क्रॉस वोट के बावजूद उप जिला प्रमुख पद पर भी भाजपा का कब्जा

आदेश कंवर चुनी गई उप जिला प्रमुख
भाजपा को 13 व कांग्रेस प्रत्याशी को मिले 12 मत
जिला प्रमुख चुनाव में भी हुई थी भाजपा से क्रॉस वोटिंग
टोंक. जिला परिषद में रिक्त चल रहे उप जिला प्रमुख पद के लिए चुनाव बुधवार को हुए। इसमें क्रॉस वोटिंग के बावजूद भाजपा प्रत्याशी आदेश कंवर ने एक वोट से जीत दर्ज की।

 

By: jalaluddin khan

Updated: 03 Mar 2021, 08:47 PM IST

क्रॉस वोट के बावजूद उप जिला प्रमुख पद पर भी भाजपा का कब्जा
आदेश कंवर चुनी गई उप जिला प्रमुख
भाजपा को 13 व कांग्रेस प्रत्याशी को मिले 12 मत
जिला प्रमुख चुनाव में भी हुई थी भाजपा से क्रॉस वोटिंग
टोंक. जिला परिषद में रिक्त चल रहे उप जिला प्रमुख पद के लिए चुनाव बुधवार को हुए। इसमें क्रॉस वोटिंग के बावजूद भाजपा प्रत्याशी आदेश कंवर ने एक वोट से जीत दर्ज की।

निर्वाचन विभाग के मुताबिक जिला परिषद के 25 वार्ड है। इसमें भाजपा प्रत्याशी आदेश कंवर को 13 तथा कांग्रेस प्रत्याशी रूपकला शर्मा को 12 मत मिले। निर्वाचन और मतगणना के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी गौरव अग्रवाल ने विजेता उप जिला प्रमुख आदेश कंवर को निर्वाचन प्रमाण पत्र सौंपा।

चुनाव के तहत सुबह 10 बैठक शुरू हुई। इसके बाद सुबह 11 बजे तक नामांकन हुआ। भाजपा की ओर से वार्ड 8 की सदस्य आदेश कंवर को प्रत्याशी बनाकर नामांकन पेश किया। वहीं कांग्रेस ने वार्ड एक से सदस्य रूपकला शर्मा को प्रत्याशी बनाकर नामांकन पेश किया। निर्वाचन विभाग ने नामांकन लेने के बाद नामांकन पत्रों की जांच की।

इसके साथ चुनाव चिह्न का आवंटन किया गया। दोपहर 3 बजे से मतदान शुरू हुआ। पहले कांग्रेस सदस्य एक साथ मतदान करने आए। इसके बाद भाजपा सदस्य आए। मतदान के बाद मतगणना की प्रक्रिया शुरू हुई।

इसमें भाजपा प्रत्याशी आदेश कंवर को 13 तथा कांग्रेस प्रत्याशी रूपकला शर्मा को 12 मत मिले। आदेश कंवर की जीत के बाद भाजपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने नारे लगाकर खुशी का इजहार किया।

गौरतलब है कि गत 8 दिसम्बर को हुई मतगणना में जिला परिषद की 25 सीटों में से भाजपा को 15 व कांग्रेस ने 10 सीटों पर जीत दर्ज की थी। इसके बाद गत 10 दिसम्बर को जिला प्रमुख पद पर हुए चुनाव में भाजपा को 14 मत तथा कांग्रेस प्रत्याशी को 11 वोट मिले थे। वहीं गत 11 दिसम्बर को उपजिला प्रमुख पद पर चुनाव होना था, लेकिन इसमें प्रत्याशियों की ओर से नामांकन में देरी कर दी गई।

इससे चुनाव नहीं हो पाए थे। इधर, निर्वाचन विभाग की ओर चुनाव में चाक-चौबंद व्यवस्था की गई थी। नामांकन प्रक्रिया से लेकर मतगणना के बाद तक पुलिस बल तैनात किया गया था। जिला परिषद परिसर में बेरीकेडिंग की गई।


जिला प्रमुख चुनाव में भी हुई थी क्रॉस वोटिंग
जिला परिषद के 25 वार्डों में हुए चुनाव में भाजपा ने 15 तथा कांग्रेस ने सीट जीती थी, लेकिन गत 10 दिसम्बर को जिला प्रमुख के हुए चुनाव में भाजपा प्रत्याशी को क्रॉस वोट का सामना करना पड़ा और कांग्रेस को एक वोट अधिक मिला था।

इसी प्रकार उप जिला प्रमुख पद के लिए चुनाव में भी भाजपा प्रत्याशी को क्रॉस वोटिंग का सामना करना पड़ा है। उप जिला प्रमुख पद के लिए हुए चुनाव में भाजपा को 13 और कांग्रेस को 12 मत मिले। जबकि जिला परिषद की 15 सीटों में से भाजपा ने 15 तथा कांग्रेस ने 10 पर ही जीत दर्ज की थी। दोबारा से हुए क्रॉस वोटिंग को लेकर जिलेभर में चर्चा का विषय रहा।

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned