scriptBathing will take place on Kartik Purnima in Laghu Pushkar Mandkala | साधु संतों की पहली पसंद लघु पुष्कर मांडकला, कार्तिक पूर्णिमा पर लाखों श्रद्धालु लगाएंगे आस्था की डुबकी | Patrika News

साधु संतों की पहली पसंद लघु पुष्कर मांडकला, कार्तिक पूर्णिमा पर लाखों श्रद्धालु लगाएंगे आस्था की डुबकी

locationटोंकPublished: Nov 18, 2023 07:23:26 pm

Submitted by:

pawan sharma

जिलेभर व अन्य जिलों से श्रद्धालु कार्तिक पूर्णिमा पर पवित्र स्नान करने बड़ी संख्या में आएंगे। नागरचाल के इस प्रसिद्ध मेले में ग्रामीण घरेलू सामान सर्दी के कपड़े, मनिहारी सहित अन्य आवश्यक सामानों किसान कृषि संबंधी सामानों की खरीदारी करते हैं।

 

साधु संतों की पहली पसंद लघु पुष्कर मांडकला, कार्तिक पूर्णिमा पर लाखों श्रद्धालु लगाएंगे आस्था की डुबकी
साधु संतों की पहली पसंद लघु पुष्कर मांडकला, कार्तिक पूर्णिमा पर लाखों श्रद्धालु लगाएंगे आस्था की डुबकी
नगरफोर्ट तहसील मुख्यालय पर स्थित लघु पुष्कर मंडाकला सरोवर में कार्तिक पूर्णिमा पर लाखों श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाएंगे साथ ही कार्तिक पूर्णिमा से 15 दिवसीय मेले का भी आयोजन होगा। मेले में जिला ही नहीं, बल्कि पड़ोसी राज्य के पशुपालक व व्यापारी यहां व्यापार के लिए आते हैं। तहसील मुख्यालय नगरफोर्ट स्थित आस्था और श्रद्धा के केंद्र एवं मांडव ऋषि की तपोभूमि में लघु पुष्कर मांडकला में वर्षों से कार्तिक पूर्णिमा से विशाल व्यापारी व पशु मेला का आयोजन होता आ रहा है।
पूर्णिमा पर पवित्र स्नान के लिए आएंगे

जिलेभर व अन्य जिलों से श्रद्धालु कार्तिक पूर्णिमा पर पवित्र स्नान करने बड़ी संख्या में आएंगे। नागरचाल के इस प्रसिद्ध मेले में ग्रामीण घरेलू सामान सर्दी के कपड़े, मनिहारी सहित अन्य आवश्यक सामानों किसान कृषि संबंधी सामानों की खरीदारी करते हैं। ग्राम पंचायत प्रशासन ने भी लघु पुष्कर मांडकला पशु मेले के आयोजन को लेकर तैयारियां शुरू कर दी है।
सरोवर के तट पर सभी समाज के हैं मंदिर

लघु पुष्कर मंडल सरोवर के तट पर सभी समाजों के करीब दो दर्जन मंदिर स्थित है जिसमें सबसे प्रसिद्ध है धाकड़ समाज का भगवान धरणीधर मंदिर, माली समाज का कल्याण धनी मंदिर, गुर्जर समाज का देवनारायण भगवान मंदिर, मीणा समाज का मंडलेश्वर महादेव मंदिर, जाट समाज का बालाजी मंदिर सहित सभी समाजों के मंदिर है ।
मांडव ऋषि ने बगरू टापू पर की थी तपस्या
लघु पुष्कर मांडकला सरोवर के मध्य में स्थित बगरू टापू पर बैठकर प्राचीन काल में मांडव ऋषि ने तपस्या की थी, आज भी यह स्थान सरोवर के मध्य स्थित है। यहां हनुमान जी का प्राचीन मंदिर स्थित है। वर्तमान में यहां बाबा रामदासजी महाराज करीब 51 साल से तपस्या कर रहे हैं। लघु पुष्कर मांडकला सरोवर प्राचीन काल से ही साधु संतो की पहली पसंद रहा है । यहां पर प्राचीन काल में कई साधु संतों ने तपस्या की थी, जिनके अवशेष आज भी यहां देखने को मिलते हैं। वर्तमान में सरोवर के तट पर स्थित रामकृष्ण आश्रम में महामंडलेश्वर मोनी बाबा अमर दास जी महाराज निवास करते हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो