीएमओ प्रताप सिंह खेंगर ने आदेश जारी कर इसकी अव्हेलना करने पर वैधानिक कार्रवाई करने की बात कहीं है। विदित हो कि इसके लिए मंगलवार को स्थानीय लोगों ने प्रशासन को आवेदन सौंपा था।


बेतवा जी की आरती में नहीं जाएंगे श्रद्धालु: कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन ने बेतवा जी की की आरती में श्रद्धालुओं के शामिल होने पर भी रोक लगा दी है। निवाड़ी कलेक्टर अक्षय सिंह ने आदेश जारी कर आरती में श्रद्धालुओं के जाने पर रोक लगा दी है। केवल पुजारी जाकर यहां पर आरती करेंगे। विदित हो कि मंगलवार की शाम से श्रीरामराजा मंदिर भी श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया है।

anil rawat Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned