बघेरे ने तीन बकरियों का किया शिकार

बहड़ गांव में गुरुवार रात बघेरे ने एक बाड़े में घुसकर तीन बकरियों का शिकार कर मार दिया, जिससे ग्रामीणों में भय व्याप्त हो गया। ग्रामीणों ने बताया कि गांव बहड़ में बघेरे ने बाड़े में बंधी दो बकरियों का शिकार कर मार दिया, और एक बकरी को उठाकर ले गया।

By: pawan sharma

Published: 03 Jul 2021, 08:08 AM IST

निवाई. बहड़ गांव में गुरुवार रात बघेरे ने एक बाड़े में घुसकर तीन बकरियों का शिकार कर मार दिया, जिससे ग्रामीणों में भय व्याप्त हो गया। सरपंच बृजमोहन, गिर्राज देगड़ा, मोहम्मद इस्लाम, दीपक बैरवा, रामधन माली, रामचरण, बुद्धिप्रकाश, मीरा देवी, कैलाशी देवी सहित कई ग्रामीणों ने बताया कि गांव बहड़ में बघेरे ने रामचंद्र बैरवा के बाड़े में बंधी दो बकरियों का शिकार मार दिया, और एक बकरी को उठाकर ले गया।

गांव बघेरे द्वारा किए गए शिकार की सूचना रात में ही वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों को दे दी गई, लेकिन मौके पर कोई नहीं पहुंचा, जिससे ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त हो गया। ग्रामीणों ने बताया कि करीब एक माह से गांव बहड़ में बघेरा लगातार शिकार कर रहा है, जिसकी सूचना वन विभाग को दी गई थी, जिस पर वन विभाग ने पहाडिय़ों में पिंजरा रखकर खानापूर्ति कर दी।

उन्होंने बताया कि गुरुवार रात को बघेरे को कई ग्रामीणों ने देखा और दूर से बघेरे का वीडिओ बनाकर वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों को भेजा, फिर भी मौके कोई नहीं आया। बघेरा वापस जंगल की ओर निकल गया। शुक्रवार सुबह वनपाल रामनारायण मीणा वन कर्मियों के साथ गांव बहड़ पहुंचा जहां घटना स्थल से बघेरे के पद चिह्न देखें।

मीणा ने सिरस से पशु चिकित्सक को बुलवाकर मृत बकरियों का पोस्टमार्टम करवाया और मुआवजे के लिए पंचनामा बनाया।इस ग्रामीणों ने वनपाल से बघेरे को ट्रंकुलाइज कर जंगल में छोडऩे की मांग। वनपाल रामनारायण मीणा का कहना है कि बघेरे के आने जाने पद चिन्ह से यह ज्ञात होता है कि सवाईमाधोपुर क्षेत्र से बघेरा आया और तीन बकरियों का शिकार किया। मीणा ने बताया कि 21 जून को ग्रामीणों ने बघेरे आने की शिकायत की थी, जिस पर मौके पहुंच देखा तो बघेरा दिखाई दिया था जिस पर रेंजर को लिखित में बघेरा होने की सूचना दी थी।

मजदूरी लेने गए पिता-पुत्र पर जानलेवा हमला, आरोपी फरार
देवली. नगर पालिका क्षेत्र बस स्टैंड में संचालित इंदिरा रसोई पर मजदूरी करने रुपए मांगने पर जानलेवा हमला करने का मामला सामने आया हैै। थाने के सहायक उप निरीक्षक राजेन्द्र सिंह ने बताया कि सरसिया थाना जहाजपुर हाल पटेल नगर देवली निवासी शांति पत्नी घनश्याम मीणा ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है, जिसमें आरोप लगाया गया कि वह अपने पति घनश्याम के साथ नगर पालिका क्षेत्र में संचालित इंदिरा रसोई में परिवार सहित मजदूरी का कार्य करते है और शहर के पटेलनगर में किराए के मकान में रहते है।

गुरुवार रात्रि को परिवार सहित इंदिरा रसोई में काम के पैसे लेने गए थे। मौके पर शराब के नशे में ठेकेदार मिला, जिससे मजदूरी का पैसा नहीं दिया। जब वह वापस पैदल लौटकर मकान पर जा रहे थे।इस बीच नगर पालिका के समीप आरोपी मुरली पुत्र बाबूलाल माली निवासी महादेवाली टोंक ने शराब के नशे में पहले तो रास्ता रोका।

बाद में उसके पति घनश्याम एवं पुत्र अभिषेक पर शराब की बोतल से प्रहार किया,जिससे दोनों पिता-पुत्र के चोट लगने पर खून बहने से घायल हो गए। बाद में राहगीरों ने दोनों को उपचार के लिए राजकीय चिकित्सालय में भर्ती करवाया, जिसमें घनश्याम के गंभीर चोट लगी है।पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned