scriptbest 7 south indian cinema movie list | साउथ की सात जबर फ़िल्में, जो हिन्दी में हैं और अपनी दमदार कहानी के लिए जानी जाती हैं! | Patrika News

साउथ की सात जबर फ़िल्में, जो हिन्दी में हैं और अपनी दमदार कहानी के लिए जानी जाती हैं!

आपके लिए आज लेकर आए है साउथ इंडियन फ़िल्मों की वो जबर लिस्ट, जिन्हें बिना रूपया-पैसा खर्च फ्री में देखा जा सकता है। टेंशन न लो... ये हिंदी में डब हो चुकी हैं

नई दिल्ली

Published: April 01, 2022 04:27:18 pm

साउथ इंडियन फिल्मों की बात जरा हटके होती है, इनके एक्शन और काॅमेडी सीन ने अलग ही पहचान बनाई है लेकिन आज के समय में यह यहीं तक सीमित नहीं है, अब साउथ की फिल्मों ने भी अपना लेवल हाई कर लिया है और हर मामले में बाॅलीवुड को टक्कर दे रही है। साउथ की ब्लॉकबस्टर फिल्म पुष्पा तो आपको खूब पसंद आई होगी। फिल्म में अल्लू अर्जुन के एक्शन सीन ने लोगों का दिल जीत लिया है। इन दिनों साउथ की आरआरआर सिनेमा घरों में धमाल मचा रही हैं।
south movie
और बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई कर रही है। इसी बीच केजीएफ-2 का ट्रेलर रिलीज होने से लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है। ऐसे में आपके मनोरंजन के लिए हम साउथ सिनेमा की फिल्मों की एक लिस्ट लेकर आए है जो हिंदी में डब की जा चुकी हैं। जिन्हें बिना पैसे खर्च किए फ्री में देखा जा सकता है।
1. केजीएफ (KFG) 2018
केजीएफ कहानी है रॉकी नाम के एक किरदार की, जिसकी मां मरने से पहले उससे कहती है बेटा जैसे मर्जी वैसे जिओ मगर मरने से पहले दुनिया का सबसे अमीर आदमी ज़रूर बनना। वहीं फिल्म के बैकड्रॉप की बात करें तो वह 'गैंग्स ऑफ़ वासेपुर' की तरह एक माइनिंग फ़ील्ड है। कुल मिलाकर इस फिल्म में वो सबकुछ है। जो हम जैसे दर्शकों को चाहिए...फिर चाहे वो ड्रामा हो। इमोशन हो, या फिर म्यूज़िक। रॉकी यानी यश ने जो फिल्म के अंदर काम किया है वो इस फिल्म की सबसे मजबूत कड़ी है। इस फिल्म का निर्देशन प्रशांत नील ने किया है।
2. विश्वरूपम (Vishwaroopam) 2013
जासूसी के ऊपर बनी इस फिल्म की कहानी एक कबूतर के दुकान से शुरू होती है। जहां एक बूढ़ा आदमी एक कबूतर को खाना खिलाकर उड़ा देता है। आगे कबूतर एक ऊंची बिल्डिंग पर जाकर बैठ जाता है। जोकि मनोविज्ञानी की होती। इस फिल्म में कमल हासन मुख्य किरदार में हैं। फिल्म के अंदर उनकी पत्नी यानी पूजा उनके अजीबो-गरीब व्यवहार को देखकर उसकी सच्चाई जानने के लिए वह एक जासूस रखती हैं। 2018 में इस फिल्म का दूसरा पार्ट भी बनाया गया। मगर दूसरे वो बात नहीं है। जो पहले में है। इस फिल्म के निर्माता और निर्देशक दोनों कमल हासन है।
3. मरयन (Maryan) 2013
मरयन मतलब कभी न मरने वाला। फिल्म की कहानी मरयन से ही शुरू होती है, जो मछली पकड़ने का काम करता है। फिल्म के अंदर एक गांव की लड़की को मरयन से प्यार हो जाता है। मगर मरयन अपनी ही धुन में रहता है। हालांकि, आगे उसे भी गांव की उस लड़की से प्यार हो जाता। फिल्म उस वक्त मोड़ ले लेती है, जब मरयन पैसे कमाने के लिए सूडान चला जाता और उसकी पकड़ हो जाती है। भारत बाला के निर्देशन में बनी इस फिल्म पार्वती के साथ राझना वाले धनुष ने काम किया किया है।
4. डियर कॉमरेड (Dear Comrade) 2019
ये फिल्म बॉबी और लिली की कहानी है। लिली क्रिकेट की दीवानी होती है, और देश के लिए खेलना चाहती है। वहीं बॉबी उसका प्रेमी है. बॉबी के गुस्से के कारण दोनों फिल्म में अलग हो जाते हैं। फिर जब कई साल मिलते हैं तो देखते हैं कि लिली का क्रिकेट छूट गया होता है। आगे बाबी इसका कारण जानने की कोशिश करता रहता है। भारत कैमा इस फिल्म के निर्देशक हैं।
5. दशावतारम (Dashavtar) 2008
इस फिल्म में कमल हसन ने कमाल का काम किया है। बूढ़ी अम्मा, अंग्रेज, चीनी, बंगाली बाबू, सरदार, जैसे दस अलग-अलग किरदारों में उसका अभिनय बेजोड़ है। फिल्म की कहानी की बात करें तो वह 12वीं सदी से शुरू होती है, और 21 वीं सदी पर आकर खत्म होती है। इसे के.एस. रविकुमार ने डॉयरेक्ट किया है।
6. घातक रात (Ghatak Raat) 2018
छठवीं आप आ कराला रात्रि देख सकते हैं, जिसे हिन्दी में घातक रात नाम से डब किया गया है... कहानी की शुरूआत एक अतरंगी से परिवार के साथ शुरू होती है, जोकि कर्नाटक के एक छोटे से परिवार में रह रहे होते हैं, और जैसे-तैसे अपनी जीवन काट रहे होते हैं। एक दिन इनकी मुलाकात एक भविष्य बताने वाले इंसान से होती है, जो बताता है कि जल्दी इनते दिन बदल जाएंगे। छप्पर फाड़ कर इन्हें पैसा मिलेगा, बस उन्हें उसका सही इस्तेमाल करना है। इस फिल्म की अंत बड़ा धांसू है, जो इसे खास और रोमांचक बनाता है।
7. 'शिवाजी: द बॉस' (Shivaji: The Boss) 2007
अब साउथ इंडियन फिल्में देखी जाएं और उसमें रजनीकांत की फिल्म ना हो, ऐसा हो ही नहीं सकता। लिहाज़ा सातवें विकल्प के रूप में 'शिवाजी: द बॉस' देखी जा सकती हैं। रजनीकांत का अंदाज इस फिल्म को बार-बार देखने के लिए प्रेरित करता है। फिल्म की कहानी शिवाजी के इर्द-गिर्द घूमती है, जो विदेश से भारत लौटता है और समाज कल्याण में लग जाता है। उसके रास्ते में कई मुश्किलें आती हैं, मगर अंत में जीत उसी की होती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

जापान में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत, टोक्यो में जापानी उद्योगपतियों से की मुलाकातज्ञानवापी मस्जिद मामलाः सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई एक और याचिका, जानिए क्या की गई मांगऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में भीषण सड़क हादसा, पूर्णिया में ट्रक पलटने से 8 लोगों की मौतश्रीनगर पुलिस ने लश्कर के 2 आतंकवादियों को किया गिरफ्तार, भारी संख्या में हथियार बरामदGood News on Inflation: महंगाई पर चौकन्नी हुई मोदी सरकार, पहले बढ़ाई महंगाई, अब करेगी महंगाई से लड़ाईकोरोना वायरस का नहीं टला है खतरा, डेल्टा-ओमिक्रॉन के बाद अब दो नए सब वैरिएंट की दस्तक से बढ़ी चिंता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.