scriptThe gift of PM's house became the cause of trouble, more than half the | आशियानों के आश्वासन ने किया सैकड़ों परिवारों को बेघर, खुली छत के नीचे रहने को मजबूर | Patrika News

आशियानों के आश्वासन ने किया सैकड़ों परिवारों को बेघर, खुली छत के नीचे रहने को मजबूर

शहरीय पीएम आवास योजना हितग्राहियों के लिए आफत बन पड़ी है। आवास के आश्वासन में पुराने मकानों को तोड़कर किराए के मकानों में सैकड़ों हितग्राही निवास करने लगे है।

टीकमगढ़

Published: August 13, 2021 08:34:06 pm


टीकमगढ़.शहरीय पीएम आवास योजना हितग्राहियों के लिए आफत बन पड़ी है। आवास के आश्वासन में पुराने मकानों को तोड़कर किराए के मकानों में सैकड़ों हितग्राही निवास करने लगे है। निर्माण के लिए आने वाली पहली किस्त कुछ राशि किराए में खर्च हो गई है। लेकिन दूसरी कि स्त नहीं आने से आवास अधूरा और हितग्राहियों पर कर्जा चढ़ रहा है। जबकि मामले में दर्जनों हितग्राहियों ने सीएम हेल्पलाइन भी लगाई है। लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।
शहरीय आवास योजना के ३ हजार 9 सौ हितग्राही पात्र है। उसमें से पहली सूची में २78 और दूसरी सूची में १६१ हितग्राही आपात्र है। जबकि उनमें से ३६ हितग्राहियों के खातों में पहली किस्त भी डल चुकी है। कई हितग्राहियों ने पात्रता की सूची में नामों को देख कच्चें मकानों को तुडवाकर किराए के मकानों में रहने लगे। अब वह किराए के साथ बिजली का बिजली देने को मजबूर हो रहे है। जब पहली किस्त आई, तब तक किराए में ३० हजार रुपए से अधिक की राशि एक साल में खर्च हो गई। बचे रुपयों में कुछ ईट, रेत, लोहा और सीमेंट के साथ अन्य सामग्री खरीद डाली। कई परिवारों ने तो दूसरी किस्त का आश्वासन देकर सेठ साहूकारों से कर्ज भी ले लिया। लेकिन पहली किस्त के बाद दूसरी किस्त जारी नहीं होने परेशानियां बन गई है। जहां हितग्राही आशियाने के चक्कर में बेघर होने को मजबूर है।
साहब पात्र हो गए, लेकिन किस्त नहीं आई
मोटे का मेहल्ला निवासी ऊषा रैकवार, कोशा रैकवार, गुड्डी रैकवार और सुरेश रैकवार ने बताया कि साहब आवास की सूची में नाम तो आ गया। लेकिन किस्त नहीं आई है। हम सभी का निवास ऐसे स्थान पर है जहां गंदा पानी भरता है। बारिश के दौरान घरोंं के ऊपर काली पन्नी डालनी पड़ती थी। जमीन की जगह चार पाई पर बैठना पड़ता है। बारिश के दौरान जहरीले सांप के साथ अन्य जीव निकलते है। जिनसे खतरा बना रहता है।
टूटे मकान में रहने को मजबूद
इंदिरा कॉलोनी निवासी नसीर खान, सैलसागर चौराहा निवासी नजीर खान, पुरानी टेहरी निवासी हरीराम प्रजापति ने आवास के चक्कर में पुराना मकान तोड़ दिया था। अप्रैल में पहली किस्त आई थी। उसी से चारों दीवारों को खड़ा किया गया था। लेकिन रुपए नहीं बचे तो कच्चे मकान में निवास कर रहे है। कई बार पुराने घर का छप्पर गिर गया है। कई बार घायल होने से बचे है। उसके बाद दूसरी किस्त की मांग भी की है। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

The gift of PM's house became the cause of trouble, more than half the amount of the first installment was spent on rent
The gift of PM's house became the cause of trouble, more than half the amount of the first installment was spent on rent
एक साल सेे किराए के मकान में रहने को मजबूर
वार्ड २ निवासी छिलविहारी रजक ने बताया कि एक साल से किराए के मकान में रह रहे है। पहली किस्त के बाद दूसरी किस्त नहीं आई है। किराए में मकान में भी आधी किस्त की राशि खर्च हो गई है। लेकिन पीएम आवास निर्माण नहीं हो पाई है। जिसके कारण मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
यह रही आवासों निर्माण की स्थिति
नगरपालिका क्षेत्र में आज तक ३ हजार 9 सौ आवास स्वीकृत किए गए। १ हजार 9१५ में से १ हजार ४४२ हितग्राहियों को पहली किस्त दी गई है। 7२९ में से ५६६ को भी पहली किस्त दी गई। दोनों पात्र सूची २ हजार ८ में से ४३९ हितग्राही आपात्र पाए गए। लेकिन नगरपालिका द्वारा ३६ हितग्राहियों के खातों में एक लाख रुपए के हिसाब से पहली किस्त डाली गई। वहीं १ हजार ४५३ हितग्राहियों को दूसरी किस्त दी गई है।
फैक्ट फाइल
नगरपालिका क्षेत्र में कुल पीएम आवास - ३९००
नगरपालिका क्षेत्र की पहली किस्त वाले हितग्राही- २००८
नगरपालिका क्षेत्र की दूसरी किस्त वाले हितग्राही- १४५३
नगरपालिका क्षेत्र के आपात्र हितग्राही - ४३९
इनका कहना
नगरपालिका क्षेत्र के हितग्राहियों को अप्रैल में पहली किस्त १ लाख रुपए की दी गई थी। अभी दूसरी किस्त के लिए शासन के पास बजट नहीं है। जिसके कारण काम अटका हुआ है। जल्द ही हितग्राहियों को दूसरी राशि पहुंचाइ जाएगी।
विजय कुमार सोनी पीएम आवास शाखा प्रभारी नगरपालिका टीकमगढ़।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

बेटी का जुल्म-बुजुर्ग ने जेब से निकालकर बताई दाढ़ी और नाखून, छलक उठे गम के आंसूयहां PWD का बड़ा कारनामा, पेयजल पाइप लाइन के ऊपर ही बना रहे ड्रेनेज सिस्टम, गुस्साए विधायक ने की सीएम से शिकायतमोदी की लीडरशिप से वैक्सीन का रिकार्ड बनाया भारत ने: पूनियाUttar Pradesh Assembly Elections 2022: जानें बीजेपी में भगदड़ का पूर्वांचल की सियासत पर क्या होगा असरसीएम और यूडीएच मंत्री के जिलों में पार्षदों का मनोनयन, जयपुर को अब भी इंतजारमंगल ग्रह 42 दिन तक धनु राशि में करेगा गोचर, 7 राशि वालों का चमकाएगा करियरUP Elections : अखिलेश का मुकाबला करने के लिए बीजेपी ने 'हिंदू पहले' की नीति अपनाईभाजपा की सूची जारी होने के बाद प्रत्याशी के विरोध में पूर्वांचलियों का हंगामा, झड़प के बाद आधा दर्जन हिरासत में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.