सावन के महीने में पानी को तरसा बीसलपुर बांध, अगस्त के महीने पर टिकी है उम्मीद

सावन का महीना खत्म होने को है और जिले में बरसात नाम मात्र की हुई है। प्रदेश के बड़े बांधों में शामिल बीसलपुर में इस साल नाम मात्र की आवक भी नहीं हुई है।

 

By: pawan sharma

Updated: 01 Aug 2020, 03:23 PM IST

टोंक. सावन के महीने में टोंक जिला बरसात के लिए तरस रहा है। सावन का महीना खत्म होने को है और जिले में बरसात नाम मात्र की हुई है। प्रदेश के बड़े बांधों में शामिल बीसलपुर में इस साल नाम मात्र की आवक भी नहीं हुई है।
जबकि ३१ जुलाई २०१९ तक बीसलपुर बांध में १.२५३ टीएमसी पानी की आवक हो चुकी थी, लेकिन इस साल सावन सूखा ही जा रहा है।

गत वर्ष बांध का गेज इन दिनों ३०६.८८ था। वहीं अगस्त के महीने में हुई आवक के चलते बांध लबालब होकर गेट खोलने पड़े थे। इसके चलते इस साल बांध में काफी पानी है। वर्तमान में बांध का गेज ३१२.६२ आरएल मीटर है। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि गत वर्ष की तरह इस साल भी बांध में पानी की आवक होगी और वह पूर्ण रूप से भर जाएगा।

बांध क्षेत्र में ३३ एमएम बारिश दर्ज

राजमहल. बीसलपुर बांध सहित आस पास के क्षेत्र में गुरुवार शाम व शुक्रवार अलसुबह तक जारी बारिश के कारण एक सेमी पानी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। बांध के बाढ़ नियंत्रण कक्ष के मुताबिक बांध का गेज गुरुवार सुबह ६ बजे ३१२.६१ आरएल मीटर दर्ज किया गया था जिसमें कुल जलभराव २०.५७९ टीएमसी था।

जो शुक्रवार सुबह तक ३१२.६२ आरएल मीटर पर पहुंच गया है। जिसमें २०.६२७ टीएमसी पानी का भराव हो गया है। कनिष्ठ अभियंता कमलेश मीणा ने बताया कि बांध में से रोजाना एक से लेकर डेढ़ सेमी तक पानी रोजाना जलापूर्ति व वाष्पिकरण के साथ ही अन्य में कार्यों में भी खर्च हो रहा है। उसके बाद भी बीते २४ घंटों के दौरान एक सेमी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। बीते २४ घंटों के दौरान कुल ३३ एमएम बारिश दर्ज की गई। सीजन की अब तक कुल २१९ मीमी बारिश दर्ज की जा चुकी है। जो गत वर्ष की अपेक्षा काफी कम है। अब तक कैचमेंट एरिया से जलभराव में पानी की आवक नगण्य रही है।

पानी की आवक हुई

उनियारा. कस्बे सहित उपखण्ड क्षेत्र में इन दिनों हो रही बरसात के चलते बांधोंं में पानी की आवक शुरू हो गई। गत 15 जून से शुरू हुए मौसम के दौरान अब तक उपखण्ड क्षेत्र में अच्छी बरसात नहीं होने से जलसंसाधन विभाग के सभी बांध सूखे पड़े थे। जिससे क्षेत्र के किसानों को भविष्य की चिन्ता सताने लग गई थी।

पिछले 2 दिन से बरसात से बांधों में पानी की आवक शुरू हो गई है। जलसंसाधन विभाग के बाढ़ नियंत्रण कक्ष प्रभारी एवं कनिष्ठ अभियंता रविना मीणा ने बताया कि शुक्रवार को सुबह साढ़े 8 बजे समाप्त हुए पिछले 24 घंटे के दौरान गलवा बांध पर11, गलवानिया पर 13 तथा ठिकरिया बांध पर 7 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई। जबकि सूखे पड़े गलवानिया बांध में 1.9 फुट, ठिकरिया बांध मेंं 10 तथा कुम्हारिया बांध में 35 सेन्टीमीटर पानी की आवक हुई है। क्षेत्र के अन्य छोटे बड़े तालाबों एवं बांधों में भी पानी आने के समाचार प्राप्त हुए है।

शहर हुआ तरबतर

निवाई. मूसलाधार बारिश से गुरुवार शाम शहर तरबतर हो गया। शहर की सडक़ें पानी में डूब गई, जिससे बाजारों में कुछ दुकानों में पानी भर गया। गुरुवार शाम अचानक आकाश में काले बादल छाए गए और थोड़ी ही देर में हवाओं के साथ मूसलाधार बारिश शुरू हो गई, जिससे तेज उमस से लोगों ने राहत की सांस ली। मूसलाधार बारिश से पटेल रोड पर खड़ी कार व मोटरसाइकिल रिक्शा पानी के तेज बहाव में बह गए।

और बारिश का पानी जयपुर-टोंक पर वेयरहाउस पुलिया के ऊपर से एक फीट पानी बहने लगा। जिसे देखने वालों भीड़ उमड़ पड़ी। इसी तरह पहाड़ के पीछे बौरंगी में तेज बहते झरना को देखने के लिए तथा झरना के नीचे बैठकर नहाने का लुफ्त उठाया। महिलाएं भी परिवार सहित बौरंगी में घर से विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाकर ले गई।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned