न्यायालय परिसर में वकीलों ने मासूम के गुनाहगार के साथ मारपीट का प्रयास

अलीगढ़ थाना क्षेत्र के एक गांव में ६ साल की मासूम के साथ बलात्कार व हत्या करने वाले आरोपी के साथ मंगलवार दोपहर न्यायालय में पेश करने के दौरान अधिवक्ताओं तथा लोगों ने मारपीट की कोशिश की।

By: MOHAN LAL KUMAWAT

Published: 03 Dec 2019, 04:15 PM IST

टोंक. जिले के अलीगढ़ थाना क्षेत्र के एक गांव में ६ साल की मासूम के साथ बलात्कार व हत्या करने वाले आरोपी के साथ मंगलवार दोपहर न्यायालय में पेश करने के दौरान अधिवक्ताओं तथा लोगों ने मारपीट की कोशिश की। पुलिस ने धक्का-मुक्की के बीच कड़ी सुरक्षा घेरे में आरोपी को विशेष न्यायालय पॉक्सो कोर्ट में पेश किया।

मासूम का बलात्कार व हत्या करने वाला आरोपी महेन्द्र उर्फ धोल्या पुत्र मोतीलाल मीणा है। पुलिस ने उसे सोमवार दोपहर जंगलों से गिरफ्तार किया। आरोपी वह ट्रक चालक है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपिन शर्माने बताया कि आरोपी महेन्द्र मीणा को ६ दिसम्बर तक पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया है।


घेरा बंदी में लाया गया आरोपी
आरोपी को पेश करने से पहले करीब २० जवान न्यायालय परिसर में तैनात कर दिए गए। पुलिस अधिकारी भी मौके पर आ गए। पुलिस वाहन में करीब २५ जवानों के बीच आरोपी को उतारा गया। उसे कड़ी घेराबंदी में लाया गया, लेकिन मौके पर मौजूद अधिवक्ताओं तथा लोगों में इतना घुसा था कि वे पुलिस के घेर के समीप पहुंच गए।

उन्होंने आरोपी के साथ मारपीट की कोशिश की। लोगों को दूर करने के लिए पुलिस को भी धक्का-मुक्की करनी पड़ी। बाद में उसे न्यायालय में पेश किया। इस दौरान बाहर खड़े अधिवक्ताओं तथा लोगों ने आरोपी को फांसी की सजा दिलाने की मांग की। वहीं काफी देर तक पुलिस को भी लोगों की नाराजगी झेलनी पड़ी।

कोर्टसे वापस ले जाने के दौरान पुलिस को घेरा डालना पड़ा। करीब ८० जवान तैनात किए गए। गुस्साए लोगों से बचाने के लिए पुलिस को मानव शृंखला बनानी पड़ी। इस मानव शृंखला के बीच आरोपी को कोर्ट से वाहन तक पहुंचा और तत्काल रवाना कर दिया। इधर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी से अभी और भी पूछताछ की जानी है। इसके लिए रिमाण्ड पर लिया गया है।

गौरतलब है कि शनिवार को स्कूल गई बालिका का कोई अपहरण कर ले गया था। शाम तक जब मासूम स्कूल नहीं पहुंची तो परिजनों ने काफी तलाश की, लेकिन वह नहीं मिली। रविवार सुबह उसका शव गांव के समीप जंगल में मिला था।

आरोपी हैवान ने उसके साथ बलात्कार किया और बैल्ट से गला घोंट कर हत्या कर दी। इसके बाद पुलिस ने कई लोगों से पूछताछ की थी। मृतका मासूम कक्षा एक की छात्रा थी। बाद में पुलिस ने उनियारा सर्कल के ५ थानों की पुलिस टीमें बनाकर आरोपी महेन्द्र मीणा को सोमवार को गिरफ्तार किया था।


इधर, जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष चन्द्रप्रकाश श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपी के पक्ष में कोईभी वकील पैरवी नहीं करेगा। सभी अधिवक्ता पीडि़त पक्ष की ओर से केस लड़ेंगे। पुलिस के मुताबिक सालभर से आरोपी महेन्द्र मीणा की पत्नी से नहीं बनती थी। वह पत्नी से अलग रहता था।

शनिवार को नशे में धुत्त आरोपी स्कूल के आस-पास ही भटक रहा था। दोपहर करीब १२ बजे उसने टॉपी खिलाने के बहाने से मासूम को बुलाया और अपहरण कर जंगल में ले गया। जहां आरोपी ने नशे में बलात्कार किया। जब उसे लगा कि मासूम ग्रामीणों को सारी बात बता देगी तो उसने मासूम की स्कूल यूनिफॉर्म में लगे बैल्ट से गला घोंट दिया।


मामले की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक आदर्श सिधू ने आरोपी को तलाशने के लिए उनियारा, अलीगढ़, बनेठा, नगरफोर्ट व सोप थानों की टीमें बनाई थी। सभी प्रकार की तकनीक का इस्तेमाल कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया।


जनता के हवाले कर दो
मासूम के साथ हुए संगीन मामले को लेकर जिलेभर के लोगों में नाराजगी है। कोर्टपरिसर में जमा लोगों ने कहा कि आरोपी को जनता को सौंप देना चाहिए। पुलिस की प्रक्रिया लम्बी होने के चलते आरोपी को सजा मिलेगी, लेकिन समय अधिक लग जाएगा। ऐसे संगीन आरोपी को जनता के बीच सौंप देना चाहिए।


महिलाएं बोली हमें सौंप दो
कोर्टपरिसर में जहां लोगों में गुस्सा था, वहीं महिलाएं भी आरोपी को सजा देने के लिए आईथी। महिलाओं का कहना था कि आरोपी को उनके हवाले कर दिया जाए। वे आरोपी को पीट-पीट कर मौत की सजा देंगी। महिला अधिवक्ता कुसुम गुप्ता ने कहा कि आरोपी को कम से कम फांसी की सजा होनी चाहिए।

पुलिस को चाहिए कि आरोपी के खिलाफ न्यायालय में चालान जल्द पेश किया जाए। ताकि आरोपी को सजा मिल सके। वहीं उन्होंने कहा कि हम कोशिश करेंगे कि कोर्टभी आरोपी को सख्त सजा दे। अधिवक्ता शिवानी ने कहा कि आरोपी को जो सजा मिले वो अपराधियों में सबक वाली हो। कोर्टजो भी सजा दे वो ऐसी हैजो अपराध जगत में मिसाल पेश कर सके। आरोपी को फांसी से कम सजा नहीं मिलनी चाहिए।

MOHAN LAL KUMAWAT
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned