48 श्लोकों के मंत्रोच्चार के साथ 48 दीपों को से की भगवान शान्तिनाथ की आरती

48 श्लोकों के मंत्रोच्चार के साथ 48 दीपों को से की भगवान शान्तिनाथ की आरती

Pawan Kumar Sharma | Publish: Aug, 12 2018 04:18:07 PM (IST) Tonk, Rajasthan, India

मुनि पुंगव सुधासागर के चातुर्मास में भगवान शान्तिनाथ की आरती करने के लिए श्रावक सपरिवार उमड़ रहे हैं।

 

आवां. मुनि पुंगव सुधासागर, मुनि महासागर, मुनि निष्कंप सागर, क्षुल्लक धैर्य सागर व क्षुल्लक गम्भीर सागर के चातुर्मास करने से सुदर्शनोदय अतिशय तीर्थ क्षेत्र पर भक्ति और ज्ञान से पावन धारा बह रही है।


48 श्लोकों के मंत्रोच्चार के साथ 48 दीपों को प्रज्जवलित कर भगवान शान्तिनाथ की आरती करने को श्रावक सपरिवार उमड़ रहे हैं। श्रवण कोठारी, रतन लाल जैन, कमल कुमार, शान्तिलाल, आशीष जैन, अशोक जैन आदि ने बताया कि तीर्थ क्षेत्र पर प्रतिदिन सैंकड़ों पुण्र्याजक यहां आयोजित धार्मिक कार्यक्रमो मे भागीदारी निभा रहे हैं।

 

इस दौरान मुनि सुधासागर ने प्रवचन करते हुए कहा कि मांगने से धर्म व मान की हानि होती है। आत्म सम्मान पर चोट लगती है। इन्सान की मांगने की वृत्ति को तजने मे ही भलाई है। मुनि ने कहा कि बालपन और वृद्धावस्था में सहारे की जरूरत होती है।

 

मनुष्य की जवानी अच्छा कर दिखाने के लिए होती है, जो जवानी में भी अपने माता-पिता की सम्पति पर नियत रखे उसके पुण्र्य-प्रभाव समाप्त होना शास्त्र सम्मत है। मुनि ने चेतावनी दी कि समर्थ होने के बावजूद बड़ों की सम्पति पर आश्रित होने वाले और दहेज लोभियों को श्वान के रूप में जन्म लेने का कोप भुगतना पड़ सकता है।


मुनि ने सम्पति को धर्म और परोपकार मे लगाने के पे्ररक प्रसंग भी सुनाए। मुनि ने पृथ्वीराज चौहान को दयालुता दिखाते हुए गौरी को हर बार क्षमा करने, 1962 के शरणार्थियों को अपनाने के मार्मिक प्रसंग सुनाकर श्रद्धालुओं को भाव-विभोर कर दिया।


विधान सजाया
टोडारायसिंह. आचार्य इन्द्रनंदी के ससंघ सान्निध्य में मुनि सुव्रतनाथ जिनालय में पूजा-अर्चना की। सुबह श्रीशांतिनाथ जिनालय से आचार्य इन्द्रनंदी का ससंघ बैण्डबाजे के साथ जुलूस निकालकर कटला चौराहा, कटला प्रांगण, कल्याणजी का चौक होते हुए मुनि सुव्रतनाथ जिनालय पहुंचे।

 

जहां भगवान का विधानाचार्य संजीव कासलीवाल की अगुवाई में पंचामृत अभिषेक, शांतिधारा की तथा मुनि सुव्रतनाथ विधान सजाया गया। जैन समाज के मुख्य बोली महेश जैन ने छुड़वाई तथा उनके साथ करीब ढाई सौ श्रावक श्राविकाओं ने सामूहिक पूजा-अर्चना की।

 

मीरा जयंती महोत्सव
मालपुरा. अखिल भारतीय विजयवर्गीय वैश्य महासभा शाखा मालपुरा द्वारा रविवार को केकड़ी रोड स्थित सत्संग भवन में मीरा जयंती महोत्सव आयोजित किया जाएगा। समाज अध्यक्ष रामचरण विजयवर्गीय ने बताया कि विजयवर्गीय समाज की आराध्या मीरा की जयंती धूमधाम से आयोजित की जाकर दोपहर 1 बजे से संत मस्तराम के सान्निध्य में मीरा जयंती महोत्सव एवं सत्संग का आयोजन किया जाएगा।



राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned