scriptस्कूलों में वितरण करने वाली किताबों से भरे कक्ष में कक्षाएं लगाने नहीं मिल रही जगह | Patrika News
टीकमगढ़

स्कूलों में वितरण करने वाली किताबों से भरे कक्ष में कक्षाएं लगाने नहीं मिल रही जगह

किताबों से भरा कक्ष

टीकमगढ़Jul 03, 2024 / 11:17 am

akhilesh lodhi

किताबों से भरा कक्ष

किताबों से भरा कक्ष

एक हजार बच्चों के लिए कक्ष में भरी किताबें

टीकमगढ़. नया शिक्षा सत्र शुरू हो गया है और 1 जुलाई से स्कूलों में विद्यार्थी पहुंचने लगे हैं, लेकिन नगर में स्थित सीएम राइज स्कूल की हालत यह है कि यहां के कक्ष में किताबें भरी है। छात्रों को बैठने के लिए जगह नहीं है। मजबूरन एक कक्ष में तीन-तीन कक्षाएं लगाई जा रही है। वहीं बाकी बच्चे अपने घर लौV रहे है। उसके बाद भी अधिकारियों का ध्यान नहीं है।
विदित हो कि नगर के शसकीय उत्कृष्ट विद्यालय के भवन को तोडक़र सीएम राइज विद्यालय के लिए नया भवन तैयार किया जा रहा है। स्कूल सुचारू रूप से संचालित हो सके, इसके लिए प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं का संचालन जूनियर बेसिक स्कूल के भवन को अलॉट मेंट किया गया था। लेकिन यहां बच्चों को वितरण करने आई आई किताबों से भवन कक्ष भरे हुए है। बच्चों को बैठने जगह नहीं मिलने पर वापस घर लौट रहे है।
5 कक्ष में भरी किताबें, 1000 बच्चों के लिए मात्र दो कक्ष
सीएम राइज विद्यालय का संचालन जूनियर बेसिक स्कूल के११ कक्षों में किया जा रहा है। जिसमें सुबह 7 से 12 बजे तक माध्यमिक शाला एवं 12 बजे से 5 बजे तक प्राथमिक शाला का संचालन होना तय हुआ है, लेकिन यहां ५ कक्षा में पहले से ही किताबें भरी है। बीईओ एवं बीआरसी ने अभी तक ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों में किताबें नहीं पहुंचाई है। वहीं एक कक्ष में माध्यमिक शाला और दूसरे कक्ष में प्राथमिक शाला का ऑफि स संचालित है। जबकि प्राथमिक शाला में करीब 550 एवं माध्यमिक शाला में 450 बच्चे दर्ज है।
इनका कहना
यहां के कक्ष में किताबें भरी है, इसके लिए बीईओ एवं जन शिक्षक को पत्र भी लिख चुके है। जल्द ही कक्ष खाली हो जाएंगे। जिससे कक्षाएं लग सके।
एम एल अहिरवार, संकुल प्राचार्य जतारा।
जल्द ही विद्यालय कक्ष से किताबों को अन्य जगह स्थानांतरण किया जाएगा। सभी कक्षों को खाली कराने के लिए Oयवस्था की जा रही, ताकि नियमित रूप से कक्षाएं संचालित हो सके।
एमपी खरे, बीईओ जतारा।

Hindi News/ Tikamgarh / स्कूलों में वितरण करने वाली किताबों से भरे कक्ष में कक्षाएं लगाने नहीं मिल रही जगह

ट्रेंडिंग वीडियो