टोंक जिले में आए 23 नए पॉजिटिव, कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या हो गई 1650

टोंक जिले में आए 23 नए पॉजिटिव, कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या हो गई 1650

 

By: pawan sharma

Published: 01 Oct 2020, 07:08 PM IST

टोंक. जिले में कोरोना पॉजिटिव का आना जारी है। गुरुवार को भी 23 पॉजिटिव केस आए हैं। ऐसे में जिले में कुल पॉजिटिव की संख्या 1650 हो गई है। बकाया 553 नमूने है। गुरुवार को 182 नमूने लिए गए हैं।

बेटी के बाद पिता की भी कोरोना से मौत
उनियारा. कस्बे के वार्ड नम्बर13 में गत दिनों कोरोना संक्रमित पाए गए वृद्व की जयपुर में उपचार के दौरान गुरुवार को मृत्यु हो गई। जानकारी अनुसार गत दिना एक वृद्व कोरोना संक्रमित पाया गया था, जिसको गंभीर अवस्था में उपचार के लिए टोंक भेजा गया था।

जहां से उसे जयपुर रैफर कर दिया गया। जहां उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। उल्लेखनीय है कि मृतक वृद्ध की पुत्री की गत दिनों कोरोना से अलीगढ़ अपने ससुराल में मृत्यु हो गई थी, जिसके बाद मृतक वृद्ध भी कोरोना संक्रमित हो गया था।

प्रसूता निकली पॉजिटिव
लाम्बाहरिसिंह. कस्बे में प्रसूता की अजमेर जनाना अस्पताल में कोरोना जांच में पॉजिटिव पुष्टि हुई है। चिकित्सा दल ने पॉजिटिव के सम्पर्क में आए लोगों की स्क्रीनिंग किया गया।

देवली में दो पॉजिटिव
देवली.शहर में कोरोना की रफ्तार थमने की जगह लगातार बढ़ रही है। गुरुवार को भी दो पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। इनको मिलाकर शहर में कुल संक्रमितों की संख्या 171 हो गई है। संक्रमण के चलते सैंपल लेने का कार्य लगातार जारी है। 67 सैम्पल की रिपोर्ट प्रक्रियाधीन है।

शहर के कोविड प्रभारी डॉ राजकुमार गुप्ता ने बताया कि गुरुवार को 42 जांच रिपोर्ट में दो पॉजिटिव मामले मिले हैं। डॉ गुप्ता ने बताया कि पूर्व के 23 सैम्पलों की जांचों की रिपोर्ट आनी है। वही 44 सैंपल दो दिनों में लिए हैं। इनको मिलाकर कुल 67 सैंपल रिपोर्ट प्रक्रियाधीन है।

बुखार से किशोरी की मौत
आवां.कस्बे में गुरुवार सुबह दस बजे कंजर बस्ती में दिव्यांग बेसहारा किशोरी सुमन की बुखार से मौत हो गई। जानकारी अनुसार किशोरी तीन-चार दिनों से बुखार से पीडि़त थी। किशोरी के माता-पिता की मृत्यु पहले ही हो चुकी है। उसकी देखरेख करने वाला कोई नहीं था। दिव्यांग का भाई भी नेत्रहीन है।

सवेरे 10 बजे मौत के बाद किशोरी का शव 6 घंटे तक बस्ती में पड़ा रहा। बस्ती के लोगों की सूचना पर सरपंच दिव्यांश महेंद्र भारद्वाज ने धिकारियों से बातचीत कर पंचायत द्वारा मृतक किशोरी के दाह संस्कार की व्यवस्था करवाई। सरपंच भारद्वाज ने बताया कि दूरभाष पर बेसहारा दिव्यांग किशोरी की मौत की सूचना मिली थी, जिसके बाद पंचायत से मृतका के अंतिम संस्कार की व्यवस्था करवाई और अधिकारियों से बातचीत कर मृतका के भाई का उपचार करवाने एवं सहायता राशि दिलाने की मांग भी की है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned