दलहन बेचना टेढ़ी खीर साबित हो रहा किसानों के लिए , बारदाने के अभाव में नही हो पा रही तुलाई

दलहन बेचना टेढ़ी खीर साबित हो रहा किसानों के लिए , बारदाने के अभाव में नही हो पा रही तुलाई

pawan sharma | Publish: Dec, 08 2017 01:44:36 PM (IST) Gulzar Bagh, Tonk, Rajasthan, India

बारदाने के अभाव में दलहन नहीं तुल पा रही। ऐसे में दलहन लेकर मण्डी पहुंचे किसानों को निराश लौटना पड़ रहा है।

 

टोंक. समर्थन मूल्य पर दलहन बेचना किसानों के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। किसानों का कहना है कि पहले मैसेज नहीं मिलने से दुखी थे, अब बारदाने के अभाव में दलहन नहीं तुल पा रही। ऐसे में दलहन लेकर मण्डी पहुंचे किसानों को निराश लौटना पड़ रहा है।

 

 

 

उल्लेखनीय है कि राजफेड की ओर से कृषि मण्डी परिसर में क्रय-विक्रय सहकारी समिति के माध्यम से समर्थन मूल्य पर दलहन खरीद की जा रही है। इसको लेकर किसानों के मोबाइल पर पंजीयन अनुसार मैसेज आ रहे है। इसके बाद ही प्रतिदिन करीब 22 किसान दलहन लेकर समर्थन मूल्य के कांटे पर पहुंच रहे हैं।

 

 

बारदाने के अभाव में किसानों की दलहन आदि की तुलाई नहीं हो सकी। बिचपुड़ी गांव से आए मदन यादव, श्योजीलाल, पालड़ी निवासी मुकेश चौपड़ा, देवडूंगरी से आए छोटूलाल, मदन आदि का कहना है कि सुबह से ट्रैक्टर-ट्रॉली को खड़ा कर मण्डी बैठे हैं।

 

 

 

इसके बावजूद बारदाने के अभाव में जिंस नहीं तोली जा रही।किसान पंचायत छात्र प्रदेशाध्यक्ष रामेश्वर चौधरी ने बताया कि जल्द बारदाना नहीं मंगवाया तो आन्दोलन किया जाएगा। इधर, खरीद केन्द्र प्रभारी रामसिंह का कहना है कि बारदाने की मांग की गई है, जल्द ही उपलब्ध होगा।

 


निवाई में की खरीद बंद
निवाई. किसान क्रय-विक्रय सहकारी समिति की ओर से बारदाने के अभाव में सर्मथन मूल्य पर खरीद को स्थगित कर दिया गया। समिति के प्रबन्धक रामेश्वर प्रसाद चौधरी एवं कनिष्ठ लिपिक कुलदीप चौधरी ने बताया कि सर्मथन मूल्य पर उड़द एवं मूंग की खरीद बारदानें नहीं आने से खरीद बंद कर दी है। उन्होंने बताया कि बारदाने आने के बाद ही खरीद चालू की जाएगी।

 

सदस्यों ने हिस्सा लिया

बंथली. रा. उ. मा. विद्यालय भरनी में सामुदायिक गतिशीलता पर आधारित तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में गुरुवार को दर्जनों सदस्यों ने प्रशिक्षण लिया। बाबूलाल मीणा ने बताया कि भरनी के अधीन आने वाले करीब14 विद्यालयों से जुड़े सदस्यों ने हिस्सा लिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned