video Story: बुंदेलखंड की अयोध्या ओरछा में श्री राम जानकी विवाह

- बुंदेलखंड की अयोध्या ओरछा में महोत्सव
- बुंदेली परंपरा से श्रीराम जानकी विवाह
- तेल, हल्दी के बाद हुआ मंडप पूजन
- शाम को जानकी मंदिर के लिये बारात
- दुल्हा बन पालकी में रामराजा सरकार

By: Hitendra Sharma

Published: 19 Dec 2020, 04:23 PM IST

Tikamgarh, Tikamgarh, Madhya Pradesh, India

टीकमगढ़. मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले के ओरछा को बुंदेलखंड की अयोध्या भी कहा जा ता है आज कल राजा राम की नगरी ओरछा में रामराजा सरकार का विवाह महोत्सव चल रहा है। विवाह महोत्सव में हर रोज बुंदेली परंपरा से राजा राम की शादी की रस्मे निभाई जा रही हैं। पहले तेल चढ़ाया गया दूलरे दिन हल्दी की रस्म हुई और मण्डप का पूजन कर भगवान के कुलदेवता की पूजा की गई, शुक्रवार को मर्यादा पुरुषोत्तम रामराजा मंडप पूजन के बाद पंगत नहीं हो सकी। इस बार कोरोना के चलते श्रद्धालुओं को श्रीरामराजा धर्मशाला में बूंदी का प्रसाद वितरण किया गया।

मंडप में 25 हजार लोगों के लिए प्रसाद तैयार किया जिसे 100 हलवाइयों ने बनाया। आज राजसी ठाटवाट से भगवान की निकलेगी बारात, राजा राम की बारात में बुन्देलखण्ड के बाद्ययंत्र रमतूला, शहनाई,ध्वज पताका, मिसाइलें ,और विभिन्ना झांकियां ,डीजे, बैंड बाजे, घोड़े ,हाथी , दिल दिल घोड़ी,एवं विभिन्ना झांकियां, कई रंग बिरंगे रोशनी से सुसज्जित और आतिशबाजी की जाएगी। बारात रामराजा मंदिर से शाम 7:30 बजे जानकी मंदिर के लिए निकलेगी। श्रीराम पालकी में दूल्हे के रूप में विराजमान होंगे, पूरे ओरछा में बारात पर फूल बरसाये जाएंगे और हर द्वार पर भगवान की आरती उतारी जाएगी। ओरछा में राजाराम के विवाह महोत्सव की शुरुआत रियासत काल से हुई जिसे अब स्थानीय प्रशासन भी उत्सव के रुप में मनाता है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned