आखिर कब मिलेगी राहत

मरीजों के परिजनों की सुविधा के लिए चालीस लाख की लागत से निर्मित धर्मशाला संचालन करने वाले के अभाव

By: मुकेश शर्मा

Published: 06 Apr 2016, 11:46 PM IST

मालपुरा।मरीजों के परिजनों की सुविधा के लिए चालीस लाख की लागत से निर्मित धर्मशाला संचालन करने वाले के अभाव में बंद पड़ी है। इससे मरीजों के परिजनों को अस्पताल के बरामदों व खुले परिसर में रात गुजारनी पड़ रही है। सरकारी अस्पतालों में उपचार के लिए आने वाले रोगियों के परिजनों को रात्रि विश्राम सहित सस्ता  व शुद्ध भोजन उपलब्ध्ड्डा कराने के उद्देश्य से धर्मशालाओं का निर्माण कराया गया था। इसी योजना के तहत मालपुरा के सरकारी अस्पताल में लगभग चालीस लाख रुपए की लागत से अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त धर्मशाला का निर्माण कराया गया। कार्यकारी एजेंसी की ओर से धर्मशाला का कार्य पूर्ण कर मालपुरा अस्पताल प्रभारी को भवन सौंपकर नोड्यूज ले लिया गया।
इसके बाद 18  नवम्बर 2015 को सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया, विधायक कन्हैयालाल चौधरी ने धर्मशाला का विधिवत तरीके से उद्घाटन भी कर दिया।

ठेकेदारों ने रुचि नहीं दिखाई

धर्मशाला संचालन के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय से 15 दिसम्बर 2015 को सार्वजनिक निविदा प्रकाशित की गई, लेकिन उक्त ठेके की अवधि महज तीन माह की होने के चलते किसी ठेकेदार अथवा स्वयंसेवी संस्था ने ठेका लेने में रूचि नहीं दिखाई।

लाने पड़ रहे हैं बिस्तर

धर्मशाला का उद्घाटन होने के बावजूद संचालन शुरू होने के अभाव में परिजनों को अस्पताल के बरामदों अथवा खुले परिसर में रात गुजारनी पड़ रही है।
साथ ही नवीन अस्पताल भवन के आबादी क्षेत्र से थोड़ा दूरी पर स्थित होने के चलते अस्पताल परिसर से आधा से एक किलोमीटर की दूरी तक किसी प्रकार की कोई धर्मशाला अथवा अन्य विश्राम स्थल नहीं है।

इससे परिजनों को मुंह मांगे दामों में बाजार से बिस्तर व खाद्य सामग्री लेने को विवश होना पड़ रहा है। दूसरी ओर धर्मशाला पर ताला लटका हुआ है।

ये सुविधाएं मिलेंगी

धर्मशाला में अतिथि गृह, रसोईघर, दो बड़े हाल, लेट-बाथ का निर्माण कराया गया है। धर्मशाला के संचालन के लिए एक रसोईया, दो हैल्पर, चौकीदार, एक स्वीपर सहित धर्मशाला में 24 घण्टे रोशनी की व्यवस्था सुचारू रखने के लिए सोलर प्लांट लगाया गया। अस्पताल परिसर से धर्मशाला के बीच रैम्प का निर्माण कर रिक्त पड़ी भूमि पर उद्यान विकसित करने का कार्य तय किया गया।



निविदाएं जारी करेंगे

 टेण्डर जारी होने के बावजूद किसी ठेकेदार की ओर से आवेदन नहीं करने से पूर्व की निविदाएं निरस्त कर दी गई है। नवीन सत्र में धर्मशाला संचालन के लिए जल्द निविदाएं जारी करने के लिए उच्चाधिकारियों को पत्र प्रेषित किया जाएगा। डॉ. अर्जुन दास,  प्रभारी, अस्पताल, मालपुरा
मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned