परिवहन कम्पनी को लाभ देने नान १० किमी की जगह ८० किमी दूर वेयर हाउस पर जमा कर रही अनाज

जिले में १०४ खरीद केंद के अनाज परिवहन करने का ठेका वैशाली ट्रांसपोर्ट कम्पनी को दिया गया है।

By: akhilesh lodhi

Published: 18 Apr 2021, 09:14 PM IST


टीकमगढ़.जिले में १०४ खरीद केंद के अनाज परिवहन करने का ठेका वैशाली ट्रांसपोर्ट कम्पनी को दिया गया है। कम्पनी द्वारा प्रतिदिन ९० फीसदी से अधिक अनाज का परिवहन होना शर्त में बताया गया है। वहीं खरीद केंद्र से नजदीकी वेयर हाउस में अनाज जमा करने के निर्देश दिए गए है। लेकिन नागरिक आपूर्ति निगम की मनमानी के कारण नजदीकी वेयरहाउसों को छोड़ ८० किमी दूर वेयर हाउसों पर समर्थन मूल्य का अनाज परिवहन जा रहा है। लम्बी दूरी पर परिवहन का लाभ ट्रांसपोर्ट को दिए जाने की चर्चा विभाग में की जा रही है।
जिले के पलेरा, लारौन, छिदारी, देरी, कोठरा, बल्देवगढ़, अचर्रा, चंदेरा के साथ अन्य स्थानों पर पर्याप्त समर्थन मूल्य के अनाज को रखने के लिए जगह है। लेकिन ट्रासंपोर्ट कम्पनी द्वारा जबरन नजदीकी वेयर हाउसों में अनाज ना रखकर ८० किमी दूर बडौराघाट वेयर के साथ अन्य हाउसों में रखा जा रहा है। जहां परिवहन कम्पनी को लाभ देने की बात की जा रही है। इसके साथ ही अनाज परिवहन ९० फीसदी तक नहीं किया जा रहा है। वहीं एक वाहन में १२० क्विंटल की जगह १८० क्विंटल अनाज को भरकर परिवहन किया जा रहा है। जिसकी जांच जिला प्रशासन द्वारा नहीं की जा रही है।
यहां की यह है स्थिति
पलेरा के लारौन में पर्याप्त मात्रा में वेयर हाउसों में अनाज रखने के लिए जगह है। वहां पर आलमपुरा और लारौन में खरीद केंद्र बनाया गया है। लेकिन आलमपुरा केंद्र पलेरा में बनाया गया है। जबकि पलेरा मे वेयर हाउस है। लेकिन वहां का अनाज पलेरा में जमा नहीं किया जा रहा है। वहीं छिदारी से पलेरा की दूरी १० से १२ किमी है। लेकिन छिदारी से ८० किमी दूर हजूरीनगर डिवाइन अनाज परिवहन किया जा रहा है। इसके साथ ही कोठरा, देरी का भी अनाज बडौरा घाट वेयर हाउस पर रखा जा रहा है। इसके साथ ही कुडयाला, पटौरी और एरौरा का अनाज भी टीकमगढ़ परिवहन किया जा रहा है।
यहां भी मनमानी, लेकिन नहीं हो रही जांच
चंदेरा में वेयर हाउस को बनाया गया है। उस वेयर हाउस को भरने के लिए नान में पत्र भी दिए गए है। लेकिन नान द्वारा चंदेरा से लिधौरा वेयर हाउस में अनाज रखा जा रहा है। इसके साथ ही अचर्रा और मोहनगढ़ खरीद केंद्र के पास पर्याप्त मात्रा में वेयर में अनाज रखने की जगह है। लेकिन ज्यौरा के पास के वेयर हाउस में अनाज जमा कर रहे है। नान की मनमानी से ट्रांसपोर्ट कम्पनी को लाभ पहुंचाया जा रहा है।
ट्रांसपोर्ट कम्पनी के पास है २५ वाहन
परिवहन कम्पनी के पास २५ वाहन है। लेकिन उनके द्वारा कई वाहन बगैर अनुमति के भी लगाए गए है। इसके साथ ही उन वाहनों में १२० क्विंटल से अधिक अनाज को लोड नहीं कर सकते। लेकिन कम्पनी द्वारा १२० क्विंटल की जगह १८० क्विंटल रखकर परिवहन किया जा रहा है। जिनकी जांच नान द्वारा नहीं की जा रही है।
नजदीकी खरीद केंद्र के पास भण्डारण के भेजे गए थे प्रस्ताव
जिले में १०४ खरीद केंद्र बनाए गए है। उन केंद्रों के पास वेयर हाउस है। जिनमें पर्याप्त मात्रा में जगह पड़ी है। जिसके प्रस्ताव जिला प्रबंधक मप्र वेयर हाउसिंग एण्ड लॉजिस्टिक्स कार्पेरेशन द्वारा नागरिक आपूर्ति निगम के साथ कलेक्टर को दिया गया है। लेकिन नान द्वारा उन वेयर हाउसों में अनाज का भंडारण ना करके ट्रांसपोर्ट कम्पनी को लाभ देने के उद्देश्य से ८० किमी दूर परिवहन किया जा रहा है। इस प्रकार के परिवहन से जिला प्रशासन को घाटा और कम्पनी को लाभ मिलने की चर्चा विभाग में की जा रही है।
जिले में अनाज रखने पर्याप्त है जगह
जिले में २५ लाख क्विंटल अनाज रखने की जगह है। उन्हीं स्थानों पर खरीद केंद्र बनाए गए है। लेकिन वहां की स्थिति उलट है। हाल ही में ७ हजार ५०९ किसानों द्वारा २ लाख ७९ हजार ३६३ क्विंटल अनाज समर्थन मूल्य में बेचा गया है।एण्ड लॉजिस्टिक्स कार्पेरेशन टीकमगढ़।


इन विभागों द्वारा की जारही देखरेख
उपार्जन एजेंसी नागरिक आपूर्ति निगम, मप्र वेयर हाउसिंग एण्ड लॉजिस्टिक्स कार्पेरेशन, जिला विपणन अधिकारी, खाद्य विभाग, उपायुक्त सहकारिता विभाग, महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक, कृषि विभाग, कृषि उपज मंडी सचिव और नजूल विभाग के अधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है।
इनका कहना
वेयर हाउसों के नजदीक खरीद केंद्र बनाए गए है। वेयर हाउसों में पर्याप्त जगह होने का प्रस्ताव भी उपार्जन समिति के साथ नान को दे चुके है। कुछ वेयर हाउसों की मैपिंग शेष है। अतिरिक्त अनाज टीकमगढ़ के वेयर हाउसों में आ रहा होगा। नजदीकी वेयर हाउसों में अनाज ना रखकर लम्बी दूरी पर परिवहन कर्ता ला रहे है तोवह गलत है। उसका लाभ परिवहन को होगा।
एसएस चौहान जिला महाप्रबंदक मप्र वेयर हाउसिंग

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned