अवैध रूप रहवासी क्षेत्र में संचालित हो रही ट्रांसपोर्ट, भारी वाहनों मुख्य सड़कों पर जमाए रहते कब्जा

नगर के ढोंगा रोड़ रहवासी क्षेत्रों में ट्रांसपोर्ट कम्पनियां संचालित हो रही है। जहां से कई कॉलोनियों सहित सैकड़ों गावों के लोगों की आवाजाही बनी रहती है।

By: akhilesh lodhi

Published: 10 Apr 2019, 08:00 AM IST


टीकमगढ़.नगर के ढोंगा रोड़ रहवासी क्षेत्रों में ट्रांसपोर्ट कम्पनियां संचालित हो रही है। जहां से कई कॉलोनियों सहित सैकड़ों गावों के लोगों की आवाजाही बनी रहती है। लेकिन ट्रांसपोर्ट कम्पनी संचालकों द्वारा भारी वाहनों को मुख्य सड़कों पर खड़ा कर दिया जाता है। जिसके कारण आए दिन कई घटनाएं घटित होती रहती है। मामले में न तो नगरपालिका द्वारा कोई ठोस कदम उठाया जा रहा है औ न ही यातायात पुलिस द्वारा वाहनों को हटाने की कार्रवाई की जा रही है।
ढोंगा रोड़ पर ट्रांसपोर्ट कम्पनियों के भारी वाहनों ने यातायात व्यवस्था बेलगाम कर दी है। ट्रांसपोर्ट वाहन और ट्रांसपोर्ट का माल मुख्य सड़क पर रख दिया जाता है। यही सड़क मुख्य बाजार, सरकारी ऑफिस के साथ कई निजी और सरकारी स्कूलों के लिए गुजरती है। इसके साथ ही इस सड़क से सैकड़ों गांवों की जनता और कई कॉलोनियों के लोगों का आना जाना लगा रहता है। इस सड़क पर रात के साथ-साथ दिन में भी वाहनों की कतारों से लोगों को राहत नहीं है। जबकि नगरपालिका द्वारा ट्रंासपोर्ट कम्पनियों के लिए जगह निश्चित कर दी है। लेकिन इनके द्वारा उस जगह पर ट्रांसपोर्ट कम्पनियां न चलाकर रहवासी क्षेत्रों में व्यापार को बड़ा रहे है। इन कम्पनियों पर न तो नगरपालिका का ध्यान है और न ही यातायात पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही है।
ढोंगा रोड़ से निकलने में असुरक्षित है आमजन
यह सड़क मुख्य बाजार, सरक ारी ऑफिस, निजी स्कूल और सरकारी स्कूलों में जाने वाली सड़क है। इसी सड़क पर लोहे की ट्रांसपोर्ट, सीमेंट ट्रांसपोर्ट, पाइपों की ट्रांसपोर्ट के साथ अन्य आधा सैकड़ा ट्रांसपोर्ट संचालित है। लोहे की ट्रांसपोर्टो के पास से निकलने वालों लोगों के साथ कई बार घटनाएं घटित हो चुकी है। इन दिनों इस सड़क से निकलना खतरे से खाली नहीं है। जिसके कारण यहां से निकलने वाले लोग असुरक्षित बने हुए है। मामले की शिकायतें भी की गई। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई है।
रहवासी क्षेत्र में ट्रांसपोर्ट होने से बना रहता है खतरा
इस जगह पर ट्रांसपोर्ट होने के कारण सड़क से निकलने वाले लोगों को हमेशा ही खतरा बना रहता है। लेकिन ट्रांसपोर्ट में आने वाले कई प्रकार के ज्वलनशील सामान भी हजारों क्विंटल में आता है। संचालक ट्रांसपोर्ट का गोदाम रहवासी क्षेत्रों में बनाए हुए है। जहां न तो अग्निशमन यंत्र हैऔर न ही आग की घटनाओं को रोकने के कोई उपाय। जहां यह क्षेत्र असुरक्षित बना हुआ है।


कई बार हो चुकी है भारी वाहनों से घटनाएं
ढोंगा रोड़ पर ट्रांसपोर्ट कम्पनियों के भारी वाहनों के खड़े होने और सड़क पर कम जगह मिलने के कारण कई घटनाएं घटित हो चुकी है। इसके साथ ही वाहनों को लेकर कई बार तो विवादों की स्थिति भी बनी गई है। मामला कोतवाली तक पहुंचा। लेकिन जिम्मेदारों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई।
शहर से दूर होना चाहिए ट्रांसपोर्ट
ट्रांसपोर्ट कम्पनियों में जिले के दुकानदारों का कईप्रकार का सामान दूसरे जिलों और महानगरों से आता है। जहां से भारी वाहनों की आवाजाही बनी रहती है। इसके साथ ही वाहनों में रखे माल को रखने के लिए पर्याप्त जगह होनी चाहिए। लेकिन छोटी सी दुकान में ही ट्रांसपोर्ट संचालित की जा रही है। यहां न तो नियमों का पालन किया जा रहा है और न ही आमजनों के लिए सुविधाएं बनाई जा रही है।
इनका कहना
ट्रांसपोर्टो का एरिया शहर से अगल होना जरुरी है। मुख्य सड़कों पर दिन के समय भारी वाहनों को नहीं रखना चाहिए। वहां से ट्रांसपोर्टो के भारी वाहनों को हटवाने का अभियान जल्द शुरू किया जाएगा। जिससे लोगों को असुविधा न हो।
उत्तम सिंह कुशवाहा सूबेदार यातायात पुलिस टीकमगढ़।
रहवासी क्षेत्र में ट्रांसपोर्ट संचालित होना करना गलत है। ट्रांसपोर्टो के लिए नपा द्वारा जहां जगह दी है। वहां पहुंचाने के प्रयास किए जाएगें।
माधूरी शर्मा सीएमओ नगरपालिका टीकमगढ़।

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned