scriptकृषि विभाग ने बीज के दाम नहीं किए तय और महंगे दामों में बेच रही समितियां | The agriculture department has not fixed the price of seeds and the committees are selling them at high prices | Patrika News
टीकमगढ़

कृषि विभाग ने बीज के दाम नहीं किए तय और महंगे दामों में बेच रही समितियां

सोयाबीन बीज

टीकमगढ़Jun 12, 2024 / 11:17 am

akhilesh lodhi

सोयाबीन बीज

सोयाबीन बीज

उपज के नाम पर विभिन्न कंपनियों के बीज बेच रही समितियां

टीकमगढ़.एक तरफ खरीफ की बोनी सिर पर है तो वहीं दूसरी ओर किसानों के पास बीजों की कमी है। शासन और कृषि विभाग ने बीज के दाम अभी तय नहीं किए हैं और बीज समितियां उपज के नाम पर महंगे दामों पर बीज बेच रही हैंं। वहीं कृषि विभाग के पास लक्ष्य पूर्ति के लिए बीज का प्रबंध नहीं हैं। जिसके कारण किसानों को अप्रमाणित बीज मंहगें दामों में खरीदना पड़ रहे हैं।
पत्रिका ने मंगलवार की सुबह ९ बजे से दोपहर १२ बजे तक गनेशगंज मप्र राज्य बीज एवं फार्म विकास निगम प्रक्षेत्र कुण्डेश्वर खंड क्रमाक चार से खिरिया नाका तक के वेयर हाउसों पर संचालित बीज समितियों पर उड़द, मूंग, मूंगफली, सोयाबीन बीज के दामों की जानकारी ली तो उसमें काफी अंतर दिखाई दिया। सभी के द्वारा उपज और कम दिनों के नाम पर बीज बेचा जा रहा हैं। हालांकि आज तक शासन और कृषि विभाग ने बीज बेचने के दाम तय नहीं किए हैं। उसके बाद भी यह समितियां सभी प्रकार के बीज बेच रही हैं।
बीज समितियों पर यह है स्थिति
मंगलबार की सुबह पत्रिका की टीम ने मप्र राज्य बीज एवं फार्म विकास निगम प्रक्षेत्र कुण्डेश्वर खंड क्रमाक चार पर बीज की उपलब्ध और बीज लेने की बात कही। बीज वेयर हाउस प्रभारी नारायण सिंह ठाकुर ने बताया कि अभी वेयर हाउस पर बीज नहीं आया हैं। बीज के दाम तय होने के बाद आ जाएगा। वहीं जमडार रोड के वेयर हाउस पर परिर्वतित नाम गोविंद्र सिंह ने बताया कि हमारे यहां जेएस ९५६० नाम का सोयाबीन बीज हैं। ६६०० रुपए क्विंटल बेचा जा रहा हैं और एक एकड़ में ४० किलो बोया जाता हैं।
वहीं जमडार नदी मिनौरा के आगे वेयर हाउसों पर तीन प्रकार के उड़द और मूंगफली का बीज बेचा जा रहा हैं। राधे-राधे उड़द, प्रताप वन उड्द, आजाद वन उड़द का बीज ११० रुपए किलो के हिसाब से बेचा जा रहा हैं। ९० दिनों में फसल पककर तैयार हो जाएगी। इसके साथ ही १२० रुपए किलो मूंगफली का बीज उपलब्ध हैं। जबकि जिले के वेयर हाउस और बीज समितियों के पास मूंगफली का बीज उपलब्ध नहीं हैं।
बताया गया कि उड़द मूंग के बीच बीज ना तो प्र राज्य बीज एवं फार्म विकास निगम के पास हैं और न ही कृषि विभाग के पास हैं। इन बीजों का उत्पादन भी ठीक नहीं हैं। मजबूरन किसानों को प्राइवेट कंपनियों के बीज खरीदने के लिए विवश हैं। कंपनियों ने विभिन्न ब्रांड के नाम से बाजार में 1१0 से लेकर 150 रुपए प्रति किलो बेच रही हैं। इसी तरह धान, मक्का, बाजरा, तुवर, तिल के बीज भी उपलब्ध न होने के कारण बाजार में 200 रुपए से 250 रुपए प्रति किलो खरीदने को मजबूर हैं।
हाइब्रिड बीजों का बोल वाला
जानकारों का कहना है कि बहुराष्ट्रीय कंपनियों को फ ायदा पहुंचाने के लिए बीजों की शॉर्टेज जानबूझकर कर दी जाती है ताकि महंगे दामों में बेचकर मुनाफ ा कमाया जा सके। इन कंपनियों के बीज में ना तो कोई प्रमाणिकता होती हंै न ही बीजों की कोई गारंटी। बीज उपलब्ध न होने की स्थिति में किसान मजबूरी के चलते इसे खरीदता है। गौरतलब है कि बीजों का उत्पादन कृषि विभाग कृषि अनुसंधान केंद्र, बीज निगम के मार्फ त करता हैं। जिसका उत्पादन समितियों के माध्यम से कर किसानों को दिया जाता है।
पिछले वर्ष बीज के दाम
बीज पिछले वर्ष के दाम इस वर्ष के दाम
उड़द ९५ रुपए किलो ११०-१२० रुपए किलो
सोयाबीन ७७ रुपए किलो ६६ रुपए किलो
मूंगफली ८२ रुपए किलो १२० रुपए किलो

फैक्ट फाइल
बीज का नाम बीज की उपलब्धता क्विंटल में बीज की जरूरत क्विंटल में
धान २० ३००
मक्का १०० २५
बाजरा ३०० २.५०
ज्वर १० ४०
कोदो १५० ००
तुवर १० १५
उड़द ३२०० ४४२०
मूंग १५० १५०
सोयाबीन १७०० १६००
मूंगफली १२५० ८९०५
तिल ५० ७५
रकवा- २२१.३५ हेक्टेयर रकवा- २३१.३० हेक्टेयर
पिछले वर्ष के रकवा की स्थिति इस वर्ष के रकवा की स्थिति
घान १.२० १.५०
मक्का ०.३० ०.५०
बाजरा ०.० ०.०५
ज्वार ०.५० ०.८०
कोदो कुटकी ०.० ०.१०
तुअर ०.२० ०.३०
उड़द ११५.२० ११०.५०
मूंग २.५० ३
सोयाबीन ११.१४ १०
मूंगफली ७५.१० ८९.५
तिल १५.२१ १५.५०

खरीफ फसलों का बीज विभाग के पास उपलब्ध हैं, लेकिन कम मात्रा में हैं। बीज बेचने के लिए दाम तय नहीं हुई हैं। मीटिंग के बाद बीजों के दाम तय किए जाएंगे। जो भी बीज बीज समितियां मनमाने दामों पर बेच रही हैं, कल ही जांच करके कार्रवाई की जाएगी।
अशोक कुमार शर्मा, उपसंचालक कृषि कल्याण विभाग टीकमगढ़।

Hindi News/ Tikamgarh / कृषि विभाग ने बीज के दाम नहीं किए तय और महंगे दामों में बेच रही समितियां

ट्रेंडिंग वीडियो