शांतिधारा से किया अभिषेक

कस्बे में जैन समाज की ओर से पंचकल्याणक की पहली वर्षगांठ पर आए आचार्य इंद्रनंदी ससंघ के सान्निध्य में बैण्ड बाजे के साथ शोभायात्रा निकाली गई। शोभा यात्रा का ग्रामीणों ने जगह-जगह पर पुष्प वर्षा कर स्वागत किया।

नगरफोर्ट. कस्बे में जैन समाज की ओर से पंचकल्याणक की पहली वर्षगांठ पर आए आचार्य इंद्रनंदी ससंघ के सान्निध्य में बैण्ड बाजे के साथ शोभायात्रा निकाली गई। शोभा यात्रा का ग्रामीणों ने जगह-जगह पर पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। शोभायात्रा के आचार्य के सान्निध्य में मूनि निपूणनंदी का केश लोंच किया गया।

इसके बाद भगवान पाŸवनाथ का शांति धारा से अभिषेक किया गया व मंडल विधान के साथ कई कार्यक्रम आयोजित हुए। इस अवसर पर पदम चंद जैन, पारस गर्ग, राजेंद्र सोनी, महावीर बज, नंदकिशोर, वर्धमान जैन, हर्ष कुमार जैन, मनोज गर्ग, राजेश मोदी, मुकेश बंसल सहित समाज के लोग मौजूद थे।


कल्याण पर्व मनाएंगे
टोंक.जैन धर्म के सातवें तीर्थंकर सुपाŸवनाथ भगवान का मोक्ष कल्याण पर्व आर्यिका विशुद्धमती ससंघ केसान्निध्य में जैन नसिया अमीरगंज में मनाया गया। इस मौके पर श्रावकों ने सुपाŸवनाथ भगवान की पूजा अर्चना कर निर्वाण लड्डू चढ़ाया।


चढ़ाया निर्वाण लड्डू
निवाइ. जैन समाज के तत्वावधान में बिचला जैन मंदिर व तेरापंथी मंदिर में भगवान सुपाŸवनाथ का मोक्ष कल्याणक महोत्सव शनिवार को अनेक धार्मिक कार्यक्रमों के साथ धूमधाम से मनाया गया। विमल जौला ने बताया कि मोक्ष कल्याणक को लेकर कपूरचन्द हेमचन्द द्वारा भगवान सुपाŸवनाथ की वृहद शांतिधारा की गई।


पीपलू(रा.क.). उपखंड क्षेत्र के संदेड़ा फार्म के वीर तेजाजी चौक में चल रही भागवत कथा की शनिवार को हवन यज्ञ में आहुतियां दिए जाने के साथ पूर्णाहुति हुई। कथावाचक रामशरण शास्त्री ने कहा कि ईश्वर तत्व एक ही है, जिसे हर मजहब में पूजा जाता है। उन्होंने बताया कि माता-पिता, गुरु की सेवा हर रोग की दवा है, जो इस सेवा की दवा पीते हैं, वह अमर हो जाते हैं। कथा के दौरान गाए भजनों पर श्रद्धालुओं ने भाव-विभोर होकर नृत्य किया। समापन के दौरान श्रद्धालुओं ने गोवंश की सेवा, सुरक्षा का संकल्प लिया। महाआरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया।


बनेठा. क्षेत्र के काबरा ग्राम पंचायत के छोटा ईसरदा गांव में गुर्जर समाज के तत्वावधान में कलश यात्रा निकाली गई। इस दौरान सार्वजनिक कुएं पर वैद्विक मंत्रोच्चार के साथ गंगा पूजन किया। इसके बाद महिलाओं ने कलश धारण किए।

MOHAN LAL KUMAWAT Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned