खेतों के बाद शहर में टिड्डी दल से शहरवासियों ने हलचल

टिड्डी दल शनिवार दोपहर खेतों के बाद शहर में भी आ गया। इससे शहरवासियों ने हलचल हो गई। पेड़-पौधों को बचाने के लिए शहरभर में चोर-गुल हो गया। लोग थाली, चम्मच, कटोरी आदि बर्तन बजाकर उन्हें उड़ाते रहे।

By: MOHAN LAL KUMAWAT

Published: 14 Jun 2020, 11:35 AM IST

टोंक. टिड्डी दल शनिवार दोपहर खेतों के बाद शहर में भी आ गया। इससे शहरवासियों ने हलचल हो गई। पेड़-पौधों को बचाने के लिए शहरभर में चोर-गुल हो गया। लोग थाली, चम्मच, कटोरी आदि बर्तन बजाकर उन्हें उड़ाते रहे।
अचानक लाखों की तादाद में आए टिड्डियों से लोग अचम्भित हो गए।

बनास नदी की ओर से शहर में समूह के रूप में आया टिड्डी दल ने काफी देर आकाश में मंडराता रहा। शहर के समीप खेतों में लोग जमा हो गए। शहर में आने पर लोगों ने उन्हें आवाज से उड़ाया। हालांकि शहर में किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ। यह टिड्डी दल टोंक से उनियारा की ओर चला गया।


पीपलू(रा.क.). उपखंड क्षेत्र में लगातार रूक-रूक कर टिड्डी दल का हमला जारी हैं। शनिवार को फिर पीपलू क्षेत्र के झिराना, बोरखंडीकलां, हरिपुरा, अनवरनगर, लोहरवाड़ा, संदेड़ा, पीपलू सहित विभिन्न गांवों में टिड्डियों के दल ने हमला बोला हैं।

क्षेत्र में पिछले एक सप्ताह में यह चौथी बाल टिड्डी दल का हमला हुआ हैं। ग्रामीणों ने ढोल, थाली, पीपे आदि ध्वनि यंत्र बजाकर टिड्डी दल को आगे बढऩे पर मजबूर किया। कृषि विभाग पर्यवेक्षक रामराय चौधरी, रामअवतार गुजर्र, मोहनलाल बैरवा, दीपक चौधरी आदि ने क्षेत्र के किसानों को टिड्डी दल की दस्तक की पूर्व सूचना देते हुए अपने खेतों में पहुंचकर इनको भगाने के लिए जागरूक किया।

टिड्डी दल का रूख कब किस और हो जाए इसका पता ही नहीं चलता। कुरेड़ा के ग्रामीणों ने बताया कि लाखों की संख्या में टिड्डियां खेतों में पहुंच गई थीं, जिन्हें थाली, पीपे, ढोल आदि ध्वनि यंत्रों को बजाकर भगाया। करीब दो किमी तथा 5 किमी चौड़ाई तक टिड्डियां ही दिखाई दे रही थीं।

इससे थोड़ी देर के लिए गांव में अंधेरा सा छा गया था। टिड्डियों का झुंड हरे चारे पर टूट पड़ा। थोड़ी देर में ही चारे को चटकर गया। हालांकि जागरुकता के चलते ज्यादा देर तक दलों को रूकने नहीं दिया गया, लेकिन थोड़ी-थोड़े ठहराव में ही टिड्डी दल ने खेतों में रजके की फसल तथा हरे पेड़ों को पूरी तरह से चट कर डाला।


बनेठा. क्षेत्र की रुपवास, ककोड़ ,शिव राजपुरा, गोठडा ग्राम पंचायत क्षेत्र से गुजरता हुआ टिड्डी दल बोसरिया कचरावता गांव होकर गुजर गया। जानकारी अनुसार दोपहर बाद टिड्डियों का दल टोंक की तरफ से घास रूपवास होता हुआ ककोड़ गांव के उपर से गुजरा। किसानों व ग्रामीण परात, थालियां बजा कर इन्हें भगाया।

MOHAN LAL KUMAWAT
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned