डिवाइडरों की कटिंगों पर नहीं है बे्रकर, एक साल में चार तीन हो चुकी मौते

शहर की प्रमुख सड़कों पर नगरपालिका द्वारा डिवाइडर बनाए गए है। लेकिन डिवाइडरों की कटिंगों पर ब्रेकर नहीं बनाए गए।

By: akhilesh lodhi

Published: 26 Jun 2020, 06:00 AM IST


टीकमगढ़.शहर की प्रमुख सड़कों पर नगरपालिका द्वारा डिवाइडर बनाए गए है। लेकिन डिवाइडरों की कटिंगों पर ब्रेकर नहीं बनाए गए। जहां कई तेज रफ्तार वाहनों की आवाजाही बनी रहती है। जिसके कारण दो की मौत नयाबस स्टेंड की कटिंगों पर वाहनों से हो गई थी। इसके बाद भी जिम्मेदारों द्वारा ब्रेकर नहीं बनाए गए है।
कलेक्ट्रेट संयुक्त कार्यालय से लेकर अस्पताल और अस्पताल से सिंधी धर्मशाला तक डिवाइडर, गांधी चौराहा से घंटाघर तक ,शासकीय कन्या महाविद्यालय वीरांगना रानी अबंती बाई लोधी कॉलेज से अम्बेडकर और अम्बेडकर से नया बसस्टेंड तक डिवाइडरों को नगरपालिका द्वारा निर्माण किया गयाा था। उन्हीं डिवाइडरों के बीच में कई कॉलोनियों के लिए रास्ता बनाए गए है। लेकिन सामने से आने वाले वाहनों की रफ्तार कम करने के लिए जिम्मेदार विभाग द्वारा ब्रेकर नहीं बनाए गए है। जिसके कारण आए वाहन की टक्कर तो होती ही रहती है। इसके साथ ही लोगों को परेशान भी होना पड़ रहा है। जबकि डिवाइडरों की कटिंगों पर चार से अधिक मौते हो चुकी है।
इन स्थानों पर हुई थी मौते
डिवाइडरों में कटिंग नहीं होने के कारण दो साल में चार से अधिक मौते हो चुकी है। एक मौत तो तीन दिन पहले ही हुई है। नगर के चकरा तिगैला, अस्पताल चौराहा, नयाबस स्टेंड के साथ मऊचुंगी कृषि विभाग के पास घटनाए हो चुकी है। इसके साथ ही खादीमोद्योग के साथ स्पीड पेट्रोल पम्प के पास अधिकांश घटनाए होती है। घटनाओं को रोकने के लिए कही भी संकेतिक चिन्ह नहीं लगाए गए।


वीआईपी स्थानों पर लगाए गए सिर्फ ब्रेकर
नगर के सिविल लाइन के साथ एसपी ऑफिस और कलेक्टर बंगला के पास ही ब्रेकर बनाए गए है। इसके अलावा ३० से अधिक ऐसे स्थान है। जहां आए दिन दो से तीन घटनाएं होती रहती है। जबकि मामले की सूचना स्थानीय लोगों ने यातायात पुलिस के साथ पीडब्ल्यूडी विभाग से की थी। इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है।
यहां से होती सघन वाहनों की आवाजाही
चकरा तिगैला के साथ रेलवे स्टेशन, संयुक्त कार्यालय, अस्पताल चौराहा, अम्बेडकर, घंटा घर के साथ गांधी चौराहा पर दिन में हजारों वाहनों की आवाजाही होती है। जिनकी अधिकांश रफ्तार ५० से ७० रहती है। यह रफ्तार प्रशासन द्वारा लगाए गए सीसी टीवी कैमरों में भी देख सकते है।
इनका कहना
नगर में जहां डिवाइडर बनाए गए थे। वह जमीन किसी दूसरे विभाग की है। उन्होंने डिवाइडर निर्माण के लिए सिर्फ एनओसी ही दी थी। डिवाइडरों की कटिंगों पर बे्रकर लगाना जरूरी है। जल्द ही बे्रकर लगाने के प्रयास किए जाएगें।
हरिहर गंर्धव सीएमओ नगरपालिका टीकमगढ़।

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned