जिले में 9141 लोगों का किया होम आइसोलेट, 39 नमूने नेगेटिव,10 की रिपोर्ट बाकी

अब तक जिले के सभी 39 नमूनों के परिणाम नेगेटिव आए है। यह 39 सेम्पल जिला सआदत अस्पताल में लिए गए थे। सोमवार को जो 4 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे, उनका परिणाम भी नेगेटिव आया है।

By: pawan sharma

Updated: 01 Apr 2020, 10:36 AM IST

टोंक. अब तक जिले के सभी 39 नमूनों के परिणाम नेगेटिव आए है। यह 39 सेम्पल जिला सआदत अस्पताल में लिए गए थे। सोमवार को जो 4 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे, उनका परिणाम भी नेगेटिव आया है। मंगलवार को 10 नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अशोक कुमार यादव ने बताया कि वर्तमान में टोंक जिले में कोविड-19 रोग के बचाव रोकथाम व नियंत्रण के लिए घर-घर सर्वे एवं स्क्रीनिंग की जा रही है। अब तक टोंक जिले में 2 लाख 15 हजार 6 20 घरों में चिकित्सा विभाग की आरआरटी टीम ने सर्वे कर 9 लाख 6 7 हजार 422 लोगों की स्क्रीनिंग की है। इनमें से विदेशों से आए, अन्य राज्यों व जिलों से आए विशेष कर भीलवाड़ा से आए 9 हजार 141 लोगों को होम क्वारेन्टाइम पर रखा गया है।

सर्वे टीम को बांटे मास्क एवं सेनेटाइजर
टोंक. शहर में कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए जिला प्रशासन के निर्देशानुसार चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, महिला बाल विकास विभाग तथा शिक्षा विभाग के तत्वावधान में डोर-टू-डोर सर्वे शुरू किया गया है। इसके तहत चिकित्सा विभाग के कार्मिक, अध्यापक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं आशा सहयोगिनी की ओर से घर-घर जाकर के सर्वे किया जा रहा है।

सर्वे करने वाले दल को सुरक्षा के दृष्टिकोण से संक्रमण से बचने के लिए जिला प्रशासन की ओर से मेडिकेटिड सेनेटाइजर दिया गया है तथा वेदांता फाउंडेशन की ओर से महिला बाल विकास विभाग के एसएसजी से कपड़े के मास्क बनवा करके वितरित किए गए हैं। सभी टीमों को सोशल डिस्टेंसिंग का संदेश देने के भी निर्देश प्रदान किए गए हैं। सर्वे करते समय वह भी सोशल डिस्टेंस के प्रोटोकॉल की पालना करे।

कोई भी व्यक्ति क्षेत्र नहीं छोड़ेगा
टोडारायसिंह. कोरोना वायरस के बीच जिला कलक्टर के निर्देश पर उपखण्ड प्रशासन ने लॉक डाउन पर सख्ती कर दी है। इसके तहत क्षेत्र से कोई भी व्यक्ति अब बाहर नहीं जा पाएगा। उपखण्ड अधिकारी डॉ. सूरजसिंह नेगी ने बताया कि उच्च अधिकारियों के निर्देश पर अब क्षेत्र व बाहर के व्यक्तियो के पलायन पर रोक लगा दी है।

इधर, अनुमति पत्र पर रोक लगने के बाद सोमवार को भी आधा दर्जन महिलाए व युवक एसडीएम कार्यालय पहुंच गए, जिन्हें अनुमति पत्र जारी नहीं हो पाया। एसडीएम ने मजदूरों को रोक के बीच सबंधित गांव में ही रहने की सलाह देते हुए एक पखवाड़े की खाद्य सामग्री वितरित की।

Corona virus
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned