धांधोली मोड़ के समीप पलटी ट्रैक्टर-ट्रॉली, डेढ़ दर्जन लोग घायल, घटनास्थल पर मची चीख-पुकार

निवारिया मोड़ के समीप गुरुवार दोपहर ट्रैक्टर-ट्रॉली पलट जाने से इसमें सवार डेढ़ दर्जन यात्री घायल हो गए।

By: Kamlesh Sharma

Published: 04 Jan 2018, 05:20 PM IST

देवली (टोंक)। क्षेत्र के निवारिया मोड़ के समीप गुरुवार दोपहर ट्रैक्टर-ट्रॉली पलट जाने से इसमें सवार डेढ़ दर्जन यात्री घायल हो गए। इन्हें राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया है। इनमें दो यात्रियों की हालत नाजुक होने पर चिकित्सकों ने उन्हें अन्यत्र रैफर कर दिया।

दूनी थाना प्रभारी घीसालाल राव ने बताया कि सभी घायल निवारियां गांव के एक ही परिवार के हैं। वे सभी गांवड़ी गांव के समीप केरिया नामक स्थान पर बेटी की मेहन्दी की रस्म उतारने जा रहे थे।

इस दौरान निवारिया मोड़ के ब्रेकर से उछलकर ट्रैक्टर-ट्रॉली पलट गई। इसमें सुनील बैरवा, मंशा, शांति, दीपा देवी, अजय बैरवा, खुशी, करुणा, लोकेश, कल्याण, छोटूलाल बैरवा, सोना, रोशन, मोनिका, कौशल कुमार, नौसर देवी, भूला देवी, रेखा व रसाली घायल हो गए। शांति व सुनील कुमार को रैफर किया है। हादसे के बाद घटनास्थल पर चीख-पुकार मच गई। एम्बूलेंस ने घायलों को देवली अस्पताल में भर्ती कराया। हादसे के बाद अस्पताल में परिजनों व लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। पुलिस उपाधीक्षक नरेन्द्र मोहन शर्मा ने पहुंचकर घायलों की कुशलक्षेम पूछी तथा हादसे की जानकारी ली।

खुशियां बदली चीख पुकार में
निवारियां के बैरवा परिवार के लोग गांवड़ी गांव के पास स्थित केरिया में मेहन्दी की रस्म उतारने जा रहे थे। कुछ ही दूरी पर निवारियां मोड़ के समीप हादसा हो गया। ट्रैक्टर—ट्रॉली में सवार रेखा ने बताया कि सब कुछ ठीक ठाक चल रहा था। महिलाएं भी गीत गा रही थी। इसी बीच ब्रेकर पर ट्रैक्टर-ट्रॉली उछलकर पलट गई। इसके बाद उसे कुछ याद नहीं है। बाद में सब एक-दूसरे को सम्भाल रहे थे।

चिकित्सकों ने दिखाई तत्परता
हादसे के बाद राजकीय अस्पताल के सभी चिकित्सकों ने तत्परता दिखाई। चिकित्सालय प्रभारी डॉ. राजेन्द्र गुप्ता, सुधीर माथुर, जगदीश कुमावत, जगन मीणा, रवि मिश्रा, राजकुमार गुप्ता, नर्सेज पवन जैन, लकी शर्मा आदि ने घायलों का तत्काल उपचार शुरू कर दिया। इनमें से कई नर्सेज तो घायलों को सांत्वना भी दे रहे थे। लोगों की भीड़ को रोकने के लिए वार्ड का गेट बंद करना पड़ा।

याद आया धांधोली हादसा
उल्लेखनीय है कि 10 जनवरी 2016 को भी धांधोली मोड़ के पास रोडवेज बस पलटने से बड़ा हादसा हुआ था। बस में अधिकतर यात्री बूंदी से वनपाल भर्ती की परीक्षा देकर आ रहे अभ्यर्थी थे। इस दौरान आधा दर्जन अभ्यर्थी काल का ग्रास बन गए थे। जबकि दर्जनों अभ्यर्थी व यात्री घायल हो गए थे। टै्रक्टर-ट्रॉली पलटे जाने के बाद रोडवेज बस पलटने का हादसा गुरुवार को एक बार फिर ताजा हो गया।

Kamlesh Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned