scriptThe city's ponds came under the grip of encroachment, but the action o | सैलसागर और वृंदावन तालाबों को बचाने की कोशिशें हो रही नाकाम | Patrika News

सैलसागर और वृंदावन तालाबों को बचाने की कोशिशें हो रही नाकाम

शहर का सैलसागर और वृंदावन तालाब देखते ही देखते अतिक्रमण की चपेट में आ गया है। किसी ने खेती तो किसी ने प्लाटिंग और किसी ने मकान बनाने के उद्देश्य से तालाब की जमीन पर कब्जा कर रखा है।

टीकमगढ़

Published: May 17, 2022 08:36:37 pm

टीकमगढ़. शहर का सैलसागर और वृंदावन तालाब देखते ही देखते अतिक्रमण की चपेट में आ गया है। किसी ने खेती तो किसी ने प्लाटिंग और किसी ने मकान बनाने के उद्देश्य से तालाब की जमीन पर कब्जा कर रखा है। इस कारण से शहर की सुंदरता बेजान हो गई है। उनमें स्वच्छ पानी की जगह मकानों से निकलने वाला गंदा पानी ही जमा हो रहा है। मामले को लेकर प्रशासन ने कई बार अभियान चलाया। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई है।
नगर प्रशासन और जिला प्रशासन नगर के तालाबों को संवारने में नाकाम दिखाई दे रहा है। शहर की सुंदरता को हर समय और हर जगह खत्म किया जा रहा है। तालाबों को खत्म करने के लिए नगर के विभिन्न नालों को तालाब में मोड़ दिया है। इसके साथ ही तालाब की प्राचान दीवार को तोड दिया है। लेकिन उसे दोवारा स्थाई नहीं बनाया गया है। अब उसमें मकानों का गंदा पानी ठहरने के कारण मनुष्यों को हानि पहुंचाने वाले जीवों ने भी जन्म ले लिया है। जिसके कारण प्रशासन को कई तरीकों के उपायों को करना पड़ रहा है। जिससे लोग सुरक्षित रह सके।
अब दोनों तालाबों की जमीन पर अतिक्रमण
शहर के महेंद्र सागर तालाब और वृंदावन तालाब कुछ हद तक सुरक्षित बचे है। लेकिन उनकी जमीनों पर अतिक्रमण करने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। कई लोग तालाब की जमीन पर खेती का कार्य कर रहे है तो कई लोगों ने मकान बना लिए है। इसके साथ ही कई ने तो प्लाटिंग करना शुरु कर दिया है। यहां तक वहां पर मकान निर्माण करके निवास भी बन गया है। जिसके कारण तालाबों की अस्तित्व खतरे में पड़ा है।

The city's ponds came under the grip of encroachment, but the action of the responsible could not be done
The city's ponds came under the grip of encroachment, but the action of the responsible could not be done
जलकुं भी ने जमाया कब्जा
शहर के लोगों का कहना था कि सैलसागर तालाब शहर की जान थी। उसके भराव से शहर में ठंडक और सुंदर दिखाई देता था। लेकिन देखते ही देखते चौराहा से लेकर आधे तालाब तक मकान निर्माण हो गए है। उन्ही मकानों से निकलने वाला गंदा पानी सैलसागर तालाब में जमा हो रहा है। उसकी गंदगी से जलकुंभी ने जन्म ले लिया है। जिसके कारण दुर्गंध फैली हुई है। इस दुर्गंध से कॉलोनियों में गंदा बातावरण फैला रहता है।
खतरे में है तालाबों का अस्तित्व
शहर के नजदीक सैलसागर तालाब, महेंद्र सागर तालाब, महाराजपुरा तालाब, हनुमान सागर तालाब, अनंतपुरा तालाब और नारगुडा तालाब, पपौरा तालाब अतिक्रमण की चपेट में आ गया है। कई तालाबों ने तो कचरे का रुप ले लिया है। उसी के कारण जलकुंभी ने जन्म लेकर कब्जा पानी में कब्जा कर लिया है। उसी से मलेरिया और डेंगू जन्म ले रहे है।
इनका कहना
उन तालाबों को सुरक्षित करने की योजना बनाई जा रही है। जल्द ही अतिक्रमणों को हटाया जाएगा और अतिक्रमण कारियों पर कार्रवाई की जाएगी।
चंद्रप्रकाश पटेल एसडीएम टीकमगढ़।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: उद्धव ठाकरे को बड़ा झटका, 'शिवसेना बालासाहेब' नाम से शिंदे खेमे ने बनाया नया समूहMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.