170 मछुआरें फंसे कोरोना की जाल मेें, बिहार जाने के लिए रोज कर रहे प्रदर्शन

बीसलपुर बांध पर मछली संवेदक के अधिन बिहार जिले के मछुआरे पिछले दो माह से कोरोना की जाल में फंसकर रह गए है।

By: Vijay

Updated: 10 May 2020, 05:42 PM IST

राजमहल. बीसलपुर बांध पर मछली संवेदक के अधिन बिहार जिले के मछुआरे पिछले दो माह से कोरोना की जाल में फंसकर रह गए है। यहां से गत दिनों उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों के 78 मछुआरों को प्रशासन की ओर से भेजा जा चुका है।

शेष रहे बिहार के 170 मछुआरें उपखण्ड अधिकारी सहित तहसीलदार देवली के पास जाकर गांव भेजने की गुहार लगाने के बाद भी कोई कार्रवाई नही होने के कारण मछुआरें रोजाना बीसलपुर बांध किनारे मत्स्य लैडि़ंग सेन्टर पर प्रदर्शन कर रहे है, जिससे कई बार संवेदक की ओर से मछुआरों को समझाने के लिए पुलिस का सहयोग लेना पड़ रहा है। शुक्रवार रात को मछुआरों का गुस्सा फूट पड़ा और मछली संवेदक के कार्मिकों को खरी खोटी भी सुनाई।

बाद में बीसलपुर चौकी के जवान मौके पर पहुंचे और समझाइश के बाद मामला शांत हुआ, वहीं शनिवार सुबह मछुआरों ने फिर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे मछुआरों ने बताया कि पूर्व में काफी दिनों तक संवेदक की ओर से खाने की व्यवस्था की गई, लेकिन अब बिना काम किए जेब से खाना पड़ रहा है।

आदेश नहीं मिले

मछुआरें शुक्रवार को कार्यालय में आए थे। मामले में जिला कलक्टर टोंक से बात की गई थी, लेकिन बिहार सरकार की ओर से अभी बाहरी मजदूरों को नहीं लेने के कारण प्रशासन मजबूर है। जब आदेश आएंगे तो इन्हे सुरक्षित गांव पहुंचा दिया जाएगा।
रमेश चन्द, तहसीलदार देवली।


युवक के कोरोना पॉजिटिव के सम्पर्क में आने से मचा हडक़ंप
निवाई. बरोनी थानान्तर्गत मोटूका गांव का एक युवक कोरोना पॉजिटिव के सम्पर्क में आने की सूचना मिलते ही गांव में हडक़ंप मच गया। डॉ. दिशा डासवाणी गांव मोटूका पहुंच कर युवक की स्क्रीनिंग और उसके परिवार की स्वास्थ्य जांच की।


इसके बाद डॉ. दिशा युवक को अपने साथ बरोनी ले गई। जहां 14 दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया। डॉ. दिशा ने बताया कि युवक पूर्ण स्वस्थ्य है और उसकी कोरोना टेस्ट के लिए सैम्पलिंग करवाई जाएगी। पूछताछ में युवक ने डॉ. दिशा ट्रेवल हिस्ट्री बताते हुए कहा कि वो खाटूश्याम जिला सीकर में वह एक गेस्ट हाउस में काम करता है, वहां उनकी इंचार्ज एक महिला है, जो बीमार थी।

3 मई को उसे उपचार के लिए उसके साथ चार जने जयपुर लेकर आए। जहां उनका हार्ट का ऑपरेशन होना बताया। आपरेशन से पहले कोरोना की जांच की गई तो वह महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई, जिसकी सूचना मिलते ही उपखंड अधिकारी टोंक आरएल योगी और बीसीएमएचओ डॉ.कमलेश चावला ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पराणा की प्रभारी डॉ. दिशा डासवाणी को मौके पर भेजकर क्वारंटीन के निर्देश दिए।

Vijay Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned