मुख्य चुनाव आयुक्त ने किया मतदान केन्द्रों का निरीक्षण, कलक्टर को नहीं पहचान पाया बीएलओ

मुख्य चुनाव आयुक्त ने किया मतदान केन्द्रों का निरीक्षण, कलक्टर को नहीं पहचान पाया बीएलओ

 

By: pawan sharma

Published: 29 Nov 2020, 05:53 PM IST

दूनी. जयपुर से कोटा जा रहे राज्य मुख्य चुनाव आयुक्त प्रवीण कुमार गुप्ता ने जिला कलक्टर गौरव अग्रवाल सहित अधिकारियों की टीम के साथ रविवार टोंक एवं देवली-उनियारा विधानसभा के भरनी, जूनिया एवं दूनी के चार मतदान केन्द्रों का निरीक्षण कर निर्वाचन विभाग की ओर से चलाए एक दिवसीय विशेष संक्षिप्त पुनर्रीक्षण कार्यक्रम का अवलोकन किया।

मुख्य चुनाव आयुक्त गुप्ता सुबह भरनी स्थित रा. उ. मा. विद्यालय पहुंचे इसके बाद जूनिया के रा. उ. मा. विद्यालय, दूनी के रा. उ. मा. विद्यालय एवं राजीव गांधी सेवा केन्द्र स्थित मतदान केन्द्रों का निरीक्षण कर वहा पर मतदानकर्मियों एवं मतदाताओं के लिए बिजली, पानी सहित अन्य मुलभूत सुविधाओं का जायजा लिया। इसके बाद उन्होंने निर्वाचन विभाग की ओर से प्रत्येक मतदान केन्द्र पर चलाए एक दिवसीय विशेष संक्षिप्त पुनर्रीक्षण कार्यक्रम का अवलोकन कर सम्बंधित बीएलओ की ओर से जोड़े एवं काटे जा रहे मतदाताओं के नाम की कार्रवाई देखकर विशेष योग्यजनों के नाम जोडऩे एवं काटने की प्रक्रिया जानकर उनकी सुविधाओं को ध्यान में रखने की नसीहत दी।

इसके बाद मुख्य चुनाव आयुक्त गुप्ता बूंदी के लिए रवाना हो गए। इस मौके पर दूनी तहसीलदार विनिता स्वामी, नायब तहसीलदार नीलमराज, भू-अभिलेख निरीक्षक राधेश्याम मीणा, जूनिया सरपंच संतरा मीणा, दूनी ग्राम विकास अधिकारी बनवारीलाल बैरवा सहित अधिकारी-कर्मचारी एवं बीएलओ मौजूद थे।बगले झांकने लगा बीएलओदूनी के रा. उ. मा. विद्यालय स्थित मतदान केन्द्र के निरीक्षण के दौरान मुख्य चुनाव आयुक्त गुप्ता ने मौजूद बीएलओ अर्जुन लाल एवं श्योपाल गुर्जर से विशेष संक्षिप्त पुनर्रीक्षण कार्यक्रम के तहत किए मतदाताओं के नाम जोडऩे एवं काटने की जानकारी लेकर विशेष योग्यजनों के उनकी सुविधा के अनुसार कार्य करने के निर्देश दिए।

इसके बाद चुनाव आयुक्त गुप्ता ने बीएलओ अर्जुन लाल से यहां मौजूद अधिकारियों में से जिला कलक्टर कौन है। जिला कलक्टर से अनभिज्ञ बीएलओ बगले झांकने लगा। इस दौरान मौजूद सरपंच रामअवतार बलाई सहित अधिकारियों ने कलक्टर की ओर इशारा किया तो वहां मौजूद चुनाव आयुक्त, कलक्टर सहित अधिकारी अपनी हंसी नहीं रोक पाए। बाद में चुनाव आयुक्त गुप्ता ने सभी अधिकारियों को विशेष संक्षिप्त पुनर्रीक्षण कार्यक्रम में अधिक से अधिक 1 जनवरी 2021 को 18 वर्ष की उम्र के होने वाले व अन्य नए नामों को जोडऩे के निर्देश दिए।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned