scriptTraffic connecting gram panchayats affected | बारिश से टूट गई पुलियां और मिट्टी के साथ सीसी सड़कें | Patrika News

बारिश से टूट गई पुलियां और मिट्टी के साथ सीसी सड़कें

कोरोना काल में प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के एक ग्राम पंचायतों में दर्जनों निर्माण कार्य किए गए। लेकिन वह निर्माण कार्य बारिश में अपनी गुणवत्ता बता रहे है।

टीकमगढ़

Published: August 04, 2021 08:27:18 pm


टीकमगढ़.कोरोना काल में प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के एक ग्राम पंचायतों में दर्जनों निर्माण कार्य किए गए। लेकिन वह निर्माण कार्य बारिश में अपनी गुणवत्ता बता रहे है। कई ग्राम पंचायतें ऐसी है। जहां सड़कें बारिश में टूट चुकी है। इसके साथ ही पुलियां भी दरक खा गई है। कई गांवों का तो आवागमन प्रभावित हो गया है।
टीकमगढ़ और निवाड़ी जिले की ग्राम पंचायतों में बनाई गई मिट्टी मुरम की सड़कें और पुलियां पानी के बहाव में टूट गई है। कई पुलिया और तालाबों की बधाने पिछले वर्ष की बारिश में बह गए थे। लेकिन जनपद पंचायत के साथ जिला पंचायत द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। वहीं कई निर्माण अधूरे पड़े है। जहां से निकलना भी मुश्किल हो गया है। ग्रामीणों को घर तक पहुुंचने के लिए रास्तोंं को खोजना पड़ता है।
टूट गया है सम्र्पक, अधिकारियों का नहीं ध्यान
लुहरगुवां निवासी महेंद्र प्रताप सिंह बुंंदेला, राकेश सेन, अमान कुशवाहा, दिनेश कुशवाहा, सुरेश सेन कल्लू, कल्याण कुशवाहा ने बताया कि लुहरगुवां और ममौरा को जोडऩे के लिए नाले में पुलिया निर्माण की गई थी। लेकिन वह बारिश में टूट गई है। खाकरौन को जोडऩे वाले रास्ते का पुल भी टूट गया है। वहीं पानी रोकने के लिए पिछले वर्षो में स्टाप डेम निर्माण किया गया था। लेकिन वह टूटकर पानी में बह गया है। जहां शासन की राशि को नुकसान पहुंचा है।

 Traffic connecting gram panchayats affected
Traffic connecting gram panchayats affected
बगार भाटा का टूटा सम्र्पक
पलेरा जनपद पंचायत क्षेत्र के वार्ड क्रमांक ३ में आदिवासी मोहल्ला है। उस मोहल्ला को जोडऩे के लिए पिछले वर्ष मिट़्टी मुरम सड़क निर्माण की थी। लेकिन वह सड़क पांच दिनों की रिमझिम बारिश में टूट गई है। जहां उस मोहल्ले के लोग शहर जाने के लिए दूसरा रास्ता खोज रहे है। सड़क निर्माण के लिए आदिवासी मोहल्ले के लोगोंंं ने प्रशासन से मांग की है।
धसकने लगी छह दिन पूर्व बनाई सीसी सड़क
निवाड़ी के शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कन्या हॉस्टल में सीसी सड़क निर्माण कार्य किया गया था। उसमें गुणवत्ताहीन सामग्री का उपयोग किया गया था। उसमें सीमेंट की जगह सिर्फ मिट्टी डालकर खानापूर्ति कर दी गई। जहां लगातार हो रही बारिश के कारण सीसी नीचे से धसक कर खोखली हो गई है। नगर वासियों ने कलेक्टर का ध्यान अपेक्षित करते हुए सीसी रोड के निर्माण की गुणवत्ता की जांच करवा कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परOBC Reservation: ओबीसी राजनीतिक आरक्षण पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, आ सकता है बड़ा फैसलाUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दमरोहित शर्मा को क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए टेस्ट कप्तान, सुनील गावस्कर ने समझाई बड़ी बातखत्म हुआ इंतज़ार! आ गया Tata Tiago और Tigor का नया CNG अवतार शानदार माइलेज के साथकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.