कोरोना का बढ़ता प्रकोप-: प्रशासन ने क्वॉरंटीन सेन्टर की तैयारियां की शुरू

जिले में भी कोरोना पॉजिटिव की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है। गंभीर अवस्था वाले कोरोना संक्रमितों को इलाज के लिए को प्राथमिक उपचार के बाद जयपुर के लिए रैफर किया जा रहा है। ऐसे में जिला प्रशासन ने अब संक्रमितों के लिए शहर में क्वॉरंटीन सेन्टर को चिह्नित कर उनकी साफ सफाई कर आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी है।

By: pawan sharma

Published: 16 Apr 2021, 09:07 PM IST

टोंक. जिले में भी कोरोना पॉजिटिव की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है। गंभीर अवस्था वाले कोरोना संक्रमितों को इलाज के लिए को प्राथमिक उपचार के बाद जयपुर के लिए रैफर किया जा रहा है। लगातार बढ़ रहे पॉजिटिव के कारण टोंक सआदत अस्पताल में बनाए 50 बेड के आइसोलोशन वार्ड में लगातार 25 से 30 भर्ती मरीजों की संख्या आ रही है।

ऐसे में जिला प्रशासन ने अब संक्रमितों के लिए शहर में क्वॉरंटीन सेन्टर को चिह्नित कर उनकी साफ सफाई कर आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी है। इसी को लेकर उपखण्ड अधिकारी नित्या के सहित नगर परिषद के आयुक्त धर्मपाल जाट ने शुक्रवार को शहर के मेंहदी बाग स्थित पटवार हॉस्टल, सिविल लाइन स्थित पटवार ट्रेनिंग सेन्टर व बहीर स्थित अल-अमीन मदरसा को क्वॉरंटीन सेन्टर बनाने के लिए निरीक्षण कर वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान एसडीएम नेे सभी की साफ सफाई करने सहित आवश्यक सामानों का प्रबंध करने के लिए नगर परिषद आयुक्त चौधरी को निदेश दिए है।

आवश्यक दिशा निर्देश दिए
मालपुरा. उपखण्ड मुख्यालय पर शुक्रवार शाम जिला कलक्टर व पुलिस अधीक्षक ने चिकित्सा विभाग की ओर से बनाए गए क्वॉरंटीन सेन्टर का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा कर उपखण्ड अधिकारी एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जिला कलक्टर चिनमय गोपाल व पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश केन्द्रीय भेड़ एवं ऊन अनुसंधान संस्थान अविकानगर के विश्राम गृह में अधिकारियो की आवश्यक बैठक ली। कलक्टर ने अधिकारियो के साथ राजकीय छात्रावासों का निरीक्षण कर संभावित रूप सेक्वॉरंटीन सेन्टर बनाने पर की जाने वाली तैयारियों के संबंध में निर्देश प्रदान दिए।

सार्वजनिक आयोजन पर लगाई रोक
देवली. उपखण्ड प्रशासन ने राज्य सरकार की कोरोना गाइडलाइन की पालना में ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में सार्वजनिक आयोजन पर रोक लगा दी है। उपखण्ड अधिकारी भारत भूषण गोयल ने शुक्रवार को आदेश जारी कर किसी भी आयोजन की सूचना पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए है।

उपखण्ड अधिकारी ने बताया राज्य सरकार के निर्देशानुसार ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में सभी प्रकार के सार्वजनिक, राजनैतिक, खेलखूद, मनोरंजन, सांस्कृतिक एवं धार्मिक समारोह,जुलूस, त्योहारों की अनुमति नहीं होगी। साथ ही शादी - विवाह में 50 व्यक्तियों की संख्या से ज्यादा एकत्र होने पर कोविड गाइडलाइन के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। विवाह समारोह की सूचना कार्यालय में देना सुनिश्चित करें।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned