मेडिकल कॉलेज के लिए और मांगी साढ़े 7 बीघा जमीन

विभाग को भेजा प्रस्ताव
10 से शुरू होगा कॉलेज का निर्माण
टेंडर प्रक्रिया हो चुकी पूर्ण
325 करोड से बनेगा मेडिकल कॉलेज
जलालुद्दीन खान
टोंक. शहर के समीप यूसुफपुरा चराई में मेडिकल कॉलेज का निर्माण सम्भावित 10 अक्टूबर से शुरू होगा। भविष्य में इसके विस्तार को लेकर चिकित्सा विभाग ने समीप ही साढ़े सात बीघा जमीन और मांगी है। ताकि भविष्य में इस जमीन का उपयोग किया जाए सके।

By: jalaluddin khan

Published: 19 Sep 2021, 09:00 PM IST

मेडिकल कॉलेज के लिए और मांगी साढ़े 7 बीघा जमीन
विभाग को भेजा प्रस्ताव
10 से शुरू होगा कॉलेज का निर्माण
टेंडर प्रक्रिया हो चुकी पूर्ण
325 करोड से बनेगा मेडिकल कॉलेज
जलालुद्दीन खान
टोंक. शहर के समीप यूसुफपुरा चराई में मेडिकल कॉलेज का निर्माण सम्भावित 10 अक्टूबर से शुरू होगा। भविष्य में इसके विस्तार को लेकर चिकित्सा विभाग ने समीप ही साढ़े सात बीघा जमीन और मांगी है। ताकि भविष्य में इस जमीन का उपयोग किया जाए सके।

मेडिकल कॉलेज को लेकर गत दिनों चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. रघु शर्मा की अध्यक्षता में राजस्थान मेडिकल एजूकेशन सोसायटी की समीक्षा बैठक हुई थी। इसमें मेडिकल कॉलेज निर्माण कार्य को 15 माह में पूर्ण करने के निर्देश दिए थे। चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने नागौर, टोंक और करौली जिले में 10 अक्टूबर से निर्माण कार्य शुरू करने के निर्देश दिए थे।

हालांकि मेडिकल कॉलेज निर्माण के लिए राजमेस की ओर से गत दिनों ही निविदा जारी की जा चुकी है। मेडिकल कॉलेज के लिए 139 करोड़ रुपए स्वीकृत किए जा चुके हैं।


गौरतलब है कि 27 नवम्बर 2019 को टोंक में लगभग 325 करोड़ रुपए की लागत से मेडिकल कॉलेज खोलने के प्रस्ताव को अनुमोदित कर पूरा किया था। मेडिकल कॉलेज स्थापना का कार्य केन्द्र प्रायोजित योजना (सेन्ट्रल स्पोस्सर्ड स्कीम) के अधीन किया जा रहा है। इस योजना के तहत मेडिकल कॉलेज के निर्माण से जिले के मरीजों को जयपुर जैसी आधुनिक चिकित्सा सुविधा स्थानीय स्तर पर ही उपलब्ध हो सकेगी।

उन्हें अन्यत्र रेफर नहीं करना पड़ेगा। साथ ही चिकित्सा शिक्षा का भी विकास होगा और रोजगार के अवसर भी बढेंग़े। मेडिकल कॉलेज के निर्माण के लिए गत 12 मार्च को यूसुफपुरा चराई में 41 बीघा भूमि का आवंटन हो चुका है।


इस कॉलेज की प्रक्रियाएं जयपुर स्थित राजस्थान मेडिकल एज्युकेशन सोसायटी (राजमेस) के निदेशक एवं आयुक्त चिकित्सा शिक्षा विभाग की ओर से सम्पादित की जा रही है। कॉलेज के लिए गत 25 मार्च को सीपीआर व गत 3 जून को डीपीआर अनुमोदित की जा चुकी है। इसके बाद गत 8 जून को मेडिकल कॉलेज की स्थापना की लिए लगभग 139 करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत की जा चुकी है। शेष राशि भी समय-समय पर कार्य की प्रगति के अनुसार जारी होती रहेगी।

मरीजों को मिलेगी सुविधा
मेडिकल कॉलेज का निर्माण पूरा होने के बाद जिले के मरीजों को उपचार में सुविधा मिलेगी। उन्हें उपचार के लिए जयपुर नहीं जाना पड़ेगा। वहीं कॉलेज के समीप ही यूनानी मेडिकल कॉलेज, देवनारायण आवासीय विद्यालय, जीएसएस, नगर परिषद का डम्पिंग यार्ड है।


अक्टूबर में होगा कार्य शुरू
मेडिकल कॉलेज निर्माण के लिए निविदा जारी की जा चुकी है। अक्टूबर से निर्माण कार्य शुरू होगा। समीप ही साढ़े सात बीघा जमीन और मांगी गई है। ताकि भविष्य में इसका उपयोग कॉलेज के लिए किया जा सके।
- डॉ. खेमराज बंशीवाल, पीएमओ सआदत अस्पताल टोंक

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned