video: जल स्तर गिरने से हवा फेक हैण्डपम्प, शहर के करीब ढाई दर्जन हैण्डम्पों से पानी आना बंद

हैण्डपम्पों का जल स्तर नीचे चले जाने से काफी देर तक चलाने के बावजूद पानी नहीं आता।

 

By: pawan sharma

Published: 10 Apr 2019, 08:38 AM IST

देवली. क्षेत्र में गत वर्ष हुई अपर्याप्त बारिश की वजह से इस वर्ष लोगों को जल संकट का सामना करना पड़ रहा है। स्थिति यह है कि बारिश नहीं होने से भूमिगत जल स्तर काफी नीचे चला गया। ऐसे में शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र के हैण्डपम्प बेकार साबित होने लगे। वहीं आमजन को जल संकट से गुजरना पड़ रहा है।

 

जलदाय विभाग के अनुसार भूमिगत जल स्तर गिरने से शहर के करीब ढाई दर्जन हैण्डम्पों से पानी आना बंद हो गया। इन हैण्डपम्पों का जल स्तर नीचे चले जाने से काफी देर तक चलाने के बावजूद पानी नहीं आता। कर्मचारियों ने बताया कि इन हैण्डपम्पों की जानकारी मिलने पर अतिरिक्त पाइप डालकर इन्हें चालू किया जा रहा है।

 

भूमिगत जल स्तर इतना गिर गया कि औसतन हर हैण्डपम्प में दो से तीन पाइप डालने पड़ रहे है। वहीं इनमें कई हैण्डपम्प ऐसे है, जिनमे पाइप डालने के कुछ दिन बाद पुन: पानी खत्म हो गया। जलदाय विभाग ने अब तक करीब साढ़े तीन दर्जन हैण्डपम्पों में पाइप डाले है।

 

पीएचईडी के अभियंताओं का कहना है कि नगर पालिका की सरकारी बोरिंग के समीप लगे हैण्डपम्प ज्यादा सूखे है। इसके पीछे बोरिंग के पानी का कॉलोनीवासियों की ओर से दिनभर दोहन करना है।

 

इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्र में करीब ढाई सौ से अधिक हैण्डपम्प जल स्तर गिरने से सूखे पड़े है। इनमें विभाग की ओर से अतिरिक्त पाइप डालकर चालू कराया जा रहा है।


जलस्तर गिरने से टूट रहा पानी- बीते वर्ष पर्याप्त बारिश नहीं होने से भूमिगत जलस्तर चार्ज नहीं हुआ। इसकी वजह से हैण्डपम्प व बोरिंग में पानी आना बंद हो रहा है। अतिरिक्त पाइप डालकर बंद हैण्डपम्पों को चालू किया जा रहा है।
पूरणमल बैरवा, कनिष्ठ अभियंता, जलदाय विभाग, देवली।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned